हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

बर्थ कंट्रोल से जुड़ी हैं ये 7 सामान्‍य गलतियां

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 11, 2015
बर्थ कंट्रोल अपनाने के बावजूद कई जोड़े बहुत से जोड़े अनियोजित प्रेग्नेंसी से परेशान होते हैं। ऐसा बर्थ कंट्रोल के बारे में होने वाली सामान्‍य गलतियों के कारण होता है। हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही कुछ बर्थ कंट्रोल से संबंधित गलतियां जो अक्‍सर जोड़े करते हैं।
  • 1

    बर्थ कंट्रोल से जुड़ी गलतियां

    हालांकि परिवार नियोजन के लिए बर्थ कंट्रोल का बहुत महत्व होता है। लेकिन बर्थ कंट्रोल अपनाने के बावजूद कई जोड़े बहुत से जोड़े अनियोजित प्रेग्नेंसी से परेशान होते हैं। ऐसा बर्थ कंट्रोल के बारे में होने वाली सामान्‍य गलतियों के कारण होता है। इसलिए पूरी तरह बर्थ कंट्रोल के भरोसे न रहें। और आपको इस बारे में भी जागरूक होना चाहिए कि कौन सा बर्थ कंट्रोल का तरीका कितना कारगर है। हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही कुछ बर्थ कंट्रोल से संबंधित गलतियां जो अक्‍सर जोड़े करते हैं।
    Image Source : Getty

    बर्थ कंट्रोल से जुड़ी गलतियां
  • 2

    दवाओं का बर्थ कंट्रोल पर असर

    कई बार किसी दवा के सेवन से भी बर्थ कंट्रोल के उपाय कमजोर हो जाते हैं। जैसे रिफाम्पिन नामक दवाई जो टीबी के इलाज के लिए ली जाती है, यह एंटी-बैक्‍टीरियल दवा गर्भनिरोधक गोलियों के हार्मोंनल प्रभाव (गर्भनिरोध प्रभाव), पैच और वर्जिनल रिंग को कमजोर कर देती है। इसलिए इन दवाओं के सेवन के दौरान अपने डॉक्टर से सलाह लें कि कौनसा उपाय आपके लिए सही है। इसके अलावा यीस्ट इन्फेक्‍शन और एचआईवी की दवाइयां के सेवन से भी भी बर्थ कंट्रोल का प्रभाव कम हो जाता है।
    Image Source : Getty

    दवाओं का बर्थ कंट्रोल पर असर
  • 3

    आसान उपाय अपनाना

    अक्‍सर आप बर्थ कंट्रोल के ऐसे उपाय अपनाते हैं जो सबसे आसान होते हैं। कई बार तो आपको याद ही नहीं रहता कि आपने गोली कब ली थी। इसलिए आसान की बजाय आपको अन्‍य तरीकों पर भी विचार करना चाहिए। आप बर्थ कंट्रोल के लिए वेजाइनल रिंग, स्पंज, पैच, डायफ्रॉम और मिश्रित सूई का इस्तेमाल कर सकते हैं।
    Image Source : Getty

    आसान उपाय अपनाना
  • 4

    लुब्रीकेंट के लिए तेल या वैसलीन का इस्तेमाल

    क्‍या आप जानते हैं कि लुब्रीकेशन के लिए तेल या वैसलीन से कंडोम का लेटेक्‍स कमजोर हो जाता है। और इस गलती के कारण आप आसानी से प्रेग्‍नेंट हो सकती है। इसलिए इस बात को हमेशा ध्‍यान में रखें। और सिलिकॉन वाले लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करें जो केमिस्‍ट शॉप में आपको आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं।
    Image Source : Getty

    लुब्रीकेंट के लिए तेल या वैसलीन का इस्तेमाल
  • 5

    स्तनपान संबंधी गलत धारणा

    अक्‍सर जोड़ा का मानना है कि स्‍तनपान के दौरान गर्भधारण नहीं होता। और इन दिनों आप पूरी तरह सुरक्षित होते हैं। लेकिन बहुत से पति पत्नी को बच्चे के स्तनपान के दिनों में दूसरी प्रेग्नेंसी का सामना करना पड़ता है। क्‍योंकि स्‍तनपान के दौरान शरीर में जो हॉर्मोंस बनते हैं, उनके कारण ऑव्यूलेशन कुछ टाइम के लिए बंद हो जाता है। लेकिन यह बात हर महिला पर समान रूप से लागू नहीं होती। इसलिये सेक्स करने से बर्थ कंट्रोल के अच्‍छे उपायों का इस्‍तेमाल जरूर करें।
    Image Source : Getty

    स्तनपान संबंधी गलत धारणा
  • 6

    समय पर बर्थ कंट्रोल पिल न लेना

    समय पर गोली न लेने से भी आपको अनचाही प्रेग्‍नेंसी का सामना करना पड़ सकता है। यह गलती अक्‍सर तब होती है जब आपको पता ही नहीं होता कि गोली कब और कैसे लेनी है। लेकिन अगर पूरे पैक में से यदि आपने एक या दो गोली नहीं ली तो भी यह असरकारक नहीं होती हैं। ये हार्मोन टेबलेट हैं जिन्हें रोजाना एक ही समय पर लेना बहुत जरूरी होता है। इसलिए इस बारे में अपने डॉक्‍टर से जरूर सलाह लें।
    Image Source : Getty

    समय पर बर्थ कंट्रोल पिल न लेना
  • 7

    तुरंत नहाने से गर्भधारण नहीं होता

    सेक्‍स के फौरन बाद खड़े हो जाने, यूरीन करने या नहाने से गर्भ नहीं ठहरता। लेकिन ऐसा बिल्‍कुल भी नहीं है क्‍योंकि सेक्‍स के बाद यूरिनेशन या शावर लेने का शुक्राणु द्वारा अंडे को फर्टिलाइजेशन से कोई संबंध नहीं है। एग फर्टिलाइजेशन के लिए केवल एक शुक्राणु की जरूरत होती है। इंटरकोर्स के दौरान कभी भी एग फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया शुरू हो सकती है। नहाने या यूरीन से शुक्राणु को बाहर नहीं किया जा सकता।
    Image Source : Getty

    तुरंत नहाने से गर्भधारण नहीं होता
  • 8

    सुरक्षित दिनों में सेक्‍स करना

    अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सुरक्षित दिन सबसे कारगर तरीका हो सकता है। लेकिन पूरी तरह नहीं। यह तभी कारगर है जब आप सही तकनीक इस्तेमाल करें। ऐसा भी हो सकता है कि ओव्यूलेशन उस दिन नहीं हो जब आप सोचती हैं, यह खासतौर पर उनके साथ होता है जिनमें ओव्यूलेशन की समस्या रहती है। इसलिए आप ओव्‍यूलेशन के दौरान यौन संबंध बनाने से बचें। ओव्‍यूलेशन का समय मासिक धर्म शुरू होने के 7वें से 16वें दिन तक होता है।
    Image Source : Getty

    सुरक्षित दिनों में सेक्‍स करना
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर