हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत फायदेमंद है चपाती

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 17, 2015
पौष्टिक तत्‍वों से भरपूर रोटी साबुत अनाज का बेहतर विकल्‍प है, इसका प्रयोग भारतीय व्‍यंजनों में नियमित रूप से किया जाता है, इसलिए रोज खायी जाने वाली रोटी के पौष्टिग गुणों और फायदों के बारे में जानना है जरूरी।
  • 1

    सेहत के लिए फायदेमंद चपाती

    साबुत अनाज के बेहतर विकल्‍पों में एक है चपाती, इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है, जो न केवल पचने में आसान है बल्कि दूसरे खाने को पचाने में भी मदद करता है। गेहूं के अलावा, कुट्टू, बाजरे, मक्‍के आदि की चपाती बनती है। इनके सेवन से शरीर में ब्‍लड ग्‍लूकोज का स्‍तर नहीं बढ़ता है और इंसुलिन सही तरीके से काम करता है। चपाती के सेवन से दिल का दौरा, मस्तिष्क आघात, कैंसर, डायबिटीज के साथ बहुत सी बीमारियों के खतरे कम होते हैं। इसके अलावा भी चपाती के कई फायदे हैं।
    Image Source - Getty Images

    सेहत के लिए फायदेमंद चपाती
  • 2

    साबुत अनाज से बनाई जाती है

    यदि आप रोटी को गेहूं से तैयार करेंगी तो यह अधिक स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक होगी। साबुत अनाज में फाइबर और पोषण होता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट, घुलनशील फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है जो कि शरीर को ताकत देते हैं और खून का सर्कुलेशन भी बढ़ाते हैं।
    Image Source - Getty Images

    साबुत अनाज से बनाई जाती है
  • 3

    पचाने में आसान

    रोज के खाने में शामिल होने वाली रोटी को यदि साबुत अनाज से बनाया जाता है, तो इसे खाने से पेट तो भर ही जाता है बल्कि यह आसानी से पच भी जाती है। रोटियां वजन घटाने में भी सहायक होती है। रेशे से भरपूर गेंहू पाचन तंत्र को सुदृढ़ बनाते हैं।
    Image Source - Getty Images

    पचाने में आसान
  • 4

    कब्‍ज दूर करे

    साबुत अनाज में फाइबर पाया जाता है जिसे खाने से कब्‍ज जैसी पेट की बीमारियां दूर होती हैं। बाजरे के आटे की बनी रोटी रोजाना खाने से डीहाइड्रेशन भी हो सकता है इसलिए हमेशा गेहूं की ही रोटी खाएं। बाहर के खाने से उत्पन्न होने वाले ऐसिड्स को भी रोटी बेअसर कर देती है और साथ ही ये ऊर्जा के स्तर को भी बढ़ा देती हैं।
    Image Source - Getty Images

    कब्‍ज दूर करे
  • 5

    ताजी होती है

    हम रोटी बनाने से तुरंत पहले ही आंटा गूंथते हैं इसलिये वह हमेशा फ्रेश रहती है और शरीर के लिये हेल्‍दी भी। इसके आटे में ना कोई रसायन मिला होता है और ना ही यह कैलोरी से भरा होता है। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ता है। यह शरीर में बनने वाले विषैले तत्वों को बेअसर कर, रक्त को शुद्ध करता है।
    Image Source - Getty Images

    ताजी होती है
  • 6

    लो कैलोरी फूड

    जब तक आप रोटी पर घी नहीं लगाते तब तक इसकी कैलोरी नहीं बढ़ेगी। साथ ही, यह तली भी नहीं जाती इसलिये इसमें कम फैट होता है। रोटी को बिना घी के खाइये। गेहूं में मौजूद तत्व शरीर से अतिरिक्त वसा का भी शोषण कर लेते हैं।
    Image Source - Getty Images

    लो कैलोरी फूड
  • 7

    गेहूं में भरपूर पोषण

    इस साबुत अनाज में विटामिन (B1, B2, B3, B6, B9), आयरन, कैल्‍शियम, फास्‍फोरस, मैगनीशियम, पोटैशियम आदि होता है इसलिये इसे अपनी डाइट में शामिल करें। अनाज भारतीय भोजन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं; ये हमें ऊर्जा, प्रोटीन, लौह व अन्य बहुत से पोषक तत्व देते हैं।  
    Image Source - Getty Images

    गेहूं में भरपूर पोषण
  • 8

    कैंसर और दिल का खतरा कम

    इसमें पाया जाने वाला विटामिन ई, घुलनशील फाइबर और सेलीनियम होता है जो कि शरीर में कैंसर होने का चांस कम करता है। आयुर्वेद के अनुसार, रोटी, वात और पित्त दोष को भी दूर करता है। जो लोग दिल की बीमारी से पीड़ित हैं, वे अगर गेहूं की रोटी खाएं तो उनका दिल मजबूत बनेगा।
    Image Source - Getty Images

    कैंसर और दिल का खतरा कम
Load More
X