हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

पुरुषों को बेडरूम में जाने से पहले सताती हैं ये चिंतायें

By:pradeep Singh, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 13, 2014
अपने सेक्‍स जीवन को लेकर पुरुष कई तरह की दुविधाओं का सामना करते हैं। उन्‍हें तमाम तरह की चिंतायें और परेशानियां घेरे रखती हैं। क्‍या होती हैं वे परेशानियां और कैसे किया जा सकता है उनका सामना, जानने के लिए पढ़ें-
  • 1

    पुरूषों की सामान्‍य चिंतायें

    अपने सेक्‍स जीवन को लेकर पुरुष कई तरह की दुविधाओं का सामना करते हैं। उन्‍हें तमाम तरह की चिंतायें और परेशानियां घेरे रखती हैं। क्‍या होती हैं वे परेशानियां और कैसे किया जा सकता है उनका सामना, जानने के लिए पढ़ें-

    पुरूषों की सामान्‍य चिंतायें
  • 2

    क्‍या मैं संतुष्‍ट कर पाऊंगा

    यह डर और‍ चिंता पुरुषों को सबसे अधिक परेशान करती है। वे इस बात को लेकर काफी संशय में रहते हैं। दरअसल, पुरुष इसे अपने आत्‍म-सम्‍मान से जोड़कर देखते हैं। उन्‍हें इस बात की फिक्र हमेशा लगी रहती है कि कहीं वे अपने साथी को संतुष्‍ट करने में चूक तो नहीं गए।

    क्‍या मैं संतुष्‍ट कर पाऊंगा
  • 3

    क्‍या हस्‍तमैथुन का पड़ा है असर

    पुरुषों को इस बात का डर सताता रहता है कि कहीं हस्‍तमैथुन ने उन्‍हें नपुंसक तो नहीं बना दिया। हालांकि, अभी तक ऐसा कोई वैज्ञानिक आधार सामने नहीं आया है, जिसमें हस्‍तमैथुन का पौरुषत्‍व पर असर पड़ने की बात कही गयी हो। हस्‍तमैथुन पर आपकी सेहत पर क्‍या असर पड़ते हैं, यह अलग बहस का विषय हो सकता है, लेकिन ऐसा संभव नहीं है कि इससे आपकी प्रजनन क्षमता समाप्‍त हो गयी हो।

    क्‍या हस्‍तमैथुन का पड़ा है असर
  • 4

    कण्‍डोम खरीदना है मुश्किल

    हां, हो सकता है कि आपके लिए यह काम थोड़ा मुश्किल हो। लेकिन, ऐसा करना सुर‍क्षा के लिहाज से जरूरी है। और ऐसा किया भी जाना भी चाहिए। आपकी जरा ही हिचक आपको कई बीमारियां दे सकती है। जिसमें एड्स जैसी जानलेवा बीमारी भी शामिल है। अगर आप यह सोचेंगे, तो आपके लिए यह काम आसान हो जाएगा। याद रखिए ऐसा करके आप स्‍वयं को और अपने साथी को कई खतरनाक बीमारियों से बचा सकेंगे।

    कण्‍डोम खरीदना है मुश्किल
  • 5

    वो अंतरंगता के लिए तैयार मैं नहीं

    आमतौर पर पुरुषों के संदर्भ में यही कहा जाता है कि वे सेक्‍स के लिए हमेशा तैयार रहते हैं, लेकिन हर बार यह सच नहीं होता। कई बार पुरुष भी सेक्‍स को लेकर दबाव में रहते हैं। जब वे इसके लिए तैयार नहीं होते, तो उन्‍हें दबाव महसूस होता है। अगर आप किसी भी कारण से संभोग के लिए तैयार नहीं हैं, तो अपने साथी को साफ-साफ बता दें। अगर आपको इस बात का डर है कि आपका साथी आपको ठुकरा देगा, तो ऐसा मत सोचिए। बल्कि वह आपकी ईमानदारी की तारीफ करेगा और इस बात का इंतजार भी करेगा कि आप कब इसके लिए तैयार होते हैं।

    वो अंतरंगता के लिए तैयार मैं नहीं
  • 6

    मैं तैयार हूं पर वो नहीं

    अगर आपकी साथी सेक्‍स को लेकर किसी प्रकार के दबाव में है या किसी कारण से वो तैयार नहीं है, तो ऐसा न तो आपको संतुष्‍ट करेगा न ही आपकी साथी को। तो, बेहतर रहेगा कि आपको समय दें और उसकी जरूरतों को समझें और उसके तैयार होने का इंतजार करें। याद रखिए इंतजार का फल मीठा होता है।

    मैं तैयार हूं पर वो नहीं
  • 7

    साइज को लेकर भ्रम

    अक्‍सर पुरुष लिंग के आकार को लेकर भ्रम में रहते हैं। उन्‍हें लगता है कि यदि लिंग का आकार छोटा है तो वे अपने साथी को पूर्ण रूप से संतुष्‍ट नहीं कर पाएंगे। जबकि यह बात पूरी तरह मिथ है। आपको अपने साथी को खुश करने की कला आनी चाहिए और इसके लिए आकार मायने नहीं रखता। महिला की योनि का बाहृय हिस्‍सा सबसे अधिक संवेदनशील होता है इसलिए अगर आपका 'आकार' छोटा भी है, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

    साइज को लेकर भ्रम
  • 8

    क्‍या मासिक धर्म के दौरान सेक्‍स सुरक्षित है

    जब तक आप दोनों मासिक धर्म के दौरान सेक्‍स करने में संतुष्‍ट हैं, तब तक ऐसा न करने की कोई वजह नहीं है। हां, यह थोड़ा अरुचिकर हो सकता है, लेकिन आपकी निजी पसंद पर निर्भर करता है। हां इस बात का ध्‍यान रखें कि इस दौरान आप पूरी सुर‍क्षा बरतें, ताकि आपको किसी प्रकार का संक्रमण न हो।

    क्‍या मासिक धर्म के दौरान सेक्‍स सुरक्षित है
  • 9

    क्‍या मैं उसे कह पाऊंगा

    क्‍या आपकी महिला साथी ऑर्गेज्‍म न होने पर भी उसके होने का झूठा अहसास कराती है। इस बात की संभावना बहुत कम है कि आप इस सच्‍चाई को जान पाएं। हालांकि, यह जानने कि उसे ऑर्गेज्‍म हुआ अथवा नहीं, आपका ध्‍यान इस बात पर होना चाहिए कि इसका संभोग का पूरा आनंद उठाये। उससे बात करें कि उसे क्‍या अच्‍छा लगता है और आप उसे क्‍लाइमेक्‍स तक पहुंचाने में कैसे मदद कर सकते हैं। जब तक आप उसे आनंद पहुंचा रहे हैं, तब तक आपको असल और नकल ऑर्गेज्‍म के बारे में विचार करने की जरूरत नहीं है।

    क्‍या मैं उसे कह पाऊंगा
  • 10

    समय पर चूक न जाऊं

    नाकामयाबी के बारे में सोचना ही आपको नकारात्‍मक बना देता है। शांतचित और आराम से रहें और प्‍यार के उन पलों का पूरा आनंद उठायें। अपने परफॉरमेंस के बारे में न सोचें। इसके साथ ही सेक्‍स से पहले अधिक शराब न पियें क्‍योंकि इससे आपको काफी नुकसान हो सकता है।

    समय पर चूक न जाऊं
    Tags:
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर