हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

गर्भनिरोधक गोलियों के दुष्‍प्रभाव से बचकर रहें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 02, 2014
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल सबसे आम उपाय है। लेकिन एक ताजा शोध से पता चला है कि इन गोलियों के इस्तेमाल के नुकसान भी हैं।
  • 1

    गर्भानिरोधक गोलियों के साइड इफेक्‍ट

    गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल अनचाहे गर्भ से बचने का सबसे आम उपाय है। लेकिन एक ताजा शोध से पता चला है कि इन गोलियों के इस्तेमाल के नुकसान भी हैं। इसके इस्‍तेमाल से मासिक धर्म अनियमित हो जाता है। कई बार तो इसके इस्तेमाल से अप्रत्याशित रूप से ब्लीडिंग भी होने लगती है। आइए हम आपको गर्भनिरोधक गोलियों के कुछ ऐसे दुष्‍प्रभावों के बारे में बताते हैं, जो आपके लिए तकलीफदेह हो सकते है।  image courtesy : getty images

    गर्भानिरोधक गोलियों के साइड इफेक्‍ट
  • 2

    उल्‍टी और चक्‍कर आना

    गर्भनिरोधक गोली का सबसे बुरा साइड इफेक्‍ट यह है कि इसको लेने से उल्‍टी या चक्‍कर आना शुरू हो जाता है। और कई महिलाओं को इसके साथ-साथ बहुत ज्‍यादा कमजोरी का भी एहसास होता है। image courtesy : getty images

    उल्‍टी और चक्‍कर आना
  • 3

    ब्लड प्रेशर का बढ़ना

    गर्भनिरोधक गोलियों में एस्ट्रोजन वास्तव में एस्ट्रोजन एथिनील-एस्ट्राडिओल के रूप में होता है। और इसके कुछ खास किस्म के साइड इफेक्ट होते हैं। यह ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है, रक्त के गाढ़ेपन और बहने की क्षमता को बदल सकता है। जिससे आपको आधे सिर में दर्द रहता है।  image courtesy : getty images

    ब्लड प्रेशर का बढ़ना
  • 4

    ओव्‍यूलेशन साइकिल का बिगड़ना

    गर्भावस्‍था को रोकने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का काम ओव्‍यूलेशन और निषेचन होने से रोकना है। गर्भनिरोधक गो‍लियां इस काम तो आती है, लेकिन इसका इस्‍तेमाल करने से कुछ ही महीनों में यह ओव्‍यूलेशन साइकिल को बिगाड़ देती है।  image courtesy : getty images

    ओव्‍यूलेशन साइकिल का बिगड़ना
  • 5

    पीरियड्स में दर्द

    गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने के दूसरे महीने के बाद कई महिलाओं को हेवी ब्‍लीडिंग त‍था भारी दर्द का समाना भी करता पड़ता है। इसमें ओव्‍यूलेशन गड़बड़ हो जाता है और यह प्रजनन प्रणाली पर भी प्रभाव डालता है।  image courtesy : getty images

    पीरियड्स में दर्द
  • 6

    सिर में दर्द

    अगर आप गर्भनिरोधक गोलियों लेती है तो कभी भी इसे लंगे समय तक न लें। एस्ट्रोजन वाली गर्भनिरोधक गोली लेने के बाद अक्‍सर महिलाएं शिकायत करती है कि उन्‍हें हर समय थोड़ा–थोड़ा सिर में दर्द रहता है और जल्‍दी ही वह थक जाती है।  image courtesy : getty images

    सिर में दर्द
  • 7

    चयापचय क्रिया पर असर

    गर्भनिरोधक की हर गोली में गेस्टाजन ग्रुप के भी हार्मोन होते हैं। इस ग्रुप के हार्मोनों से भी कुछ महिलाओं को परेशानियां होती हैं। इससे शरीर की चयापचय क्रिया पर प्रभाव पड़ता है, मासिकधर्म अनियमित हो जाते है और त्वचा का रंग बदलने लगता है।  image courtesy : getty images

    चयापचय क्रिया पर असर
  • 8

    खून के थक्‍कों का जमना

    उन महिलाओं में गर्भनिरोधक गोलियां लेने के कारण खून के थक्के जमने या ब्लड क्लोटिंग होने की आशंका बढ़ जाती है, जो मोटापे की शिकार हैं, उम्र बहुत ज्यादा है या घर के सदस्यों को ब्लड क्लोटिंग की समस्या रह चुकी है।  image courtesy : getty images

    खून के थक्‍कों का जमना
  • 9

    बढ़ सकता है मोटापा

    अगर आप किसी भी तरह के शारीरिक गतिविधि किये बिना गर्भनिरोधक गोलियां लेती हैं तो आपका मोटापा बढ़ने की संभावना बहुत अधिक रहती है। इन गोलियों में मौजूद प्रोजेस्टेरॉन और एस्ट्रोजन के साइड इफेक्ट से महिलाओं के शरीर में पानी की मात्रा बढ जाती है। इससे उनकी कमर, जांघों और हिप के आस-पास मोटापा सबसे ज्यादा असर दिखाई देता है।  image courtesy : getty images

    बढ़ सकता है मोटापा
  • 10

    अंडकोष पर असर

    कोपेनहोगन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, गर्भनिरोधक गोलियों का लंबे समय तक सेवन महिलाओं के प्रजनन तंत्र को समय से पहले बूढ़ा बना देता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन से महिलाओं की बायोलॉजिकल क्लॉक प्रभावित होती है और 30 साल से कम उम्र की महिलाएं की फर्टिलिटी को नुकसान पहुंच सकता है। शोधकर्ताओं ने शोध में पाया कि 30 साल से कम उम्र की जो महिलाएं गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन अधिक करती हैं उनकी अंडकोष उम्रदराज महिलाओं की तरह होने लगते हैं।  image courtesy : getty images

    अंडकोष पर असर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर