हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन तरीकों से अपने बच्‍चे का हौसला बढ़ायें

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 08, 2016
एक्जाम या प्रतियोगिता के दबाव में आपका बच्चा सामान्य रहेगा या परेशान हो जाएगा, इसका फैसला काफी हद आपके व्यवहार पर निर्भर करता है। अपने बच्चे के हारजीत में हमेशा उसके साथ खड़े होकर हौसलाफजाई करे।
  • 1

    सकारात्मक एटीट्यूड

    जब भी आपके बच्चे के सामने करो या मरो की सिचुएशन हो तो उसके आत्मविश्वास को बढ़ाये। उसको बतायें ये मौका उसे कुछ सीखाने के लिए मिला। इसमे होने वाली जीत व हार दोनो ही उसकी जिंदगी के जरूरी सबक है। उसे बस अपना अच्छा प्रदर्शन देना है, ये भूलकर कि इसका क्या नतीजा आएगा। उसके साथ सकारात्मक एटीट्यूड के साथ डील करे। उसमे उस परिस्थिति में खुश रहने की सीख दें।
    Image Source-Getty

    सकारात्मक एटीट्यूड
  • 2

    दूसरा मौका

    हार अक्सर हताशा दे जाती है, इससे पहले कि आपके बच्चे में ऐसी कोई भावना घर कर जाए, उसे बताए कि जिंदगी में दूसरा मौका भी मिलता है। कई बार असफल होने वाले लोग भी अपनी जिंदगी मे कुछ ऐसा कर जाते है कि इतिहास में भी उनका नाम दर्ज हो जाता है। बच्चों के लिए पैरेंट्स से मिला मोटिवेशन बहुत जरूरी होता है। अगर पेरेट्स अपने बच्चे को हार के सबक भी सिखला दे, तो हार कर भी आपका बच्चा जीत जाएगा।
    Image Source-Getty

    दूसरा मौका
  • 3

    लिखकर निकाले डर

    आपकी बेटी का सिंगिंग ऑडिशन हो या बेटे का फाइनल फुटबॉल मैच किसी भी तरह का प्रेशर उनके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकता है। हो सकता है आपकी बातों को अभी उसका दिमाग समझने की स्थिति में ना हो, आप अपने बच्चे को बोलें कि वो अपने सभी तरह के डर को एक पेपर पर लिख दे। जैसे जैसे वो अपनी परेशानियों को लिखेगा, धीरे धीरे हर एक को सुलझाने का तरीका वो खुद ढ़ूंढ़ लेगा ।     
    Image Source-Getty

    लिखकर निकाले डर
  • 4

    हौसला बढ़ाये

    अगर आपका बच्चा किसी गिटार के कॉम्पटीशन में पार्टीसीपेट कर रहा हो और बीच में ही गिटार के तार टूट जाए तो क्या होगा। अपने बच्चों को इस तरह की सिचुएशन के बारे में पूछकर उसे मानसिक रूप से तैयार करे। ताकि किसी भी तरह के हालात उसके प्रदर्शन को प्रभावित ना कर सके।
    Image Source-Getty

    हौसला बढ़ाये
  • 5

    सफलताएं गिनाएं

    सफलता आत्मविश्वास को बढ़ाती है। अगर आपके बच्चे में भी प्रदर्शन का दबाव हो तो उसे उसकी सफलताओं और क्षमताओं के बारें में बताय़ें। ये आपके बच्चे के आत्मविश्वास को मजबूत करेगा। जैसे ही आपका बच्चा प्रदर्शन के लिए जाने वाला हो उसे बताए कि वो ये काम पिछली बार कितने अच्छे से कर सकता है। उसे अच्छा प्रदर्न करने के लिए प्रोत्साहित करे।
    Image Source-Getty

    सफलताएं गिनाएं
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर