हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कृत्रिम दांतों के दर्द के लिए घरेलू उपचार

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 11, 2015
आप मौखिक स्‍वच्‍छता का ध्‍यान रखकर और आसान व सरल घरेलू उपायों को अपनाकर डेन्‍चर से होने वाली असुविधा का हल कर सकते हैं, आइए जानें कैसे।
  • 1

    डेन्‍चर के दर्द को दूर करें घरेलू उपाय

    डेन्‍चर को नकली दांत के रूप में जाना जाता है, जो दांत नुकसान के बाद काम आने वाला महत्‍वपूर्ण उपाय है। सहायक होने के साथ डेन्‍चर विशेष रूप से शुरुआत में दर्द और बेचैनी पैदा कर सकता है। पहली बार डेन्‍चर के उपयोग से दर्द, मसूड़ों में सूजन, मुंह में यीस्‍ट के पैच, ड्राई मॉउथ और डेन्‍चर के अंदर मसूड़ों में लाल घाव आदि समस्‍याएं हो सकती है। लगभग 50 प्रतिशत कृत्रिम दांतों का इस्‍तेमाल करने वालों को समस्‍याओं का अनुभव होता है। यह सच है कि आप डेन्‍चर को अच्‍छे से फिट नहीं कर सकते, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप दर्द और तकलीफ से पीडि़त हो। आप मौखिक स्‍वच्‍छता का ध्‍यान रखकर और आसान व सरल घरेलू उपायों को अपनाकर डेन्‍चर से होने वाली असुविधा का हल कर सकते हैं।

    डेन्‍चर के दर्द को दूर करें घरेलू उपाय
  • 2

    एलोवेरा

    एलोवेरा कृत्रिम दांतों के दर्द से छुटकारा पाने का एक अन्य प्रभावी उपाय है। एंटी-इंफ्लेमेंटरी के साथ एंटी-बैक्‍टीरिया गुणों की मौजूदगी के कारण यह जड़ी बूटी मुंह में हानिकारक बैक्‍टीरिया की रोकथाम और मसूड़ों के को कम करती है। एलोवेरा को काटकर उसका जैल निकालकर पीस लें। फिर कॉटन बॉल की मदद से दर्दनाक मसूड़ों पर इसे लगाये। 10 मिनट के बाद ठंडे पानी से कुल्‍ला कर लें।

    एलोवेरा
  • 3

    नमक

    नमक एडजस्टमेंट के दौरान डेन्‍चर का प्रयोग करने वालों के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह मसूड़ों में सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है। यह मुंह में बैक्‍टीरिया की वृद्धि को रोकता है और मुंह के घाव और ड्राई मॉउथ के जोखिम को कम करता है। डेन्‍चर को निकालकर अपने मसूड़ों पर नमक को रगड़ें फिर गर्म पानी से कुल्‍ला करें। इस उपाय को दिन में दो बार करें।

    नमक
  • 4

    लौंग

    डेन्‍चर का उपाय करने वाले जो मसूड़ों के दर्द से पीड़ित है, उनके लिए लौंग एक बहुत ही शानदार उपाय है। लौग का मुख्‍य घटक युगेनॉल, एंटी-इंफ्लेमेंटरी और एनाल्‍जेसिक गुणों से भरपूर होने के कारण दर्द को दूर करने और मुंह को कीटाणुरहित रखने में मदद करता है। समस्‍या होने पर कुछ लौंग की कली को पीसकर उसका पाउडर बना लें, इसकी आधा चम्‍मच पाउडर में कुछ बूंद ऑलिव ऑयल की मिलाकर दर्द वाले मसूड़ों पर लगाये। 5 मिनट तक रूकने के बाद गुनगुने पानी से कुल्‍ला कर लें।

    लौंग
  • 5

    हल्दी

    हल्‍दी में मौजूद दर्दनिवारक गुणों के कारण आप मसूड़ों के दर्द को दूर करने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं। हल्‍दी में पाये जाने वाले कुरकुमीन नामक तत्‍व में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुणों के कारण यह दर्द और मसूड़ों की सूजन को कम करने में मदद करता है। समस्‍या होने पर ¼ चम्‍मच हल्दी पाउडर लेकर उसमें पानी की कुछ बूंदे मिलाकर पेस्ट बना लें। फिर इस पेस्‍ट को दर्दनाक मसूड़ों पर लगाये। 5 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें, फिर कुछ देर के लिए मसूड़ों की मालिश करके गुनगुने पानी से कुल्‍ला कर लें। इस उपचार को सप्‍ताह में कम से कम दो बार जरूर करें।   
    Image Source : Getty

    हल्दी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर