हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

दिल को दुरुस्‍त रखेंगे ये कुकिंग ऑयल

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 16, 2014
यहां पर दिए गए तेल पोषक तत्‍वों से भरपूर होने के साथ आपके स्‍वस्‍थ आहार के लिए महत्‍वपूर्ण, दिल के लिए स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक और भोजन में उपयोग के लिए अविश्वसनीय रूप से आसान हैं।
  • 1

    दिल के लिए कुकिंग ऑयल

    अपने आहार में तेलों को शामिल कर, आप अपने स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार कर सकते हैं। कई तेल तो ऐसे हैं जो स्‍वस्‍थ दिल के लिए आश्चर्यजनक परिणाम प्रदान करते हैं। अकसर लोग इन तेलों के उपयोग के समय उलझन में रहते हैं क्‍योंकि वह इन तेलों के उपयोग और लाभ के बारे में जानकारी का अभाव है। यहां पर दिए गए तेल पोषक तत्‍वों से भरपूर है जो आपके स्‍वस्‍थ आहार के लिए महत्‍वपूर्ण हैं और भोजन में उपयोग के लिए अविश्वसनीय रूप से आसान हैं।  image courtesy : getty images

    दिल के लिए कुकिंग ऑयल
  • 2

    अखरोट का तेल

    अखरोट में ओमेगा- 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है। प्राचीन काल से ही अखरोट को स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। अखरोट में कई ऐसे गुण है जो दिल के लिए बहुत लाभकारी होता है। अखरोट के तेल से हृदय के विकार लगभग 50 प्रतिशत तक कम हो जाते हैं। इससे हृदय की धमनियों को नुकसान पहुंचाने वाले हानिकारक कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित रहती है। अखरोट में कैलोरी की अधिकता होने के बावजूद इसके सेवन से वजन नहीं बढ़ता और ऊर्जा स्तर बढ़ता है।  image courtesy : getty images

    अखरोट का तेल
  • 3

    सरसों का तेल

    सरसों के तेल का इस्तेमाल स्वास्थ्य को बेहतर बनाने और दिल की बीमारी के जोखिम को लगभग 70 प्रतिशत कम कर सकता है। सरसों शोध एवं संवर्धन कन्सोर्टियम (एमआरपीसी) के अनुसार सरसों का तेल दिल की बीमारी के जोखिम को कम करता है और संतुलित आवश्यक फैटी एसिड अनुपात से जीवन की गुणवत्ता बढ़ाता है। image courtesy : stylecraze.com

    सरसों का तेल
  • 4

    अलसी का तेल

    अलसी के तेल में काफी तरह के पोषक तत्वों के अलावा ओमेगा 3 और लिगनेन्स नामक एंटीऑक्सीडेंट भी मौजूद होता हैं। यह घुलनशील और अघुलनशील, दोनों तरह के फाइबर और प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। दिल को दुरुस्त रखने में अलसी का उपयोग काफी कारगर साबित होता है। अनियमित खानपान व वसा युक्त खाने से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। अलसी में पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड रक्त नलिकाओं में वसा के जमाव को रोकता है। अलसी का तेल वसा रहित होता है इसलिए इसमें बना खाना दिल के रोगों से दूर रखने में मदद करता है। image courtesy : getty images

    अलसी का तेल
  • 5

    जैतून का तेल

    जैतून का तेल स्वास्थ्यवर्धक खाद्य तेल है। इस तेल के उपयोग से हृदय रोग जैसी बीमारियों से रक्षा हो सकती है। जैतून के तेल में फैटी एसिड की पर्याप्त मात्रा होती है जो हृदय रोग के खतरों को कम करता है। इसके अलावा इसमें संतृप्त वसा की मात्रा कम होती है, जिससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित बनाए रखने में मदद मिलती है। इससे हृदयाघात का खतरा काफी कम हो जाता है। जैतून के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा भी काफी होती है।  image courtesy : getty images

    जैतून का तेल
  • 6

    तिल का तेल

    तिल के तेल को काले और सफेद तिल के बीज से निकाला जाता है। इस तेल मैग्नीशियम, कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस और लेसिथिन का बहुत अच्छा स्रोत है। तिल का तेल स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। यह आपके दिल पर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित बनाये रखने में मदद करता है इसलिए तिल के तेल को हृदय रोगियों को लेने की सलाह दी जाती है। साथ ही यह उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।  image courtesy : getty images

    तिल का तेल
  • 7

    नारियल का तेल

    नारियल के तेल का सेवन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, फाइबर, विटामिन ए, बी, सी और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। ब्लड़ प्रेशर और दिल के मरीजों के लिए नारियल का तेल बहुत उपयोगी होता है क्योंकि इसमें पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है जो दिल की गतिविधियों को सुचारू रूप से कार्य करने में सहायता करती है। इसके अलावा यह कोलेस्‍टॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है जिससे दिल की बीमारियों को खतरा कम होता है। image courtesy : getty images

    नारियल का तेल
  • 8

    मूंगफली का तेल

    मूंगफली के तेल में सेचुरेटेड, मोनोसेचुरेटेड और पॉलीसेचुरेटेड फैट का संतुलित अनुपात पाया जाता है। दूसरे तेलों के मुकाबले यह तत्व दिल की बीमारियों से काफी हद तक बचाव करने में मदद करते हैं। मूंगफली के तेल में प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट्स कोलेस्ट्रॉल के स्‍तर को भी कम करने में सहायक होते हैं। यह बॉडी में एचडीएल स्‍तर को कम किए बिना बुरे कॉलेस्ट्रोल (एलडीएल) को घटाते हैं। image courtesy : getty images

    मूंगफली का तेल
  • 9

    सूरजमुखी का तेल

    सूरजमुखी का तेल का तेल विटामिन ई का भंडार है। इसमें सेचुरेटेड फैट बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। सूरजमुखी का तेल चाहे वह रिफाइंड हो या अनरिफाइंड, दोनों ही तरह से दिल के लिए फायदेमंद माना जाता हैं। इसमें सही मात्रा और सही अनुपात में मौजूद मोनो और पॉलीसेचुरेटेड फैट के कारण यह कॉलेस्ट्रोल लेवल को कम रखता है। image courtesy : getty images

    सूरजमुखी का तेल
  • 10

    कितनी मात्रा काफी है?

    जब इन तेलों को लेने की बात आती है, तो यह पता करना बहुत महत्‍वपूर्ण होता है कि इसकी कितनी मात्रा आपको लेनी है। यह दिल के साथ आपकी कैलोरी गहन के लिए भी अच्‍छी हो सकती है। उचित संयम के साथ आप बहुत अधिक कैलोरी लेने के बिना भी इन तेलों से फायदा ले सकते है। एक शोध के अनुसार, शरीर के लिए तेल की जरुरत उम्र, लिंग और शारीरिक काम करने के तरीके पर निर्भर करती है। दिन में आधा घंटा व्यायाम करने वाली 19 से 30 साल तक की महिलाओं के लिए एक दिन में 6 चम्मच तेल और इस आयुवर्ग के पुरुषों के लिए 7 चम्मच तेल काफी रहता है। 30 बरस से ऊपर की महिलाओं के लिए दिन में 5 चम्मच और पुरुषों के लिए 6 चम्मच तेल सही है।  image courtesy : squarespace.com

    कितनी मात्रा काफी है?
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर