हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

जानें सेहत के लिए कितना फायदेमंद है सौंफ का तेल

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 01, 2016
सौंफ को मसालों का राजा जो ना केवल खाने में बल्कि सौंफ का तेल भी कई प्रकार के रोगों का उपचार के लिए काम में आता है। इस बारे में विस्तार से जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़े।
  • 1

    पेट से विकार दूर करता है

    सौंफ के तेल से पेट के विकार दूर होते है। पेट से संबंधित शिकायत होने पर इसकी 2-4 बूंदे कोसे दूध में डाल कर नियमित सेवन करना चाहिए। आपके पेट सम्बंधित रोग दूर हो जायेंगे।सौंफ का तेल मिश्री में मिलाकर हर रोज तीन से चार बार सेवन करने से दस्त की समस्या खत्म हो जाएगी।अगर आपको अधिकतर बदहजमी की समस्या के कारण पेट या सीने में दर्द होता है इस तेल का जादू इस समस्या पर ज़रूर चलेगा।
    Image Source-getty

    पेट से विकार दूर करता है
  • 2

    बालों के झड़ने की समस्या

    अगर आपको बालों के झड़ने की समस्या है तो सौंफ का तेल आपके लिए फायदेमंद होता है। नारियल के तेल में इसको मिलाकर इसको लगाए। इसके बाद आप बालों को धोकर कंडीशनर कर लें। इससे बालों के झड़ने और डैंड्रफ आदि की समस्या दूर हो जाती है। इस तेल को लगाने से सिर दर्द, गर्मी व चक्कर आना शांत होता है।
    Image Source-getty

    बालों के झड़ने की समस्या
  • 3

    प्रीमच्योर मेनोपॉज की समस्या

    यह प्रीमच्योर मेनोपॉज से गुजर रही महिलाओं को भी दर्द, चक्कर और झुंझलाहट भगाकर राहत देता है।सौंफ का तेल समय पूर्व रजोनिवृत्ति या प्रीमेनोपोज़ की समस्याएं दर्द, चक्कर आना या मूड के बदलाव जैसे समस्याओं से राहत दिलाने के साथ  माहवारी के रूकने जैसे समस्याओं से जूझने वाली महिलाओं को राहत प्रदान करने में सहायता करता है।
    Image Source-getty

    प्रीमच्योर मेनोपॉज की समस्या
  • 4

    पेशाब की जलन दूर करता है

    अगर आपको पेशाब में जलन और कम आने की शिकायत हो तो सौंफ का तेल फायदेमंद होता है।सौंफ में आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम, पोटेशियम आदि अति महत्वपूर्ण तत्वों से भरपूर है। बताशे में सौंफ के तेल की दस पंद्रह बूंदे डालकर कर सेवन करने से भी पेशाब खुलकर आने लगता है।
    Image Source-getty

    पेशाब की जलन दूर करता है
  • 5

    कई बीमारियों में लाभदायक

    सौंफ का तेल सांस की बीमारियों जैसे अस्थमा, काली खांसी, ब्रोंकाइटिस, ऊपरी श्वास नलिका, आदि के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है।इसके तेल से मालिश करने से जोड़ो का दर्द और डिप्रेशन जैसी तरह-तरह की समस्याएं दूर हो जाती है।
    Image Source-getty

    कई बीमारियों में लाभदायक
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर