हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

रोजाना प्‍लैंक एक्सरसाइज करने के हैं कई फायदे

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Aug 22, 2015
प्‍लैंक एक्सरसाइज न सिर्फ एक बेहतरीन वर्कआउट है बल्कि करने में भी आसान है, इसे करने से मसल्स को मजबूती तो मिलती ही है, साथ ही इसके कई दूसरे फायदे हैं।
  • 1

    प्‍लैंक एक्सरसाइज के फायदे

    प्‍लैंक आर्म एक्‍सरसाइज पेट की मसल्स (इनर कोर मसल्स) को मजबूती देती है। ये अकेली एक्सरसाइज लगभग पूरे शरीर को मजबूत बनाती है और कमाल की शेप भी देती है। प्‍लैंक एक्सरसाइज न सिर्फ एक बेहतरीन वर्कआउट है बल्कि करने में भी आसान है। पेट की चर्बी कम करने के लिए यह वर्कआउट बहुत कारगर है। चलिये जानें प्‍लैंक आर्म एक्सरसाइज के ऐसी ही कुछ और लाभ -
    Images source : © Getty Images

    प्‍लैंक एक्सरसाइज के फायदे
  • 2

    कोर मसल्स को मजबूत बनाए

    कोर मसल्स को मजबूत बनाने में प्‍लैंक एक्सरसाइज सिट-अप्स और क्रंच एक्सरसाइज से भी अधिक कारगर होती है। इसे करते हुए कोर एरिया की लगभर सभी जरूरी मसल्स पर काम होता है और वे मजबूत बनती हैं।
    Images source : © Getty Images

    कोर मसल्स को मजबूत बनाए
  • 3

    बैलेंस बेहतर होता है और शरीर लचीला बनता है

    किसी भी एक्सरसाइज को करने के लिये संतुलन का अच्छा होना बेहद जरूरी होता है। प्लांक एक्सरसाइज करने से न सिर्फ मसल्स और शरीर मजबूत बनता है, बल्कि शरीर का संतुलन भी अच्छा होता है। इसके अलावा प्वांक के नियमित अभ्यास से शरीर लचीला भी बनता है।  
    Images source : © Getty Images

    बैलेंस बेहतर होता है और शरीर लचीला बनता है
  • 4

    ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव में मदद मिलती है

    प्लांक एक्सरसाइज के नियमित अभ्यास से ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव होता है। ऑस्टियोपोरोसिस का हड्डी के टूट जाने से पहले कोई खास संकेत नहीं मिलते हैं। ऐसा हड्डियों का घनत्म कम हो जाने के कारण होता है। नेशनल ऑस्टियोपोरोसिस फाउंडेशन, ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव के लिये रोजाना प्लांक एक्सरसाइज करने की सलाह देता है।
    Images source : © Getty Images

    ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव में मदद मिलती है
  • 5

    टोंड बटक्स (Toned buttocks) मिलते हैं

    अक्‍सर एक्सरसाइज करते हुए हम कई खास अंगों के बारे में जानकारी न होने के कारण उन्हें नजरअंदाज कर जाते हैं। लेकिन ग्‍लूट्ल मसल्‍स (हिप्‍स के पास की एक जगह) और हैमस्ट्रिंग पैरों को ध्‍यान में रखकर किया जाना वाली प्लांक एक्सरसाइज करने से नितंबों को मनवांच्छित आकार मिलता है और इसके आसपास अतिरिक्‍त चर्बी जमा नहीं होती है। इससे सेल्‍यूलाइट भी चला जाता है।
    Images source : © Getty Images

    टोंड बटक्स (Toned buttocks)  मिलते हैं
  • 6

    कमर को मजबूत बनाकर कमर दर्द से बचाव करता है

    रोजाना प्‍लैंक एक्सरसाइज का अभ्यास करने से पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियां ज्यादा सक्रिय होती हैं। साथ ही यह एक्सरसाइज गर्दन और रीढ़ की हड्डी को भी सपोर्ट देती है और इसे मजबूत बनाती है। प्लांक एक्सरसाइज करने से बहुत देर तक बैठे रहने या भारी बैग्स उटाने की वजह से होने वाला कंधों और कमर का दर्द भी नहीं होता है।
    Images source : © Getty Images

    कमर को मजबूत बनाकर कमर दर्द से बचाव करता है
  • 7

    चुस्त व आकर्षक पैरों के साथ सिक्स पैक एब्स

    प्‍लैंक एक्सरसाइज पैरों पर भी काफी प्रभाव डालती है। कूल्हों से लेकर पंजों के छोर तक की मसल्स इस एक्सरसाइज में सक्रीय होती हैं। इसके नियमित अभ्यास से पैरों की मसल्स तो मजबूत होती है साथ ही पैरों को बेहतरीन शेप भी मिलती है। इसके अलावा इसे रोजाना करने से सिक्स पैक एब्स भी बनने लगते हैं।
    Images source : © Getty Images

    चुस्त व आकर्षक पैरों के साथ सिक्स पैक एब्स
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर