हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सोडियम की कमी से पड़ते हैं सेहत पर नकारात्‍मक प्रभाव

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 18, 2015
नमक यानी सोडियम की अधिक मात्रा रक्तचाप को बढ़ा कर हार्ट अटैक का कारण बन सकता है, यह बात तो सभी जानते हैं, लेकिन क्‍या आप इस बात से वाकिफ हैं कि सोडियम की कमी हमारे सेहत के लिए खतरे की घंटी हो सकती है।
  • 1

    सोडियम की कमी

    यह बात सभी जानते हैं कि नमक यानी सोडियम की अधिक मात्रा रक्तचाप को बढ़ा कर हार्ट अटैक का कारण बन सकती है। साथ ही शरीर में सूजन और मोटापे की समस्या बढ़ती है, और हड्डियां पतली होने लगती हैं, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा भी बढ़ जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि सोडियम की कमी हमारे सेहत के लिए खतरे की घंटी हो सकती है।  
    Image Courtesy : Getty Images

    सोडियम की कमी
  • 2

    सो‍डियम का कार्य

    सोडियम की जरूरत हमारे शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित करने और मस्तिष्‍क से शरीर के अन्य अंगों तक और अन्य अंगों से मस्तिष्क तक सूचनाओं के आदान-प्रदान करने की होती है। इसके अलावा मांसपेशियों के कार्यों को सुचारू रूप से करने में भी सोडियम की अहम भूमिका होती है। यानी सोडियम का काम मांसपेशियों और दिमाग की नसों को नियंत्रित करना होता है। सोडियम शरीर में तभी काम करता है जब मैगनीशियम और पोटेशियम की मात्रा भी बराबर मात्रा में हो। इसका प्रमुख स्रोत नमक है।
    Image Courtesy : Getty Images

    सो‍डियम का कार्य
  • 3

    सोडियम की मात्रा

    सोडियम की कमी सेहत के लिए काफी नुकसानदायक हो सकती है। एक वयस्क के शरीर में लगभग 135-148 मि.ली. मोल (मोलिक्यूल) सोडियम होना चाहिए। यह मात्रा घट कर 118 के निम्नस्तर पर आ जाए, तो इसे हाइपोनैट्रीमिया (hyponatremia) कहते हैं। हाइपोनैट्री‍मिया रक्‍त में सोडियम का आसामान्‍य रूप से कम स्‍तर है जो डिहाइ्ड्रेशन के साथ जुड़ा होता है। इस स्थिति में व्यक्ति को फौरन इलाज की जरूरत होती है।
    Image Courtesy : medindia.net

    सोडियम की मात्रा
  • 4

    सोडियम की कमी के लक्षण

    शरीर में सोडियम की कमी से ज्यादा पसीना आना, लगातार उल्टी या डायरिया की समस्‍या होने लगती है। साथ ही नमक की कमी से थकान, डिहाइड्रेशन, निम्न रक्तचाप, मांसपेशियों में खिंचाव और मांसपेशियों में कमजोरी भी हो सकती है। इसके अलावा हाइपोनैट्रीमिया के कारण मस्तिष्क की कोशिकाओं में सूजन आने लगती है। इसीलिए ऐसे में न्यूरोजिकल लक्षण प्रकट होने लगते हैं जैसे सिर दर्द, जी मिचलाना और थकान होना। और सही कारण समझ न आने पर व्‍यक्ति धीरे-धीरे होश खोने लगता है या पूरी तरह बेहोश भी हो सकता है।
    Image Courtesy : Getty Images

    सोडियम की कमी के लक्षण
  • 5

    देरी से दिखते है इसके लक्षण

    इस समस्‍या की समय पर पहचान होने पर पूरा इलाज होना संभव है। लेकिन समय पहचान न होने पर मुसीबत बन सकती है क्‍योंकि यह समस्‍या बड़े ही धीमे धीमे, बिना अन्य किसी चेतावनी के आती है। लेकिन यह इसके लक्षण जैसे थका हुआ सा महसूस होने को बुढ़ापे की निशानी समझ कर हम नजरअंदाज कर देते हैं। और हाइपोथायरायड के मरीज, डिप्रेशन आदि मानसिक बीमारी के रोगी- यूं ही थके, सोये रहते हैं। वे कब हाइपोनैट्रीमिया में चले गए, पता ही नहीं चलता।
    Image Courtesy : Getty Images

    देरी से दिखते है इसके लक्षण
  • 6

    सोडियम की कमी के कारण

    सोडियम की कमी कई कारणों से हो सकती है। लेकिन अक्सर यह समस्‍या उम्रदराज लोगों में ज्यादा देखी जाती है। साथ ही डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के  डायूरेटिक दवाएं लेने के कारण शरीर से सोडियम उत्सर्जित होता है। कई बार ज्यादा उत्सर्जन से भी सोडियम की कमी हो जाती है।
    Image Courtesy : Getty Images

    सोडियम की कमी के कारण
  • 7

    सोडियम की कमी के अन्‍य कारण

    इसके अलावा सोडियम की कमी के अन्‍य कारणों में एड्रिनल ग्लैंड के सही तरीके से काम न करने के कारण हाइपोएड्रिनलिज्म की शिकायत से टीबी की बीमारी होने के कारण भी सोडियम की कमी हो सकती है। ज्यादा उल्टी होने या डायरिया की समस्या में भी सोडियम का अभाव हो सकता है। साथ ही दिल और किडनी संबंधी रोगों के अलावा गर्मियों में ज्यादा पसीना आने से भी सोडियम की कमी होने लगती है।
    Image Courtesy : Getty Images

    सोडियम की कमी के अन्‍य कारण
  • 8

    कमी की पूर्ति

    सोडियम की कमी की जांच के लिए सिरम इलेक्ट्रोलाइट के अंतर्गत ब्लड टेस्ट किया जाता है। सोडियम की कमी व्यक्ति में दो तरह से पूरी की जाती है। अगर मरीज खाने की स्थिति में है तो उसे सोडियम सप्लीमेंट जैसे नमक से बनी चीजें दी जाती हैं और यदि बेहोशी की हालत में है तो उसे विशेषज्ञ की देखरेख में ड्रिप लगाकर सोडियम कंपाउंड चढ़ाया जाता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप नमक की मात्रा बहुत अधिक मात्रा में बढ़ा दें। दिनभर में नमक की छह ग्राम से ज्यादा मात्रा न लें। पर्याप्त पानी पिएं और स्‍वस्‍थ आहार लें।
    Image Courtesy : Getty Images

    कमी की पूर्ति
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर