हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

वॉकिंग के दौरान होने वाला दर्द और इसका उपचार

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 30, 2015
वॉक करना यानी टहलना सबसे सरल और आसान व्‍यायाम माना जाता है। लेकिन इसके कारण आपके शरीर के अंगों में कई तरह की समस्‍या आ सकती है। लेकिन घबराइए नहीं क्‍योंकि इसका उपचार बहुत ही आसानी से किया जा सकता है।
  • 1

    वॉक करना है आसान

    वॉक करना यानी टहलना सबसे सरल और आसान व्‍यायाम माना जाता है। लेकिन आसान माने जाने वाले इस व्‍यायाम के दौरान कई तरह की शारीरिक समस्‍यायें भी होती हैं। क्‍योंकि इसके कारण तलवों, घुटनों, कमर आदि अंगों में कई तरह की समस्‍या आ सकती है। हालांकि यह कोई बड़ी समस्‍या नहीं है, क्‍योंकि इसका उपचार बहुत ही आसानी से किया जा सकता है। अगर टहलते वक्‍त आपके अंगों में किसी तरह का दर्द हो तो आगे की स्‍लाइड में उसके उपचार के तरीकों के बारे में जानें।
    Image Courtesy : Getty Images

    वॉक करना है आसान
  • 2

    इनग्रोन टोनेल

    पैर के अंगूठे के अंदर की तरफ बढ़ने से अंगूठे में सूजन और दर्द होने लगता है। पैर के अंगूठे में दर्द तब होता है जब आपके अंगूठे का नाखून आगे बढ़ने की बजाय साइट में बढ़ने लगता है और आसपास के कोमल ऊतकों पर दबाव पड़ता है और त्‍वचा बढ़ने लगती है। आप में यह समस्‍या टाइट या छोटा जूता पहनने के कारण भी हो सकती है। इस समस्‍या से बचने के लिए आपको वॉंकिंग के दौरान आपको थोड़ा बड़ा जूता पहनना चाहिए क्‍योंकि वॉकिंग के दौरान आपके पैरों में सूजन आ सकती है। साथ ही पेडीक्‍योर के दौरान अंगूठे के नाखून के कोनों को गोलाई से काटने के लिए (नेलकटर या कैंची की जगह) टोनेल क्‍लीपर का इस्‍तेमाल करें।
    Image Courtesy : Getty Images

    इनग्रोन टोनेल
  • 3

    बनियन

    बनियन (Bunion) यानी अंगूठे के जोड़ की हड्डी बढ़ना। यह समस्या उन लोगों में अधिक होती है, जो कसे पंजे वाले जूते पहनते हैं। इससे अंगूठा पैरों की उंगली की ओर बढ़ने लगता है, जो सूजन और दर्द का कारण बन जाता है। वॉकर का फ्लैट पैर के साथ भागने से यह समस्‍या होती है। और कई बार अर्थराइटिस के साथ बनियन हो जाता है। इस समस्‍या से बचने के लिए पैर के अंगूठे के पास से खुले जूते पहने या फुटवेयर को फौरन बदल दिये जाने से कई बार फौरन आराम मिलता है। साथ ही 20 मिनट चलने के बाद पैरों को आराम दिया जाना चाहिए। जिसे ये समस्या हो उसे टाइट फुटवेयर छोड़कर वॉकिंग शूज या कोई और आरामदायक फुटवेयर पहनना चाहिए। अल्ट्रासाउंड या अन्य फिजीकल चिकित्सा उपचार सूजन को कम करने में मदद करते हैं। गंभीर मामलों बोनी फैलाव को हटाने और पैर की अंगूठे को फिर से संयुक्त संगठित करने के लिए शल्य चिकित्सा की आवश्यकता होती है।
    Image Courtesy : Getty Images

    बनियन
  • 4

    एकिलीज टेंडिनाइटिस

    इस समस्‍या के होने पर एड़ी और निचली पिंडली में दर्द होने लगता है। बहुत अधिक चलने पर एकिलीज टेंडेनीटिस में पिण्‍डली का मांसपेशियों से जुड़ने पर अधिक सूजन पैदा होने लगती है। असमान जगह पर चलने पर पैरों को बार-बार मोड़ने पर टेंडर में तनाव आने से पैर में दर्द होने लगता है। समस्‍या से बचने के लिए ऊपर की ओर चलने से बचें, क्‍योंकि इससे टेंडन पर खिंचाव बढ़ सकता है, और वह कमजोर भी हो सकता है। समस्‍या के बहुत अधिक बढ़ जाने पर वॉकिंग को कम या बिल्‍कुल बंद कर देना चाहिए और दर्द और सूजन को कम करने के लिए उस हिस्‍से पर दिन में 3 से 4 बार 15 से 20 मिनट के लिए ठंडा पैक करना चाहिए।   
    Image Courtesy : thetampapodiatrist.com

    एकिलीज टेंडिनाइटिस
  • 5

    लुम्‍बर स्ट्रेन

    इस समस्‍या के होने पर पीठ के मध्‍य से निचले हिस्‍से में दर्द होता है। आमतौर पर चलने से पीठ में दर्द नहीं होता है लेकिन मूवमेंट को बार-बार दोहारने से पीठ में दर्द की स्थिति खराब हो जाती है। लुम्‍बर पर तनाव मासपेशियों या अस्थिरज्‍जु में खिंचाव के कराण होता है। गठिया या आसपास की नसों की सूजन भी इस हिस्‍से में दर्द पैदा कर सकता है। सीधे होकर चलें ताकि रीड़ की हड्डी सीधी रहे। झुककर चलने या झुककर खड़ा होने की आदत हानिकारक है। आपके जिस हिस्‍से में दर्द है वहां पर हीटिंग पैड का प्रयोग करने से आराम मिलेगा। इसके साथ ही गर्म पानी से नहाने भी इसमें फायदा होता है।
    Image Courtesy : Getty Images

    लुम्‍बर स्ट्रेन
  • 6

    न्यूरोमा

    मोर्टन न्यूरोमा एक दर्दनाक स्थिति है, जिसमें रोगी के पैर की तीसरी और चौथी उंगली के बीच सूजन, सनसनी, असहनीय दर्द, सुन्नता होती है, जो पैरों को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकती है। मोर्टन न्यूरोमा ज्यादातर ऊंची एड़ी और कसे जूते पहनने वालों को होती है। यह समस्‍या पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में अधिक पायी जाती है, क्‍योंकि महिलाओं के पैर अलग ढंग से संरचित होता है और वह तंग, हाई हील और बहुत फ्लैट शू पहनती है। मॉर्टन न्यूरोमा में पैदल चलने पर जलन हो सकती है। यह समस्या गंभीर होने पर सर्जरी भी करनी पड़ सकती है। ऐसे में मरीज को चौड़े पंजे वाले जूतों के साथ सिलिकन से बने टो-सेपरेटर लगाने की सलाह दी जाती है, जिससे अंगूठे की हड्डी सीधी हो जाये।
    Image Courtesy : goodfeet.com

    न्यूरोमा
  • 7

    बरसाइटिस

    इसमें हिप्‍स के बाहरी हिस्‍से में दर्द होता है। हालांकि हिप पेन के कई संभावित कारण होते हैं लेकिन तरल पदार्थ से भरी थैलियां, जो हिप ज्‍वाइंट के तकिये के रूप में काम करती है, में बहुत आम होता है। जिन लोगों की एक टांग अन्‍य की तुलना में बड़ी होती है, इस तरह की समस्‍या के लिए अतिसंवेदनशील होती है। साथ ही बहुत ज्‍यादा वॉकिंग करना भी इस समस्‍या का एक कारण हो सकता है। वॉकिंग की बजाय स्थिर साइकिलिंग, स्‍वीमिंग, या कुछ हफ्तों तक कुछ गैर वजन गतिवधियों करें। साथ ही परेशानी को कम करने के लिए ओटीसी एंटी-इंफ्मेंटरी दवाएं लें। फिर वॉक शुरू करने के लिए धीरे-धीरे शुरूआत करें, पहले एक दिन छोड़कर वॉक करें फिर 10 मिनट की वॉक करें।    
    Image Courtesy : Getty Images

    बरसाइटिस
  • 8

    स्ट्रेस फ्रैक्चर

    स्ट्रेस फ्रैक्चर बार-बार या सशक्त स्ट्रेच जैसे रनिंग और जंपिंग के कारण होता है। फ्रैक्चर के कारण पैर के तलवों में अचानक से दर्द शुरू हो जाता है जबकि स्ट्रेस फ्रैक्चर हल्के से दर्द के साथ शुरू होकर समय के साथ बढ़ता जाता है। पैर या पैर के निचले हिस्से पर एक विशिष्ट स्थान पर प्रेस करने पर कोमलता या दर्द महसूस होता है। पैरों को मसाज करने से आराम मिलता है। मसाज करते समय दोनों पैरों के तलवों की ओर अंगूठे के नीचे पडऩे वाले बिंदु पर दबाव दें। साथ ही वॉकिंग को स्‍वीमिंग, वॉटर एरोबिक्‍स या ऊपरी शरीर के वजन प्रशिक्षण से बदलें। साथ ही हड्डियों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अपने आहार में कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ जैसे दही, पनीर और साग को मिलाये। आपको प्रतिदिन 1000 कैल्शियम की जरूरत होती है।
    Image Courtesy : Getty Images

    स्ट्रेस फ्रैक्चर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर