हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन 7 कारणों से आप अभी पीना चाहेंगे मसाला चाय

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 16, 2015
हालांकि ग्रीन टी के बहुत सारे स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है लेकिन हमारी देसी मसाला चाय ग्रीन टी की तुलना में बहुत ही स्‍वस्‍थ और स्‍वाद में कहीं बेहतर होती है।
  • 1

    मसाला चाय की चुस्‍की

    हम भारतीय को अपनी चाय के कप से बहुत प्‍यार होता है, लेकिन जब हरी चाय यानी ग्रीन टी की बात आती है तो हम बहुत उलझन में पड़ जाते हैं। हालांकि ग्रीन टी के बहुत सारे स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है लेकिन हमारी देसी मसाला चाय ग्रीन टी की तुलना में बहुत ही स्‍वस्‍थ और स्‍वाद में कहीं बेहतर होती है। इसके अलावा इसे बनाने भी बहुत आसान होता है और मसाला चाय बनाने के लिए आपको निर्माताओं पर निर्भर रहने की भी जरूरत नहीं होती है। इसके लिए आपको लौंग, इलायची, अदरक, दालचीनी, तुलसी और कुछ चाय की पत्‍ती की जरूरत होती है और यह सब मसाले सभी भारतीय रसोई में आसानी से उपलब्‍ध हो जाते हैं। यहां आपकी चाय को अद्वितीय और स्‍वस्‍थ बनाने वाली कुछ बातों के बारे में बताया गया है जिनको जानने के बाद इस चाय को पीना कभी नहीं छोड़ेगें।
    Image Source : Getty

    मसाला चाय की चुस्‍की
  • 2

    एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर

    मसाला चाय बनाने में इस्‍तेमाल होने वाले सभी मसाले केवल व्‍यक्तिगत स्‍वास्‍थ्‍य लाभ ही नहीं देते बल्कि सूजन का मुकाबला करने के लिए शरीर में तालमेल बनाने के काम भी करते हैं। सूजन को कम करने में मदद करने वाला सबसे महत्‍वपूर्ण तत्‍व अदरक है। लौंग सूजन को कम करने में मददगार दूसरा अच्‍छा उपाय है। यह शरीर की मांसपेशियों की सूजन को कम करने में आपकी मदद करता है। यह दोनों मसाले बहुत ही शक्तिशाली दर्द निवारक है।
    Image Source : Getty

    एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर
  • 3

    थकान से लड़ें

    दिन भर की थकान के बाद गर्मा-गर्म मसाला चाय का एक प्‍याला किसी जादू से कम नहीं होता। इसमें मौजूद टैनिन नामक तत्‍व शरीर को शांत और पुनर्जीवित करने का काम करता है। इसके अलावा चाय में कैफीन एक उत्‍तेजक की तरह काम करता है। हांलाकि इसमें कॉफी की तुलना में बहुत कम मात्रा में कैफीन होता है, लेकिन वह उसी की तरह प्रभावशाली होता है। चाय में मौजूद यह मिश्रण थकान को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है।
    Image Source : Getty

    थकान से लड़ें
  • 4

    कोल्‍ड और फ्लू को दूर भगाये

    मसाला चाय में मौजूद एंटीबैक्‍टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी पैरासिटिक गुणों के कारण यह प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने और आम संक्रमण से बचने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा लौंग, दालचीनी, इलायची और अदरक के प्रभाव के कारण यह खांसी और जुकाम को दूर रखने का एक शानदार तरीका है।
    Image Source : Getty

    कोल्‍ड और फ्लू को दूर भगाये
  • 5

    पाचन में सुधार करें

    आपको यह जानकर ताज्‍जुब हो रहा होगा, कि यह कैसे संभव है। लेकिन यह सच है। मसाला चाय में मौजूद मसाले जैसे लौंग, तुलसी, अदरक और इलायची के कारण यह एसिडिटी से परेशान लोगों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। हालांकि मसाला चाय की प्रकृति अत्‍यधिक अम्‍लीय होती है लेकिन इसमें अदरक मिलाने के बाद यह पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखने में मदद करती है और वास्‍तव में यह चाय के अम्‍लीय प्रकृति को भी दूर करती है।
    Image Source : Getty

    पाचन में सुधार करें
  • 6

    चयापचय को बढ़ावा दें

    एक अच्‍छा और सक्रिय चयापचय को आमतौर से वजन घटाने से जोड़ा जाता है, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अच्‍छा चयापचय शरीर को आहार को पचाने और भोजन के उपयोग में मदद करने जैसी अन्‍य बातों के लिए भी जिम्‍मेदार होता है। अपने स्वास्थ्य का एक अनिवार्य हिस्सा होने के नाते, चाय पीने से आपके पूरे पाचन तंत्र में सुधार होता है। इसके अलावा आयुर्वेद में, चाय को गर्मी पैदा करने वाले भोजन के रूप में जाना जाता है और इसलिए यह आपके चयापचय में तेजी लाने में मदद करता है।
    Image Source : Getty

    चयापचय को बढ़ावा दें
  • 7

    दिल के लिए अच्‍छी होती है काली चाय

    काली चाय (मसाला चाय के मुख्य घटकों में से एक) मजबूत एंटी ऑक्सीडेंट गुणों के लिए जानी जाती है। इसके अलावा, लौंग और इलायची जैसे मसाले भी खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा में सुधार करने में मदद करते हैं। इस प्रकार, धमनी ब्लॉकों में पट्टिका गठन की राशि को कम करने में मदद करती है। चाय में मौजूद टैनिन भी रक्त वाहिकाओं को विस्फारित कर हृदय गति और रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करने के लिए जाना जाता है।
    Image Source : Getty

    दिल के लिए अच्‍छी होती है काली चाय
  • 8

    डायबिटीज से बचायें

    लौंग, दालचीनी और इलायची इन सभी की मौजूदगी से शरीर में इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता बढ़ जाती है और यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करके मधुमेह को रोकने में मदद करने के लिए जाना जाता है। दालचीनी तेज दिमाग पाने और अल्‍जाइमर जैसे रोगों की शुरुआत को रोकने में मददगार होती है और लौंग शरीर को शर्करा के बेहतर उपयोग में मदद करती है।
    Image Source : Getty

    डायबिटीज से बचायें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर