हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन दस आदतों को सुधारकर अपने दिल को रखें स्‍वस्‍थ

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Nov 13, 2013
हालांकि वा‍स्‍‍तविक लक्षण दिखाई देने से पहले हार्ट से जुड़ी समस्‍याओं के बारे में पता लगाना आसान नहीं होता। लेकिन जीवन शैली में कुछ परिवर्तन करके हार्ट डिजीज को रोकने के उपाय किए जा सकते हैं।
  • 1

    दिल की देखभाल

    हृदय समस्‍या जैसे कोरोनरी हार्ट डिजीज, हार्ट अटैक, कंजेस्टीव हार्ट फ‍ेलियर और जन्‍मजात हृदय रोग, दिल की कुछ सबसे आम और गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं हैं। हालांकि वा‍स्‍‍तविक लक्षण दिखाई देने से पहले हार्ट से जुड़ी समस्‍याओं के बारे में पता लगाना आसान नहीं होता। लेकिन जीवन शैली में कुछ परिवर्तन करके हार्ट डिजीज को रोकने के उपाय किए जा सकते हैं।

    दिल की देखभाल
  • 2

    धूम्रपान से करें तौबा

    कुछ बुरी आदतें जैसे धूम्रपान, हृदय रोग का सबसे बड़ा कारण होती हैं। धूम्रपान से हृदय रोग सहित कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होती हैं। इसलिए धूम्रपान से दूर रहने की कोशिश करें।

    धूम्रपान से करें तौबा
  • 3

    शराब सेवन में कटौती

    शराब थोड़ी-थोड़ी पीनी ही अच्‍छी है। जैसे ही आप इस थोड़ी मात्रा को पार करते हैं, यह आपके दिल को कई बीमारियां दे सकता है। ज्‍यादा शराब पीना आपके दिल के लिए हानिकारक हो सकता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, अत्यधिक शराब का सेवन उच्च रक्तचाप और दिल की विफलता का बड़ा कारण है।

    शराब सेवन में कटौती
  • 4

    फास्ट फूड से बचें

    कम कोलेस्‍ट्रॉल वाला आहार आपके हार्ट का सबसे अच्‍छा दोस्‍त होता है जबकि रिफाइंड शुगर और ट्रांस फैट से भरपूर आहार हार्ट प्रॉब्‍लम्‍स को बढ़ा देता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थ हार्ट डिजीज के जोखिम को कम करते हैं।

    फास्ट फूड से बचें
  • 5

    शारीरिक व्‍यायाम

    निष्क्रिय जीवन शैली हृदय रोग के लिए बड़ा खतरा बन सकती है। इसलिए स्‍वस्‍थ दिल के लिए अपने दिनचर्या में शारीरिक गातिविधियों को शमिल करना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि साइकिलिंग, वाकिंग, जॉगिंग, एक्सरसाइजेज और स्विमिंग कर प्रति दिन 500-950 के बीच कैलोरी जलाई जाएं। या आप अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए अपनी पसंद का कोई खेल भी खेल सकते है।

    शारीरिक व्‍यायाम
  • 6

    पर्याप्‍त नींद

    पर्याप्‍त नींद नहीं लेने वालों को हृदय रोग होने का खतरा अधिक होता है। यूएस न्‍यूज और वर्ल्‍ड रिपोर्ट के मुताबिक, वे लोग जो रात में एक घंटा अधिक सोते हैं, उन्‍हें रक्‍तवाहिनियों में अवरोध होने की‍ शिकायत कम होती है। रक्‍तवाहिनियों में अवरोध ही आगे चलकर हृदय रोग का कारण बन सकती है।

    पर्याप्‍त नींद
  • 7

    तनाव प्रबंधन

    अपने जीवन में तनाव का प्रबंधन या इससे प्रभावी ढंग से बचना दिल को स्‍वस्‍थ रखने का एक अन्‍य महत्‍वपूर्ण और आसान समाधान है। तनाव से ग्रस्‍त लोगों को दिल के दौरे की आशंका चार गुना अधिक होती है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, तनाव से होने वाली नकारात्‍मक भावनाएं जैसे गुस्सा रक्तचाप बढ़ा देती है, जो दिल की समस्याओं को जन्म दे सकती है।

    तनाव प्रबंधन
  • 8

    मोटापा कम करें

    मोटापे को खराब खाने की आदतों का परिणाम माना जाता है। यह हमारे दिल के लिए बहुत बुरा हो सकता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, मोटापे से उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप और डायबिटीज जैसी बीमारियां होती हैं जिनसे हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है।

    मोटापा कम करें
  • 9

    खर्राटों की जांच

    खर्राटे स्‍लीप एपनिया का संकेत है जिसमें नींद के दौरान सांस लेना बाधित होता है। यह रक्तचाप को बढ़ा सकता है। वैसे तो खर्राटे किसी भी तरह से हानिकारक नहीं लगते, लेकिन यह CADs की तरह एक बड़ी समस्या का संकेत हो सकते हैं।

    खर्राटों की जांच
  • 10

    रेड मीट का कम सेवन

    रेड मीट में सैचुरेटेड फैट काफी अधिक होता है। इससे हृदय रोग का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए जरूरी है कि प्राकृतिक स्रोतों से प्राप्‍त प्रोटीन से भरपूर स्‍वस्‍थ आहार का सेवन किया जाए। रेड मीट का सेवन कम करने से आप अपने हृदय को संभावित खतरों से बचा सकते हैं।

    रेड मीट का कम सेवन
  • 11

    दवाएं लेना न भूले

    यह एक आम प्रवृति है कि जब हम ठीक महसूस करने लगते हैं तो दवाओं को लेना बंद कर देते हैं। लेकिन इसका स्‍वास्‍थ्‍य पर नकरात्‍मक प्रभाव पड़ सकता है। ऐसा ही दिल की बीमारी में भी होता है। हालांकि इससे हाई बीपी महसूस नहीं होता है लेकिन यह आपके दिल को चोट पहुंचा सकता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी दवाएं समय पर लें।

    दवाएं लेना न भूले
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर