हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

नाकामयाबी के पीछे हो सकते हैं दस कारण

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 13, 2014
सफलता को पाने के लिए आपको अपनी आदतों की जांच करनी होगी ताकी उनमें से अपनी नाकाम करने वाली आदतों को दूर कर आप सफलता की यात्रा में आगे बढ़ सकें।
  • 1

    नाकामयाबी के कारण

    सफलता, आपके लिए इस शब्‍द का क्‍या अर्थ है? क्‍या इसका मतबल उच्‍चस्‍तरीय कैरियर, आपके बैंक के खाते में बहुत सारा पैसा, दुनिया की सैर या ए‍क बहुत बड़ा सा घर? दुर्भाग्‍य से, दुनिया में ज्‍यादातर लोगों का यही मैपाना है। लेकिन सफलता का सही मतलब सच्‍ची खुशी है। सफलता को पाने के लिए आपको अपनी आदतों की जांच करनी होगी ताकी उनमें से अपनी नाकाम करने वाली आदतों को दूर कर आप सफलता की यात्रा में आगे बढ़ सकें। यहां पर हमेशा आपको असफल बनाने वाली 10 बातें दी गई है। image courtesy : getty images

    नाकामयाबी के कारण
  • 2

    स्‍वयं को मान न देना

    कई लोगों को स्‍वयं को कम लायक समझते हैं। उन्‍हें लगता हैं कि वह अन्‍य लोगों की तुलना में कम है। वैसे यह बेतुकी बात है! क्‍योंकि हर कोई अपने तरीके से बहुमूल्‍य और सही होता है। हम सभी दुनिया की पेशकश करने के लिए अनूठा उपहार है। अगर आप स्‍वयं को या अपनी प्रतिभा को महत्‍व नहीं देते हैं। तो आप कभी भी कुछ भी करने में सक्षम नहीं हो पायेगें। स्‍वयं को प्‍यार करें, आप कमाल के हैं यह बात कभी नहीं भूलें। image courtesy : getty images

    स्‍वयं को मान न देना
  • 3

    आत्म-अनुशासन की कमी

    अगर आपको कोई सपना है, तो यह बहुत अ‍च्‍छी बात है। बढ़िया, बधाई हो! लेकिन रुकिए। अगर आप इसके लिए रियलिटी टीवी देख रहे हैं? और आप ज्‍यादातर दिन सामजिक मीडिया पर होते हैं? या आप लगातार इंटननेट पर टेक्‍सटिंग और सर्फिंग कर रहे हैं? तो ऐसा करने से आपका सपना सच नहीं होगा। आपको अपने लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने के क्रम में एक ही दिशा में लगातार काम करने की जरूरत है। और इसके लिए आत्म-अनुशासन की आवश्यकता है। अगर मनुष्य बुरी तरह से काफी कुछ करना चाहते हैं, तो वह रास्ता भी ढूढ़ लेता है। अगर नहीं तो वह बहाने बनाता है। image courtesy : getty images

    आत्म-अनुशासन की कमी
  • 4

    पूर्णता का पीछा

    पूर्णता के रूप में ऐसी कोई बात नहीं है। यह एक मिथक है। यह व्यक्तिपरक है। हो सकता है जो मेरे लिए 'सही' है आप के लिए सही नहीं हो। और हम में से कोई भी गलत नहीं है। हम दोनों ही ठीक कह रहे हैं। इसके पूर्णता के इस विचार का पीछा करना बंद करो। इसकी बजाय, खुश होने के विचार का पीछा करते हुए शुरुआत करें। अगर आप अप्राप्य जैसे पूर्णता का पीछा करेगें तो आप कभी भी खुश या सफल नहीं हो पायेगें। image courtesy : getty images

    पूर्णता का पीछा
  • 5

    स्‍वयं से नकारात्मक आत्म-बात करना

    यह शायद सभी के लिए सबसे बुरा है। आपके बाहर की दुनिया आपके भीतर की दुनिया के साथ शुरु होती है। और आपके भीतर की दुनिया का मुख्‍य रूप स्‍वयं से बात करना है। स्‍वयं से बात करते समय आप अक्‍सर ऐसा कहते हैं जैसे "मैं ऐसा नहीं कर सकता," "यह कभी नहीं हो सकता," मैं भी मोटा हूं", "मैं ज्‍यादा समझदार नहीं हूं" "मैं ज्यादा पैसा नहीं बना सकता", कि सुंदर नहीं हूं", "मैं एक भाग्यशाली व्यक्ति नहीं हूं" ऐसी बातों की सूची बहुत लंबी है। इसलिए स्वयं की बात की निगरानी करें। नकारात्मक बातों को सकारात्मक बातों में बदलें। image courtesy : getty images

    स्‍वयं से नकारात्मक आत्म-बात करना
  • 6

    परिस्थितियों के लिए अन्य लोगों को दोषी ठहराना

    निजी जिम्मेदारी की इन दिनों कही भी प्रतीत नहीं होती है। अगर आप ऐसे व्‍यक्ति है जो हमेशा अपनी विफलता के लिए अन्य लोगों पर आरोप लगाते है। तो इसे रोकने की जरूरत है। ऐसा करने की बजाय, आईने में स्‍वयं को देखो। जो व्‍यक्ति यहां खड़ा है वह व्यक्ति आपको सफल या विफल कर सकता हैं। आपमें अपने जीवन को बदलने की शक्ति है। अगर आप अन्य लोगों पर उंगली उठाते है और अपनी समस्याओं के लिए उन्हें दोष देते हैं, तो आप अच्छा नहीं कर रहे हैं। व्यक्तिगत जिम्मेदारी लें।  दरअसल, यह केवल एक चीज है जो आप कर सकते है। कोई भी आपके जीवन को नहीं बदल सकता, लेकिन आप बदल सकते हैं। image courtesy : getty images

    परिस्थितियों के लिए अन्य लोगों को दोषी ठहराना
  • 7

    अन्य लोगों के अनुमोदन की जरूरत

    हम सभी चाहते है कि दूसरे हमें पसंद करें और हमारे सभी काम को स्‍वीकृति दें। लेकिन जब तक हम किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं किसी को भी हमारी जिंदगी से कुछ लेना देना नहीं होता है। जो आपको सही लगता है वह करें। अपने भीतर की आवाज को सुनें। अन्‍य लोगों की राय अपने अंतर्ज्ञान को डूबने के लिए मत लें। अपने मन की सुने क्‍योंकि वह गलत नहीं है।
    image courtesy : getty images

    अन्य लोगों के अनुमोदन की जरूरत
  • 8

    गलतियां से डर

    आप किसी भी काम में जोखिम नहीं लेते क्‍योंकि आपको गलतियों से डर लगता है। कुछ कदम, लेकिन कुछ नहीं मिला, फिर हिम्‍मत की कमी। अपने इससे पहले भी ऐसे शब्‍दों को सुनाओ होगा। क्‍या आप जोखिम लेने या गलती करने के बारे में सोच कर ही कुछ नहीं कर पा रहे हैं और अंत में कुछ न करके स्‍वयं को पंगु छोड़ देते है? ल‍ेकिन याद रखें, अगर आप कोशिश नहीं की है, तो आप पहले से ही विफल हैं। image courtesy : getty images

    गलतियां से डर
  • 9

    अस्‍वस्‍थ रिश्‍ते में रहना

    हम दूसरों को सीखते है कि हमारे साथ कैसा व्‍यवहार करना हैं। स्‍वयं को मान देखकर ही आप अन्‍य लोगों के बुरे व्‍यवहार को बर्दाश्‍त नहीं करेंगे। कई बार लोगों बुरे रिश्‍तों में इसलिए रहते हैं क्‍योंकि उन्‍हें अकेले होने का डर हैं- या अंतहीन अन्‍य कारणों के लिए भी। लेकिन याद रखें आप स्‍वयं के साथ चारों ओर हैं। अगर आप के आस-पास भावनात्‍मक रूप से स्‍वस्‍थ लोग नहीं तो आप कैसे स्‍वयं को भावनात्मक रूप से स्वस्थ रख सकते है? image courtesy : getty images

    अस्‍वस्‍थ रिश्‍ते में रहना
  • 10

    पैसों को मूर्खता से खर्च करना

    एक और समस्‍या जो कई लोगों की होती हे और वह यह आवेगी खरीदारी करना या पैसे की बचत न करना या फिर पैसा का बजट नहीं बनाना। लेकिन अगर आप ऐसी चीजों की खरीदने में पैसे उड़ा रहे हैं जिनकी आपकी जरूरत नहीं हैं तो आप अपने भविष्‍य को दूर फेंक रहे हैं। और आप अपने रिटारमेंट के लिए खतरा पैदा कर रहे हैं। इसलिये अगली बार कुछ भी खरीदने से पहले उस के बारे में सोचो कि आपको क्‍या चाहिए। image courtesy : getty images

    पैसों को मूर्खता से खर्च करना
  • 11

    शिक्षित होने की बजाय समय की बर्बादी

    अगर आप अपना समय यह बातें सोच कर बर्बाद कर रहे हैं कि आप को मजा आ रहा है। लेकिन वास्तव में आप अपने जीवन या भविष्य के लिए कुछ भी सकारात्मक योगदान नहीं दे रहे हैं और स्‍वयं को विफल करने के लिए स्थापित कर रहे हैं।  इसकी बजाय, अच्‍छी-अच्‍छी किताबें पढ़ें। एक बेहतर भविष्य की ओर एक कदम बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा तरीका पता लगाने की कोशिश करें। इस के बिना, आपके सपने अधूरे हैं। image courtesy : getty images

    शिक्षित होने की बजाय समय की बर्बादी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर