नवरात्रि में करते हैं फास्ट, तो जानिए इसके अनगिनत लाभ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 16, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आस्‍था और विश्‍वास का प्रतीक है नवरात्र।
  • इसके व्रत होते है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद।
  • मधुमेह व कैंसर के मरीज को होता है फायदा।
  • ड्रग, शराब और धूम्रपान छूट जाता है।

आस्‍था और विश्‍वास के प्रतीक नवरात्र की शुरुआत हो चुकी है। यूं तो साल में नवरात्र छह बार आते हैं, लेकिन चैत्र और आश्विन मास के नवरात्र का खास महत्‍व समझा जाता है। नवरात्र में व्रत रखने की परंपरा भी बहुत पुरानी है। इसके धार्मिक कारण तो हैं ही साथ ही सेहत के लिहाज से भी यह बेहद फायदेमंद होते हैं। कई तो नवरात्र के सभी दिन व्रत रखते हैं तो कुछ लोग केवल दो दिन। यह अपनी-अपनी आस्‍था का विषय है। लेकिन, जहां तक सेहत का सवाल है तो इन उपवासों से सेहत पर सकारात्‍मक असर तो पड़ता ही है।

स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

इसे भी पढ़ें : सेहत के लिए अच्‍छा है नवरात्र व्रत

नवरात्र व्रत के लाभ

तनाव पर नियंत्रण- नवरात्र के दौरान प्रत्येक इन्सान एक नए उत्साह और उमंग से भरा दिखाई देता है। व्रत रखने से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर आते हैं जिसकी वजह से लसिका प्रणाली सही होती है और रक्त संचार बना रहता है जिससे मानसिक स्तर सुधरता है दिमाग से तनाव समाप्त होता है। इसके अलावा दिनचर्या के नियमित करने की वजह से आदमी के चेहरे पर रौनक आ जाती है।

 

रोगियों को फायदा– नवरात्र में व्रत रखने से विभिन्ने रोगों – मधुमेह, कैंसर, अर्थराइटिस आदि से ग्रस्ति लोगों को बहुत फायदा होता है। नवरात्र के नौं दिनों तक लोगों की नियमित दिनचर्या हो जाती है जिसकी वजह से कई रोगों से मुक्ति मिलती है। आदमी समय पर उठकर पूजा-अर्चना करने के बाद फलों का सेवन करता है जिससे कई रोग दूर होते हैं।

 

मोटापे पर नियंत्रण– नवरात्र के दौरान व्रत रखने से कई प्रकार की खाने की बंदिशें हो जाती है जिसकी वजह से मोटे लोगों का वजन कम होता है। नवरात्र में व्रत के दौरान लोग तली हुई और ज्यादा कैलोरी वाले खाने से परहेज करते हैं और ज्यादातर फल का सेवन करते हैं जिसकी वजह से मोटापे पर नियंत्रण होता है। व्रत के समय हमारी डाइट में सामान्य खाने की जगह व्रत का खाना रहता है जिसमें तले हुए आलू साबूदाने का पापड़, व्रत के चिप्स, मिठाई और फल आदि प्रमुख हैं।

 

डीहाइड्रेशन नहीं होता– व्रत के दौरान प्यास ज्यादा लगती है और खाने की बजाय लोग पानी और अन्य तरल पदार्थों का ज्यादा मात्रा में सेवन करते हैं जिसकी वजह से डीहाइड्रेशन नहीं होता है। ज्यादा पानी पीने के प्रयोग से भी कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है।

इसे भी पढ़ें : नवरात्र के व्रत में न रहें भूखे

व्रत के अन्य फायदे

  • व्रत रखने से निकोटीन, ड्रग, शराब और धूम्रपान छूट जाता है।
  • व्रत रखने से शरीर के अंदर से कोलेस्ट्राल की मात्रा कम होती है।
  • व्रत से गैस व कब्ज जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।
  • व्रत रखने से पाचन तंत्र ठीक होता है जिसकी वजह से खाना आसानी से पचता है।
  • व्रत अध्यात्म से जुडा होता है जिससे शरीर में अतिरिक्त ऊर्जा का एहसास होता है।


नवरात्र में पूरे दिन भूखा रहने और रात में हैवी खाना खाने से बेहोशी आना, चक्कर आना, सिरदर्द होना, कमजोरी महसूस करना आदि समस्याएं शुरू हो जाती हैं। इसलिए व्रत के दौरान हर दो-तीन घंटे में फल और सलाद, जूस आदि लेते रहें। व्रत में खीरा, खरबूज जैसे फलों को खाते रहने से डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं होगी और वजन बढ़ने का खतरा भी नहीं रहेगा।

 

Image Source : Getty

Read More Article on Festival Special in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES24 Votes 16555 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर