बड़े काम की है छोटी सी इलायची

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 11, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अरोमाथेरेपी में इलायची के तेल का प्रयोग किया जाता है।
  • गैस में राहत और सीने की जलन को कम करने में मददगार।
  • इलायची के पेस्ट को लगाने से सिरदर्द में आराम मिलता है।

इलायची स्‍वास्‍थ के लिहाज से अच्‍छी मानी जाती है, हालांकि इसका सेवन आमतौर पर मसाले के रूप में किया जाता है। लेकिन इसका प्रयोग करके कई बीमारियों से निजात मिल सकती है। इलायची दो प्रकार की होती है - छोटी इलायची तथा बड़ी इलायची। इलायची को मसालों की महारानी कहा जाता है। तीव्र सुगन्ध और स्वाद की वजह से इसका इस्तेमाल विभिन्न व्यंजनों में होता है। अरोमाथेरेपी में भी इलायची के तेल का प्रयोग किया जाता है। जहां बड़ी इलायची को हम व्यंजनों को लजीज बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयोग करते हैं, वहीं पर छोटी इलायची व्‍यंजनों में खुशबू बढ़ाने के काम आती है। दोनों ही प्रकार की इलायची हमारे स्‍वास्‍थ्‍य पर प्रभाव डालती हैं। आइए जानते हैं इनके फायदों के बारे में।

cardamom in hindi

इसे भी पढ़ें : इलायची के स्वास्थ्य लाभ

गले में खराश दूर करें

यदि गले में तकलीफ है और गला दर्द हो रहा है, तो सुबह उठते और रात को सोते समय छोटी इलायची चबा-चबाकर खाकर गुनगुना पानी पी लें। इससे गले में खराश की समस्या में काफी आराम मिलेगा। जल्दी आराम पाने के लिए इस प्रक्रिया को नियमित रूप से करें। इसके अलावा इलायची आवाज को भी सुरीला बनाती है, नियमित इलायची खाने से आवाज सुरीली होती है।


पाचन शक्ति बढ़ाये

इलायची के प्रयोग से पाचन शक्ति बढ़ती है। इलायची के नियमित सेवन से पाचन संबंधी समस्याओं से आसानी से निजात मिल सकता है। इसके अलावा पेट संबंधी समस्या जैसे भूख, एसिडिटी, गैसे, सीने में जलन, सूजन, कब्ज आदि में भी इलायची का सेवन फायदेमंद है।

bloodpressure in hindi

ब्‍लड प्रेशर को सामान्य रखे

इलायची में मूत्रवर्धक फाइबर के साथ-साथ पौटेशियम युक्त मसाले होते हैं जो कि रक्त चाप के स्तर को सामान्य रखते हैं। अगर आप रक्तचाप की समस्या से ग्रस्त हैं तो भोजन में इलायची का सेवन जरूर करें। इससे शरीर में रक्तचाप का स्तर ठीक रहेगा।  

इसे भी पढ़ें : जानें कैसे इलाइची बढ़ा सकती है सेक्स पावर

शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को दूर करें

शरीर की बाहरी सफाई के साथ शरीर को अंदर से डिटॉक्सीफाई करना भी बेहतद जरूरी होता है। और इलायची में वो सारे गुण होते हैं जो शरीर को डिटॉक्सीफाई कर सके। इसके सेवन से शरीर में मौजूद सभी विषैले व व्यर्थ पदार्थ किडनी से बाहर निकल जाते हैं।

 

लगातार आने वाले हिचकी रोकें  

हिचकी की समस्या कभी भी शुरु हो जाती है। कभी-कभी यह बिना रुके देर तक आती रहती है। ऐसे में इलायची का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है। इलायची में वे गुण होते हैं जो हिचकी की समस्या से निजात दिलाते हैं।

इसके अलावा इस छोटी सी इलायची के सेवन से मुंह से आने वाली दुर्गंध की समस्‍या खत्‍म होती है। सांस लेने में तकलीफ होने पर मुंह में एक इलायची डालने से आराम मिलता है। इलायची का पेस्ट बनाकर माथे पर लगाने से सिरदर्द में तुरंत आराम मिलता है और  पेशाब में जलन होने पर, इलायची को आंवला, दही और शहद के साथ सेवन करने से समस्‍या दूर होती है।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles On Herbs In Hindi

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES224 Votes 29110 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर