ग्‍लोबल हैंड-वॉश डे : अपनाएं हेल्‍थी आदत

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 15, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

hath dhona ek achi adat hai

बचपन से ही हमें खाने से पहले हाथ धोने की आदत सिखाई जाती है। यह आदत हमें कई बीमारियों से बचाती है। जो बच्चे हाथ धोने में लापरवाही करते हैं और वे हाथ धोने की आदत का पालन करने वाले बच्चों के मुकाबले ज्यादा बीमार होते हैं। बच्चों को हाथ धोने की आदत का महत्व बताने के लिए 15 अक्टूबर को ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे मनाया जाता है। विभिन्न अभियान व कार्यक्रमों के जरिए लोगों को इस दिन के महत्त्‍व के बारे में बताया जाता है। यह दिवस मनाने का मकसद लोगों में जागृति लाकर उनके व्यवहार में बदलाव लाना है। खाने से पहले और शौच के बाद साबुन से अच्छी तरह हाथ धोने की प्रवृत्ति बढाना जरूरी हो गया है। यूनिसेफ की रिपोर्ट भी इस बात का खुलासा करती है कि भारत में डायरिया से पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों की बड़ी संख्या में मौत हो रही है।

आपके हाथों में रहने वाले रोगाणु खाना खाते समय आपके शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और आपको बीमार कर देते हैं। हाथों के जरिए संक्रमण फैलने की संभावना बहुत ज्यादा होती है। जानिए हाथ धोने के कुछ नियमों के बारे में।

 

[इसे भी पढ़ें: नाखूनों से जानें अपनी सेहत]

 

हाथों को कब धोएं

 

हाथों को साफ रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है। लेकिन हाथों को कब-कब धोना चाहिए इसके बारे में भी जरा जान लीजिए। खाने से पहले व खाने के बाद हाथ धोना अनिवार्य है। इसके अलावा जब आप खाना बनाने जा रहे हों या किसी को सर्व कर रहें हो तो भी हाथ को जरूर धोएं। इसी प्रकार से कुछ अन्य शर्तों के अनुसार भी आपको हाथ धोना चाहिये, जैसे किसी चोट को छूने के पहले और बाद में, जानवरों को छूने के बाद, नाक और मुंह पोछने के बाद, कूडा़ छूने के बाद, वॉश रूम जाने के बाद, दवाई खाने के पहले, सफाई करने के बाद आदि। इन स्थितियों में हाथ धोना बहुत ही जरुरी है। इससे आप कीटाणुओं से सुरक्षित रहेंगे।

 

[इसे भी पढ़े: स्पा का मजा घर पर]

 

कैसे धोएं हाथ


केवल हाथ धोना ही काफी नहीं होता। आपको अपने हाथों को ठीक प्रकार से धोना चाहिये। हमेशा कोशिश करें कि अपने हाथों को नल के चलते हुए पानी से धोएं ना कि बाल्‍टी में रखें हुए पानी से। हाथ धोते समय साबुन का प्रयोग जरुर करें। हाथ धोते समय हाथों को रगड़-रगड़ कर 20-25 मिनट तक जरुर धोना चाहिये। जब हाथ धुल जाएं तब उन्‍हें साफ तौलिये से पोछें।

 

[इसे भी पढ़े: धूप छीन ना लें चेहरे की रंगत ]

 

सैनिटाइजर रखें साथ

 

हम हर जगह पर साबुन ले कर नहीं जा सकते हैं, इसलिए इस स्‍थति में हैंड सैनिटाइजर रखें। यह उपयोग करने में आसान होता है, जिसको प्रयोग करने के लिये आपको पानी की कोई आवश्‍यकता नही होग। लेकिन सैनटाइजर खरीदने से पहले इस चीज को ध्‍यान में रखें कि उसमें 60% अल्‍कोहल मिला हुआ हो। इसके अलावा आप एंटीबैक्‍टीरियल वाइप का भी इस्‍तमाल कर सकते हैं क्‍योंकि ये भी एक प्रकार से बहुत प्रभावी होते हैं।

 

Read More Health News In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11433 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर