हल्दी से दूर होगी पेट की समस्या

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 24, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

haldi se dur hogi pet ki samsyaमसाले के रूप में प्रयोग की जाने वाली हल्दी की उपयुक्त मात्रा पेट में जलन एवं अल्सर की समस्या को दूर करने में कारगर होती है। भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार यह निष्कर्ष पेट से सम्बंधित समस्याओं के लिए नई औषधि के विकास में महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

 

इसे भी पढ़े : औषधि भी है हल्दी

 

देश में हल्दी का प्रयोग एंटीसेप्टिक के रूप में तकरीबन 3000 साल से हो रहा है। हल्दी का पीला रंग कुरकमिन नामक अवयव के कारण होता है और यही चिकित्सा में प्रभावी होता है।

 

चिकित्सा क्षेत्र के मुताबिक कुरकमिन पेट की बीमारियों जैसे जलन एवं अल्सर में काफी प्रभावी रहा है। यद्यपि इसकी कम मात्रा प्रभावी नहीं रही है जबकि अधिक मात्रा से स्थितियां बिगड़ सकती हैं। कुरकमिन की उपयुक्त मात्रा खोज निकाली है जिसका सेवन इलाज के लिहाज से लाभदायक है।

 

 

आईआईसीबी देश के प्रमुख शोध संस्थान काउंसिल ऑफ साइंटफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (सीएसआईआर) के अंतर्गत आती है।

 

पेट में जलन एवं अल्सर की समस्या अत्यधिक दर्द निवारक दवाओं के सेवन एवं तनाव के कारण आती है। शोधकर्ताओं ने हल्दी की उचित मात्रा चूहे को देकर सफल प्रयोग किया।

 

 

इसे भी पढ़े: घरेलू नुस्खों से करें बीमारियों का इलाज

 

शोधदल की सदस्य एवं अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टीकल स्कूल ऑफ मेडिसिन की नीलांजना मौलिक ने कहा, "यह पहला अध्ययन था जिसमें अल्सर के पहले एवं बाद में कुरकमिन की उपस्थिति को दर्शाया गया था। यह घाव वाले स्थान पर नई रक्त वाहिकाओं के निर्माण में सहायक हो सकता है।"

शोधदल की सदस्य एवं अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टीकल स्कूल ऑफ मेडिसिन की नीलांजना मौलिक ने कहा, "यह पहला अध्ययन था जिसमें अल्सर के पहले एवं बाद में कुरकमिन की उपस्थिति को दर्शाया गया था। यह घाव वाले स्थान पर नई रक्त वाहिकाओं के निर्माण में सहायक हो सकता है।"

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES55 Votes 21985 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर