गर्भावस्‍था के दौरान थकान, पीलापन या चक्कर आना आदि हो सकते हैं एनीमिया के लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 16, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कम होने के कारण होता है एनीमिया। 
  • गर्भावस्था के दौरान थकान होना है एनीमिया के लक्षणों में सबसे आम।
  • इसमें होंठ, नाखूनों, मसूड़ों व हाथ की हथेलियों पर आ जाता है पीलापन।
  • गर्भावस्था के दौरान पहले की तुलना में 50% अधिक आयरन की होती है जरूरत।

गर्भावस्था के दौरान आयरन की सही मात्रा आपको और आपके शिशु को स्वस्थ्य रखने के लिए बेहद आवश्यक है। रक्त में पर्याप्त आयरन के बिना शरीर के अंगों और ऊतकों के सही मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती। आयरन की इस कमी या रक्तहीनता को ही एनीमिया कहा जाता है, और गर्भावस्था में एनीमिया सबसे अधिक पाया जाता है।

symptoms of anemina during pregnancy

एनीमिया, लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या कम होने के कारण होता है। और गर्भावस्‍था में यह रोग और खतरनाक हो जाता है। इस हालत में शरीर में ऑक्सीजन ले जाने की क्षमता कम हो जाती है, जिससे थकान महसूस होती है। समस्या तब उत्‍पन्‍न होती है जब लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी होती है और उनकी हानि होने की गति तेज हो जाती है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं द्वारा रक्‍ताल्‍पता का सामना करना एक आम समस्‍या है जिसकी तरफ ध्‍यान दिया जाना चाहिए। यहां हम आपको गर्भावस्था के दौरान एनीमिया के आम लक्षणों में से कुछ लक्षणों के बारें में बता रहे हैं। आइए जानें कौन से है वह लक्षण-

 

गर्भावस्‍था में एनीमिया के लक्षण


थकान

गर्भावस्था के दौरान एनीमिया के आम लक्षणों में से थकान सबसे आम लक्षण है। हालांकि, थकान एक स्वस्थ गर्भवती महिला द्वारा भी अनुभव की जाती है, लेकिन यह एनीमिया का भी एक महत्वपूर्ण लक्षण है। गर्भवस्‍था में एनीमिया होने से थकान अधिक होती है। यहां तक कि रोजमर्रा के काम करने में भी परेशानी होती है।

 

कमजोरी

अगर गर्भवस्‍था के दौरान आप कमजोरी महसूस करती हैं और हर समय आपको थकान महसूस होती है तो यह एनीमिया के लक्षण हैं। बुद्धिमानी इसी में है कि आप तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें।

 

पीलापन

गर्भावस्था के दौरान पीले रंग का मतलब है कि आप एनीमिक हैं। इसमें होंठ, नाखूनों, मसूड़ों, हाथ की हथेलियों और आंखों की परत पर पीलापन आ जाता है, जिसे कोई भी आसानी से नोटिस कर सकता हैं।

 

चक्कर आना

चक्कर आना और सांस की तकलीफ होना भी एनीमिया से पीड़ित गर्भवती महिलाओं में आम लक्षण हैं।
 

सिरदर्द और सीने में दर्द

सीने में दर्द, जोड़ों का दर्द और सिरदर्द के गंभीर मामले भी एनीमिया के लक्षण हैं। आपको अक्सर सिर दर्द का अनुभव हो सकता है। यदि आपकी समस्या निरंतर बनी रहती है तो यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

 

अन्य लक्षण

गर्भावस्था के दौरान एनीमिया के कुछ अन्य लक्षण भी होते हैं जैसे-

  • चिड़चिड़ापन
  • बेहोशी
  • अस्वाभाविक श्‍वास 
  • शरीर का कम तापमान

 

आयरन की कमी के साथ निपटने के तरीके

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पहले की तुलना में 50% अधिक आयरन की जरूरत होती है। गर्भवती महिलाओं को दैनिक आयरन की 27 मिलीग्राम खपत दी जानी चाहिए क्‍योंकि गर्भस्थ शिशु की आयरन की आपूर्ति गर्भवती द्वारा लिए जाने वाले आयरन पर निर्भर होती है।

बच्‍चे के जन्म से पहले एक गर्भवती को सही समय पर विटामिन लेने च‍ाहिए और साथ ही अपने आहार में आयरन युक्‍त भोजन शामिल करना च‍ाहिए। सूखे मेवे, साबुत अनाज, ब्रोकोली, पालक, नट, चिकन आदि आयरन के अच्‍छे स्रोत हैं। साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित करें कि आयरन आपके शरीर द्वारा अवशोषित हो जाए इसके लिए आपको विटामिन सी लेना होगा। विटामिन सी आयरन के अवशोषण में मदद करता है।

 

 

Read More Article on Grabhavastha in hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES8 Votes 49526 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर