नींद की गोलियों के सेवन के बिना भी लीजिए चैन की नींद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 17, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • चैन की नींद लेना चाहते हैं तो जरूरी है सुबह में जल्‍दी उठना।
  • आपके सोने और जागने का निश्‍चित शेड्यूल रहेगा फायदेमंद।
  • दिमाग को आराम देने और अच्‍छी नींद के लिए ध्‍यान लगाएं।
  • गहरी नींद लेने में सहायक है कैफीन फ्री हर्बल चाय का सेवन।

चैन की नींद यानी गहरी नींद शरीर को कई तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से दूर रखती है। लेकिन भागदौड़ भरी जिंदगी में गहरी नींद दूर की कोड़ी हो गई है। आमतौर पर आपने महसूस भी किया होगा कि किसी रात गहरी नींद लेने पर आप अगले दिन अच्‍छा महसूस करते हैं।

good sleeping tips

ऑफिस में काम का दबाव, अनियमित दिनचर्या और पारिवारिक जिम्‍मेदारियां, ये ऐसे कारण हैं जिनकी वजह से आप चैन की नींद नहीं ले पाते। आजकल नींद की कमी आम समस्‍या हो गई है। नींद न आने की समस्‍या खासतौर पर मेट्रो सिटी में रहने वाले लोगों में ज्‍यादा देखी जाती है। ऐसे में कुछ लोग तो स्‍लीप डिसऑर्डर के शिकार भी हो जाते हैं। लोग अनिद्रा को दूर करने के लिए नींद की गोलियों की मदद ले रहे हैं, जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से सही नहीं है। इस लेख के जरिये हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही कुछ उपाय जिनसे आप नींद की गोलियों के बिना भी चैन की नींद ले सकते हैं।

 

सुबह जल्‍दी उठें

अक्‍सर लोग यह कहते हैं कि सुबह देर तक सोने से उन्‍हें रात में ठीक से नींद नहीं आई। यदि आपको भी सुबह में देर तक बिस्‍तर में रहते हैं तो अपनी इस आदत से छुटकारा पाएं। दरअसल, सुबह के समय बिस्‍तर में रहकर आप पूरी तरह से नींद नहीं ले पाते। ऐसे में आपका दिमाग चलता रहता है और अच्‍छी नींद के अभाव में आपको परेशानी होती है। जानकारों का मानना है कि नींद खुलने के बाद बिस्‍तर में 20 से 40 मिनट से ज्‍यादा नहीं रहना चाहिए।

 

शेड्यूल बनाए

सोने और जागने का एक निश्‍िचत समय होना चाहिए। शेड्यूल का पालन करने में आपको शुरूआत में परेशानी हो सकती है, लेकिन कुछ समय बाद आपका शरीर इसका आदी हो जाएगा। यदि किसी दिन आपको सोने में देर हो जाती हैं तब भी आप अपने शेड्यूल को बनायें रखें।

 

ध्‍यान लगाना

यदि आपका दिमाग हर समय चलता रहता है और आप इसी कारण सही नींद नहीं ले पाते तो इसके लिए मेडिटेशन यानी ध्‍यान का सहारा लें। मेडिटेशन से आपका दिमाग स्थिर रहेगा और आप चैन की नींद ले पाएंगे। साल 2009 में हुए एक अध्‍ययन से साफ हो चुका है कि मेडिटेशन अनिद्रा की समस्‍या का कारगर उपाय है। अध्‍ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि मेडिटेशन करने वाले लोगों को अन्‍य लोगों के मुकाबले बेहतर नींद आती है।

 

गुनगुने पानी से नहाएं

गुनगुने पानी से नहाने की आदत गहरी नींद लेने में मददगार साबित होती है। सुबह में उठने के बाद गुनगुने पानी से नहायें। वर्ष 1985 में हुई एक शोध से स्‍पष्‍ट हो चुका है कि जो लोग गुनगुने पानी से भरे बाथ टब में नहाते हैं उन्‍हें चैन की नींद आती है।

 

व्‍यायाम और योग

दिमाग की शांति और गहरी नींद के लिए शारीरिक श्रम बहुत जरूरी है। इसके लिए आप व्‍यायाम करने के साथ ही योग का भी सहारा ले सकते हैं। एक शोध से यह साफ हो चुका है कि नियमित तौर पर योग करने से आपको बेहतर नींद आती है। बहुत से लोग शरीर को आराम देने के लिए भी योग करते हैं।

 

बेडरूम को साफ रखें

चैन की नींद लेने के लिए जरूरी है कि आपका बेडरूम साफ होना चाहिए। कई मामलों में यह भी देखा गया है कि नींद पूरी न होने की शिकायत करने वाले लोगों का बेडरूम गंदा रहता है। सा‍थ ही सोने के लिए घर पर ऐसे स्‍थान को चुनें जहां बाहर की आवाज कम आती हो। बेडरूम में लाइटिंग का चुनाव अपनी पसंद के आधार पर करें। कुछ लोगों को तेज रोशनी में तो कुछ को हल्‍की रोशनी में सोने की आदत होती है। वहीं कुछ लोगों को लाइट म्‍यूजिक में सोना पसंद होता है।

 

ग्रीन टी का सेवन

कैफीन का सेवन आपकी नींद पर विपरीत असर डाल सकता है, लेकिन कैफीन फ्री हर्बल टी आपकी अच्‍छी नींद लेने में मदद करेगी। बिस्‍तर में जाने से करीब एक घंटे पहले ग्रीन टी पीने से आपको गहरी नींद आती है। इसके अलावा आपको अपने खाने पीने का भी ध्‍यान रखना चाहिए। बिस्‍तर पर सोने जाते वक्‍त आपका पेट ज्‍यादा भरा हुआ नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर आपको असहज महसूस होगा।

 

धूम्रपान से दूर रहें

कैफीन की ही तरह निकोटीन का सेवन भी आपकी नींद में खलल डाल सकता है। साल 2008 में हुए एक शोध से साफ हो चुका है कि धूम्रपान करने वाले लोगों की अमूमन रात में चार बार नींद खुलती हैं और वे सुबह में भी अन्‍य लोगों के मुकाबले जल्‍दी उठ जाते हैं।

स्‍वस्‍थ्‍य शरीर के लिए भरपूर नींद बहुत जरूरी है, गोलियों का सेवन कर चैन की नींद लेने की कोशिश सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकती है। ऊपर बताए गए तरीकों को आजमाकर आप भी चैन की नींद ले सकते हैं।

 

 

 

Read More Article On Mental Health In Hindi


Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES46 Votes 9296 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर