वजन घटाने में मददगार है यह लो-कार्ब अाहार योजना और वर्कआउट

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 28, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कार्बोहाइड्रेट का सीमित सेवन है फायदेमंद।
  • अच्‍छी सेहत के लिए सही व्‍यायाम है जरूरी।
  • व्‍यायाम से अतिरिक्‍त वसा कम होती है।
  • शर्करा की अधिक मात्रा भी अच्‍छी नहीं।

वे लोग जो अपने शरीर को सही आकार में लाना चाहते हैं, खासतौर पर वे अपना वजन कम करना चाहते हैं, ऐसे लोगों के लिए जरूरी है कि वे अपने आहार से कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को घटायें। इस उपाय को वजन घटाने के लिए उपयोगी माना जाता है। लेकिन, साथ ही यह भी जानना जरूरी है कि आखिर कार्बोहाइड्रेट आपके शरीर पर किस प्रकार प्रभाव डालता है। जब आप कार्बोहाइड्रेट अथवा शर्करा का सेवन करते हैं, तो इससे रक्‍त-शर्करा की मात्रा बहुत तेजी से बढ़ जाती है। यह मुख्‍य तौर पर भोजन के ग्‍लाइसेमिक मात्रा पर निर्भर करती है।

रक्‍त शर्करा में इजाफे के परिणाम

जब शरीर में रक्‍त शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है, तो शरीर इनसुलिन हॉर्मोन का स्राव अधिक करने लगता है। इससे शरीर पोषक तत्‍वों को संचित करने लगता है और रक्‍त में से शर्करा की मात्रा को कम करने लगता है।

Low carb diet in hindi

क्‍या है इनसुलिन की भूमिका

इनसुलिन हमारे शरीर के लिए अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण होता है। लेकिन, इसके स्राव से शरीर किसी भी माइक्रोन्‍यूट्रिएंट्स में मौजूद वसा को भी संचित करने लगता है। तो, इसलिए जरूरी है कि जब आप कार्बोहाइड्रेट अथवा शर्करा का उपभोग कर रहे हों, तो उच्‍च वसायुक्‍त आहार का सेवन न करें। अगर आप इन दोनों पदार्थों का पर्याप्‍त मात्रा में सेवन करते हैं, तो मोटापा बढ़ने की आशंका भी बढ़ जाती है।

सही हो आहार योजना

अधिक ग्‍लाइसेमिक स्‍तर का भोजन कड़े व्‍यायाम करने वालों के लिए जरूरी तो होता है, लेकिन साथ ही यह वजन कम करने में बाधक भी बन सकता है। तो ऐसे में आपको ऐसी आहार-योजना की जरूरत होती है, जिसमें सभी पोषक तत्‍व पर्याप्‍त मात्रा में उपलब्‍ध हों। जिसके सेवन से आपको कमजोरी का अहसास भी न हो और साथ ही आप वजन कम करने के अपने लक्ष्‍य को भी हासिल कर सकें।

व्‍यायाम और आहार का सही मेल

आपको व्‍यायाम में की जाने वाली कड़ी मेहनत और मसल रिकवरी का हिसाब रखना चाहिये। आपको इस बात का पता होना चाहिये कि व्‍यायाम से पहले और बाद में आपको बहुत कम कार्बोहाइड्रेट की जरूरत होती है। जब आप एक लो-कार्बोहाइड्रेट आहार का सेवन करते हैं तो आपका शरीर ऊर्जा के लिए वसा का उपभोग करने लगता है। और कार्बोहाइड्रेट की एक छोटी सी मात्रा भी प्राइमर के रूप में काम करती है। व्‍यायाम से पहले और बाद में आपको केवल 25 से 35 ग्राम कार्बोहाइड्रेट की जरूरत होती है और इसके लिए एक सेब, शकरकंदी और मिक्‍स बैरी काफी रहेंगी। आपका फिटनेस लक्ष्‍य कुछ भी हो लेकिन वेट ट्रेनिंग न केवल वजन कम करने बल्कि सेहत सुधारने और मांसपेशियों को सही आकार देने में महत्‍वपूर्ण होती है। इसके साथ ही इससे आपी मेटाबॉलिक क्षमता में भी इजाफा होता है।

weight loss exercises in hindi

कैसा हो वर्कआउट प्‍लान

वजन कम करने के लिए सही वर्कआउट प्‍लान का होना जरूरी है। इससे आपकी मांसपेशियां भी बनती हैं और आपका शरीर सही शेप में आता है। इसके साथ ही इससे शक्ति में भी इजाफा होता है।

  • डम्‍बल स्‍कावट, कर्ट और प्रेस: 20 रिपिटेशन के 3 सेट
  • एल्‍बो प्‍लैंक पुश अप्‍स:  दोनों ओर 10-10 रिपिटेशन के 3 सेट
  • वॉकिंग लंजस: 20 रिपिटेशन के तीन सेट
  • स्‍ट्रेट लैग रेज: 20 रिपिटेशन के तीन सेट
  • स्‍कावट्स विद केबल रो: 20 रिपिटेशन के तीन सेट

यह बात समझना जरूरी है कि शरीर को इस व्‍यायाम के अनुसार ढलने में वक्‍त लगेगा। और वजन इतनी आसानी से कम नहीं होगा। तो इस मुश्किल को हल करने के लिए वसा का सेवन कम करें। वसा केवल इतनी रखें जिससे मेटाबॉलिक सिस्‍टम सही प्रकार से काम करता रहे और हॉर्मोंस में किसी प्रकार का असंतुलन पैदा न हो।

कार्बोहाइड्रेट से बेहतर वसा !

इस आहार योजना के केवल मनोवैज्ञानिक प्रभाव ही नहीं होते। यह बात ध्‍यान रखना भी जरूरी है कि सीमित वसा युक्‍त आहार को पचाना वसा और कार्बोहाइड्रेट रहित आहार के मुकाबले आसान होता है। यदि आपके पास सीमित विकल्‍प हों तो कार्बोहाइड्रेट और शर्करा के मुकाबले वसा को प्राथमिकता दें।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES6 Votes 1355 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर