त्‍वचा को निखारने के लिए जानें वॉटर थेरेपी के 3 फायदे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 14, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • वॉटर थेरेपी चेहरे में स्थायी चमक लाता है।
  • शरीर से विषाक्त पदार्थों को दूर करने में मददगार।
  • यह त्वचा को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखता है।
  • इससे शरीर में ताजा रक्‍त भी पर्याप्‍त मात्रा में बनता है।

क्‍या आप भी त्‍वचा में प्राकृतिक चमक की कमी के कारण अक्‍सर परेशान रहते हैं? क्‍या आपके फेयरनेस प्रोडक्‍ट आपको मनचाहा परिणाम नहीं दे रहे हैं? क्‍या आप नहीं चाहते कि आपकी त्‍वचा भी प्राकृतिक रूप से निखरने लगें। शायद हम सभी चाहते हैं।  

क्‍या आप जानते हैं कि एक साधारण सा पेय आपकी त्‍वचा को प्राकृतिक रूप से चमकदार बना सकता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं पानी की। अगर आप भी और इसके त्‍वचा के लाभों के बारे में जानना चाहते हैं? तो इस आर्टिकल में दिये उपाय आपके लिए मददगार साबित हो सकते हैं।

drinking water

वॉटर थेरेपी के लाभ

वॉटर थेरेपी प्रकृति द्वारा दिये कई तोहफों में से सबसे शानदार तरीका है। हमारे शरीर में लगभग 70 प्रतिशत हिस्‍से में पानी होता है। इसलिए स्‍वस्‍थ और मुक्‍त कणों को दूर करने के लिए नियमित रूप से 8-10 गिलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। बिस्‍तर से उठने के बाद सुबह-सुबह 3-4 गिलास पानी पीने चाहिए। खाली पेट पानी पीने को ही वॉटर थेरेपी कहते हैं। इस थेरेपी से आपको कई प्रकार के लाभ मिल सकते हैं। यहां त्‍वचा के लिए वॉटर थेरेपी के लाभों जानकारी दी गई है।

स्थायी चमक  

त्‍वचा में स्‍थायी रूप से चमकदार बनाने के लिए वॉटर थेरेपी एक बहुत ही अच्‍छा तरीका है। यह उपाय प्राचीन काल से इस्‍तेमाल किया जाता रहा है। यह आपकी त्‍वचा को फ्रेश, जवां और चमकदार रखता है। लेकिन इस चिकित्‍सा को अपनाने का फैसला तो हम कई बार करते हैं और कुछ दिनों तक अपनाते भी हैं लेकिन फिर बीच में ही छोड़ देते हैं। और कहते हैं कि इस थेरेपी में दम नहीं हैं। नियमित रूप से वॉटर थेरेपी को अपनाने से आपको यह निश्चित रूप से बेहतर परिणाम देगी। यह शरीर में एक प्राकृतिक उपाय के रूप में कार्य करता है और कई बीमारियों से बचाता है।

 

water therapy

विषैले पदार्थों का बाहर करना

मानव शरीर में लगभग 70 प्रतिशत पानी होता है, लेकिन फिर भी शरीर को फिट रखने के लिए नियमित रूप से अच्‍छी मात्रा में पानी की जरूरत होती है। पानी शरीर से मूत्र और मल के माध्यम विषैले पदार्थ को दूर करने में मदद करता है। पानी का सेवन पर्याप्‍त मात्रा में करने से किडनी का काम भी कुशलता से चलता रहता है। इसी तरह, पेट संबंधी विकारों को रोका जा सकता है और पर्याप्त पानी के सेवन हर दिन उचित मल त्याग में मदद मिलती है। और विषैले तत्‍व प्रभावी ढंग से शरीर से बाहर निकलने पर ताजा रक्‍त भी आपके शरीर में पर्याप्‍त मात्रा में बनता है। त्वचा संबंधी समस्याएं अशुद्ध रक्‍त के कारण होती है जो चयापचय से संबंधित है।

त्वचा और शरीर हाइड्रेटेड रहता है

पर्याप्त पानी के सेवन से शरीर की अन्य गतिविधियों पर व्यय करने का समय और एनर्जी बढ़ जाती है। अच्‍छी तरह से हाइड्रेटेड शरीर हमेशा बीमारियों से दूर रहता है। इसलिए अपने शरीर को अंदर से  साफ करने के लिए सुबह उठने के बाद पानी पीना बहुत आवश्‍यक होता है।

इस तरह से वॉटर थेरेपी से खून से विषाक्‍त पदार्थ बाहर निकलने से आप पा सकते हैं स्‍वस्‍थ और खिली-खिली त्‍वचा।

Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Alternative Therapy in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES278 Votes 28279 Views 0 Comment