सर्दियों में भी रखें अपनी त्वचा को सुंदर और चमकदार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 30, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सर्दियों में हवा में नमी का कम होना है त्वचा के रूखेपन का कारण।
  • त्वचा में मौजूद प्राकृतिक तेल को बचाकर आता है त्‍वचा में निखार।
  • जैतून के तेल में विटामिन-'ई' के कारण मिलता है त्वचा को पोषण।
  • नमी और पानी का संतुलन बनाए रखने में मददगार, बादाम का तेल।

सर्दियों का सबसे पहला असर हमारी त्वचा पर दिखाई देता है। सर्दियों में चलने वाली हवा में नमी बहुत कम होती है। हवा रूखी होती है। इसका सीधा असर त्वचा पर पड़ता है और त्वचा रूखी पड़ने लगती है। फिर नहाने में इस्तेमाल होने वाले साबुन-शैंपू हमारी त्वचा में मौजूद तेल (नेचुरल आयल) को हटा देते हैं। इसी लिए हम आपको बता रहे है कि किस तरह सर्दियों में भी आप अपनी त्वचा को सुंदर और चमकदार बनाए रख सकते हैं।

glowing skin in winters


विशेषज्ञों की राय में त्वचा से नेचुरल ऑयल का हटना ही उसके रूखेपन का कारण होता है। शरीर के इस प्राकृतिक तेल को बचाकर त्वचा को निखारा जा सकता है। इसके लिए बेहतर होगा कि नहाने से पहले कुछ खास तेलों द्वारा शरीर की मालिश की जाए।

 

नारियल का तेल

खनिज तत्वों से भरपूर माना जाने वाला नारियल का तेल त्वचा में झुर्रियां पड़ने से रोकता है। साथ ही त्वचा संबंधी कई समस्याओं और संक्रमणों को भी दूर करता है।

 

जैतून का तेल

एंटी-आक्सीडेंट से भरपूर माने जाने वाले जैतून के तेल में विटामिन-'ई' पाया जाता है। इसलिए इसे त्वचा को पोषण देने वाला माना जाता है। विशेषज्ञों की राय में जैतून का तेल शरीर और त्वचा की आंतरिक और बाह्य रूप से रक्षा करता है। साथ ही जैतून का तेल त्वचा को नर्म, चमकदार और लचीला बनाए रखता है।

 

बादाम का तेल

बादाम का तेल त्वचा में पानी का संतुलन बनाए रखने के साथ नमी को अवशोषित करने में मददगार होता है। साथ ही यह त्वचा में खिंचाव, जलन और खुजली को भी दूर करता है। बादाम का तेल मांस-पेशियों के दर्द से भी निजात दिलाता है।

 

 

तिल का तेल

विटामिन 'बी' और विटामिन 'ई' का प्रचुर स्रोत माना जाने वाला तिल का तेल आयुर्वेद में भी काफी उपयोगी बताया गया है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस जैसे तत्व काफी प्रचुरता से पाए जाते हैं। तिल के तेल की मालिश न केवल थकान से निजात दिलाती है बल्कि सूर्य की घातक पराबैंगनी (अल्ट्रावायलट) किरणों से भी त्वचा की भी रक्षा करती है।

 

सरसों का तेल

सर्दियों में सरसों के तेल का उपयोग खाने में हो या त्वचा की देखभाल में, यह बहुत फायदेमंद होता है। सरसों तेल में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो हमारी सेहत, बाल और त्वचा आदि पर कमाल का लाभ पहुंचाते हैं। इसलिए सरसों के तेल का उपयोग प्राचीन समय से ही खाने व शरीर पर लगाने में किया जाता रहा है। यही नहीं सरसों का तेल बहुत अच्छे पेनकिलर का काम भी करता है। सरसों का तेल सौंदर्यवर्धक भी होता है। सौंदर्य निखारने व गौरा रंग पाने की चाहत वाले लोग बेसन हल्दी में सरसों का तेल मिलाकर लगाएं।

 


ठंड में ज्यादातर लोगों की त्वचा रूखी और बेजान हो ही जाती है। ऐसे में अधिकतर लोग कई तरह के कॉस्मेटिक्स इस्तेमाल करने लगते हैं ताकि ठंड में भी त्वचा ग्लोइंग और सेहतमंद बनी रहे। मगर कॉस्मेटिक्स त्वचा को स्वस्थ नहीं बना सकते। इसके लिए घरेलू उपाय अपनाना ही सबसे अच्छा विकल्प होता है। उपरोक्त तेल आपको ठंड में भी रूखी और बेजान त्वचा से बचा सकते हैं और सेहतमंद, दमकती त्वचा प्रदान कर सकते हैं।

 

 

Read More Articles On Skin Care In Hindi

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 17415 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • MONIKA 09 Dec 2012

    MERI SKIN BHUT RHUKI K OR BALCK PLZ HELP ME

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर