संक्रमण से बचने के लिए जरूरी है पैरों की देखभाल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 13, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पैरों की सफाई संक्रमण से बचाती है आपको।
  • अपनी नंगे पैर घूमने की आदत पर करें नियंत्रण।
  • पैरों को कोमल बनाता है महीने में दो बार पेडिक्‍योर।
  • पैरों को फटने से बचाता है मॉश्‍चराइजर का प्रयोग।

खूबसूरत दिखना हर किसी की चाहत होती है। कोमल और सुंदर पैर आपके रूप में चार चांद लगा देते हैं। मौसम में बदलाव का असर आपके पैरों पर भी पड़ता है। पैर सुंदर बने रहें, इसके लिए खासतौर पर देखभाल की जरूरत होती है।

foot care tipsमौसम बदलने पर पैरों में अक्‍सर संक्रमण हो जाता है। बरसात में जल जमाव की वजह से संक्रमण तो गर्मी में पैरों में नमी ज्‍यादा होने के कारण संक्रमण का खतरा बना रहता है। इस तरह की समस्‍याओं से बचने के लिए आपको चेहरे के साथ ही पैरों की भी देखभाल करनी चाहिए। इस लेख के जरिए हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे उपाय जिन्‍हें आजमाकर आप पैरों में होने वाले संक्रमण से बचे रहेंगे।

पैरों में संक्रमण के प्रकार

पैरों के प्रति लापरवाही आपके पैरों में संक्रमण का कारण बन सकती हैं। पैरों का संक्रमण निम्‍नलिखित प्रकार का होता है।

रिंगवर्म

रिंगवर्म पैरों में छल्‍लेदार आकार का होने वाला संक्रमण है। इसमें पैरों की त्‍वचा लाल और कठोर हो जाती है। साथ ही इसमें खुजली भी होती है। यह पैरों में फंगस के संक्रमण से होने वाली परेशानी है।

नाखूनों का संक्रमण

आमतौर पर नाखूनों का संक्रमण बरसात के पानी में ज्‍यादा समय तक पैर रहने से होता है। नेल इन्‍फेक्‍शन की समस्‍या अधिकतर बरसात के मौसम में होती है। ऐसे में नाखून का लाल होना और नाखून पर सूजन आने के साथ ही खुजली भी होती है।


एक्जिमा

एक्जिमा में पैरों की त्‍वचा पपड़ीदार होकर उतरने लगती है, साथ ही यह बहुत कठोर हो जाती है। यह समस्‍या
वैक्‍टीरिया के कारण होती है। इसमें पैरों में खुजली बनी रहती है। एक्जिमा की समस्‍या में लापरवाही नहीं करनी चाहिए और जल्‍द से जल्‍द डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

संक्रमण से बचने के लिए क्‍या करें

 

पैरों की सफाई करें

बिजी लाइफ के बीच आपको पैरों की सफाई के लिए भी समय निकालना चाहिए। घर से बाहर पैर धूल और मिट्टी के संपर्क में आते हैं। इस कारण पैरों में संक्रमण का खतरा बना रहता है। संक्रमण से दूर रहने के लिए जरूरी है कि आप शाम को घर लौटने के बाद अपने पैरों की साबुन से सफाई करे। पैरों की सफाई करते समय अंगुलियों के बीच के हिस्‍से की भी सफाई करनी चाहिए। कई बार देखा जाता है कि कुछ लोग एडी वाले भाग की सफाई तो करते हैं, लेकिन वे अंगुलियों के बीच जमी गंदगी को साफ नहीं करते।

नंगे पैर घूमने से बचे

कुछ लोगों की आदत होती है कि वे ऑफिस से घर जाने के बाद बिना स्‍लीपर के घूमते रहते हैं। ऐसा करने से भी पैरों में संक्रमण का खतरा बना रहता है। इसलिए जरूरी है कि आप घर लौटने पर पैर धोने के बाद पैरों में स्‍लीपर डालन न भूलें। यह आदत आपको हमेशा पैरों में होने वाली परेशानी से बचाएं रखेगी।

पैरों को कोमल बनाए पेडिक्‍योर

महीने में दो बार पेडिक्‍योर कराने से पैरों की खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं। यदि आप नियमित पेडिक्‍योर कराती हैं, तो आपके पैर हमेशा के लिए मुलायम और नमी मुक्‍त रहेंगे। पेडिक्योर में पैरों की अंगुलियों की सफाई के साथ ही पैरों का व्यायाम भी कराया जाता है। आप चाहें तो पार्लर के अलावा घर पर भी पेडिक्‍योर करा सकती हैं।


मॉश्‍चराइजर का प्रयोग

यदि आपकी एडि‍यां शुष्‍क और फटी हुई हैं, तो आप त्‍वचा विशेषज्ञ से इसका उपचार करा सकते हैं। त्‍वचा विशेषज्ञ मॉश्‍चराइजर (नमी युक्‍त) पदार्थों के इस्‍तेमाल से आपकी एडियों को मुलायम बनाएंगे। जिससे आपको एडी फटने की समस्‍या से राहत मिलेगी।

जुराब पहनें 

बिना जुराब के जूते पहनना, पैरों में संक्रमण का कारण बन सकता है। जितना जरूरी पैरों में जूते पहनना है, उतना ही जरूरी जुराब पहनना भी है। कई बार हम जल्‍दी में जुराब पहनने का आलस कर जाते हैं और खाली जूते ही पहन लेते हैं, जो कि पैरों के गलत है।

पैरों मे होना वाला संक्रमण आपकी खूबसूरती के साथ सेहत पर भी असर डालता है, इसलिए अपने पैरों की नियमित सफाई कर संक्रमण से बचना चाहिए।

 

 

 

 

Read More Articles On Feet Care In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES14 Votes 3982 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर