अल्सर को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 20, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Junk foodपहले स्वास्थ्य विशेषज्ञ ऐसा मानते थे की पेट के घाव (अल्सर्स) मुख्यतः तनाव एवं गलत खाद्य पदार्थों के सेवन से होते थे। लेकिन अब यह स्पष्ट हो गया है की पेट के घाव होने के मुख्य कारण हेलिकोबेक्टर पाइलोरी बैक्टीरिया होते हैं। जो व्यक्ति पेट के अल्सर के शिकार होते हैं, डॉक्टर उन्हें एंटीबायोटिक दवाएं,एंटा एसिड्स और एसिड ब्लॉकर्स देते हैं।

ऐसे में कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जो दवाओं के प्रभाव को कम करते हैं तथा घाव की तीव्रता को बढ़ाते हैं।

गर्म मसाले

गर्म मसाले पेट के अल्सर को जल्दी ठीक होने नहीं देते एवं आपकी समस्या को और बढ़ाते हैं। अतः जब तक अल्सर पूरी तरह से ठीक न हो जाये, गर्म मसाले से परहेज करें। हरी मिर्च या लाल मिर्च का सेवन पूरी तह से बंद कर दें।

कैफीन अथवा कॉफ़ी

ऐसे खाद्य पदाथ जिनमें कैफीन मिला हुआ हो, आपके पेट के अल्सर को बढाते हैं।     कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों का उपभोग करने से पेट में एसिड (अम्ल) के उत्पादन में बढ़ोतरी होने लगती है जिसके कारण आपकी समस्या बढती है। पेट में अम्ल की बढ़ोतरी होने से आपके पेट का घाव उत्तेजित होता है और पेट दर्द या अन्य तकलीफों में बढोतरी होने लगती है।

कैफीन चाय, कॉफी, चॉकलेट, कोला, शीतल पेय, और अन्यकार्बोनेटेड शीतल पेय के जैसे पेय और खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। इसलिए यदि आपको अल्सर की जरा भी शिकायत है तो  इन पेय या खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें ।

दूध


पहले के ज़माने में अकेले दूध को अल्सर से राहत पाने के लिए एंटा एसिड्स  की तरह सेवन किया जाता था। लेकिन ऐसा देखा जाता था कि शुरुआत में  अल्सर के रोगियों को इस उपाय से अस्थायी राहत तो मिल जाती थी लेकिन बाद में दूध पीने से अल्सर के लक्षण बढ़ने लगते थे। फिर यह तथ्य सामने आया कि


दूध पेट में एसिड के स्राव को बढ़ावा देता है, जो अल्सर के साथ जुड़े जलन और दर्द को बढ़ावा देते हैं। इसलिए जब तक डॉक्टर दूध पीने की सलाह न दें, अल्सर के रोगियों को दूध पीने से परहेज करना चाहिए।

पशुओं का मांस  (मीट)


पशुओं के मांस में प्रोटीन एसिड उच्च मात्रा में होते हैं। इसे पचाने के लिए आपके पाचन तन्त्र को काफी काम करना पड़ता है जिसकी वजह से काफी मात्रा में अम्ल का स्राव होता है। ऐसा होने से आपकी तकलीफ बढती है। इसलिए अगर आप मांस खाने के शौक़ीन हैं तो तब तक इसे न खाएं जब तक आपका अल्सर पूरी तरह से ठीक न हो जाये।

अम्लीय खाद्य पदार्थ


अल्सर के मरीज का पाचन तंत्र क्षतिग्रस्त हो जाता है। पाचन तंत्र के क्षतिग्रस्त क्षेत्र में एसिड प्रवेश करने लगता है जिसकी वजह से अक्सर पेट में जलन, दर्द इत्यादि की शिकायत बढ़ने लगती है। खट्टे फल जैसे टमाटर, संतरा, टमाटर का रस, नींबू के रस, नींबू, अनानास, जेली और जाम अम्लीय खाद्य पदार्थों के उदाहरण हैं। आम दिनों में या आम लोगों को ये खाद्य पदार्थ बहुत हीं फायदा पहुंचाते हैं लेकिन अगर आप अल्सर के मरीज हैं तो इनका सेवन आपके लिए उचित नहीं है।

शराब


शराब अल्सर की समस्या को बहुत बढ़ाता है अतः अल्सर के मरीजों को शराब के सेवन से दूर रहना चाहिए।

सावधानी


अल्सर के मरीजों को ज्यादा देर खाली पेट नहीं रहना चाहिए क्योंकि इससे अम्ल का स्राव बढ़ता है जो आपकी तकलीफ को बढाता है।


सलाह


अल्सर के मरीजों को भरपूर पानी पीना चाहिए और मट्ठे का सेवन करना चाहिए।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES64 Votes 16804 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर