शादी टूटने के पांच इशारे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 31, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कहते हैं विवाह सात जन्‍मों का बंधन होता है, लेकिन क्‍या वास्‍तव में ऐसा ही होता है। रिश्‍ता निभाने के लिए होता है, लेकिन वही रिश्‍ता अगर बोझ बन जाए तो उसका छोड़ना बेहतर। रिश्‍तों को निभाने के लिए हर जरूरी कोशिश करनी चाहिए, लेकिन जब हर रास्‍ता बंद नजर आये, तो बेहतर है कि राहें जुदा कर ली जाएं। आखिर उस राह पर चलने का फायदा ही क्‍या, जिसमें आप साथ तो हों, लेकिन पास न हों, सफर तो एक हो, लेकिन हमसफर न हों। और जब अहसास हो जाए कि एक राह पर चलते हुए भी मंजिलें अलग हो चुकी हैं, तो बेहतर यही रहेगा कि राहें बदल ली जाएं।

[5:34:52 PM] nachiketasharma1: ये इशारे आपकी शादी टूटने के हो सकते हैं।रिश्‍तों में रस होना बहुत जरूरी है। रसहीन रिश्‍ते अधिकतर परेशानी ही देते हैं। हालांकि, अलग होने का फैसला करना आसान नहीं होता। निजी, सामाजिक, पारिवारिक, आर्थिक और अन्‍य कई कारण किसी न किसी वजह से आपके पैरों को बांधे रखते हैं। लेकिन, स्‍व का बलिदान भी सही नहीं। अपने अस्तित्‍व को खोना समझदारी नहीं है। जब बात आपके वजूद पर आकर रुक जाए, तो कड़ा फैसला लेना ही पड़ता है।

 

लेकिन, क्‍या रिश्‍ते यूं ही अचानक टूट जाते हैं। नहीं... सतह पर भले ही सब सामान्‍य नजर आ रहा हो, लेकिन अंदर ही अंदर काफी हलचल चलती रहती है। भीतर उठ रहे उस गुबार को बस एक मौके की तलाश होती है। और दिन सब सीमायें समाप्‍त हो जाती हैं। और आखिर वो मुश्किल घड़ी आ ही जाती है, जब आपको इस बारे में एक कड़ा फैसला लेना ही पड़ता है।

 

[इसे भी पढ़ें : शादी के परामर्श के फायदे]

 

शादी टूटने के संकेत -

नजरें छिपाना
शाम को रंगीन बनाने के लिए आप अपने पार्टनर के साथ किसी होटल में बैठे हों, मधुर संगीत बज रहा है लेकिन आपके पार्टनर की नजर आपसे कहीं दूर है। इसके अलावा आपसे बातचीत के दौरान उसका ध्‍यान कही और है, वह आपमें बिलकुल दिलचस्‍पी नही ले रहा है। इसका मतलब आपके पार्टनर का रुझान आपके प्रति कम हो गया है। यह शादी तोड़ने की शुरूआत हो सकती है।

 

सेक्‍स के प्रति उदासीन
सुखी वैवाहिक जीवन के लिए शारीरिक संबंध बहुत महत्‍वपूर्ण हैं। आपका पार्टनर बेड पर है लेकिन शारीरिक संबंधों के प्रति वह उदासीन है। आपके उकसाने के बावजूद भी वह आपसे सेक्‍स संबंध बनाने में कोई रुचि नही ले रहा है। शारीरिक संबंध के प्रति उसका रवैया अटपटा सा है। यह इस बात का इशारा है कि शायद अब उसकी आपमें कोई दिलचस्‍पी नहीं। वह आपसे जिस्‍मानी संबंध नही रखना चाहता है।

 

दूसरों को ज्‍यादा तरजीह देना
शादी कुछ दिनों बाद आपके घर में आपकी अहमियत कम हो रही है। आपको जिंदगी भर साथ लेकर चलने वाली कस्‍मे खाने वाला जिंदगी के बीच मंझधार में आपको अकेला छोड़ देता है। अपने ही घर में आपको पराया बना देता है। कभी आपको सबसे ज्‍यादा चाहने वाला इन्‍सान आपसे ज्‍यादा अपनी मां, भाई, बहन और पड़ोसियों को इज्‍जत दे रहा है। इसका मतलब उसकी रुचि आपमें अब नही रही, ऐसे में उसका साथ छोड़ना ही बेहतर होगा।

 

[इसे भी पढ़ें : क्‍या आप शादी के लिए तैयार हैं]

 

वादों को तोड़ना
शादी की शुरुआत में आपका पार्टनर आपकी हर बात को तवज्‍जो देता था। आपसे किये गये वादों को निभाता था, लेकिन अब वो आपको नजरअंदाज करने लगा है। आपकी बातों को अनसुना करने लग जाता है। पहले वह ऑफिस से छूटते सीधे घर आता था, लेकिन अब वह देर रात घर आता है। सप्‍ताहांत में आपके साथ वह घूमने नही जाता। रिश्‍ते के बूढ़े होने का यह भी एक संकेत है।

 

स्‍वार्थी और कठोर
आपका पार्टनर अब अपने बारे में ही सोचता है। आपकी इच्‍छाओं और भावनाओं का निरादर करता है। वह आपके प्रति उदासीन और कठोर हो गया है। उसकी जिंदगी में आपकी अहमियत समाप्‍त हो गई है, वह केवल अपने बारे में सोचता है। उसका बर्ताव चिड़चिड़ा हो गया है। हर छोटी-छोटी बात पर गस्‍सा होना, छोटी बात को लेकर झगड़ा करना उसकी आदत बन गई है। इनसे छुटकारा पाने के लिए अलग होना ही बेहतर है।

 

ऐसा कहा जाता है कि शादी जन्‍म-जन्‍मांतर का रिश्‍ता होता है, इसलिए इसको छोटी-छोटी बातों पर तोड़ना नही चाहिए। अगर जरूरत पड़े तो इस रिश्‍ते को चलाने के लिए समझौता भी कीजिए।

 

 

Read More Articles on Sex and Relationship in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES36 Votes 7328 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर