एलर्जी होने पर करें ये प्रा‍थमिक उपचार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 17, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एलर्जी होने के के पीछे के कारणों को जानना है जरूरी।
  • एलर्जी खाद्य पदार्थ के अलावा दूसरी वस्‍तुओं से भी हो सकता है।
  • एलर्जी सिरदर्द, ज़ुकाम, सूजन, सिरदर्द आदि रूप में हो सकते हैं।
  • बिना चिकित्‍सक की सलाह के दवाओं का इस्‍तेमाल न करें।

ऐसी कोई भी चीज जिसे शरीर स्वीकृति नहीं देता, उससे एलर्जी होने का खतरा बना रहता है। सामान्यतः एलर्जी के समय विशेषज्ञों का परामर्श लेना ही बेहतर होता है। लेकिन एलर्जी के स्रोत तथा इसके कारणों को जानने से हम इसका उपचार घर में ही कर सकते हैं। अतः यह जानना बेहद जरूरी होता है कि आखिर हमें किस चीज से एलर्जी है। अकसर लोगों को लगता है कि सिर्फ खाद्य पदार्थों से ही एलर्जी होती है। वास्तव में एलर्जी किसी भी बाहरी तत्व से हो सकती है मसलन परफ्यूम, फैब्रिक, फूल आदि। एलर्जी होने पर त्वचा में खराश, ज़ुकाम, आंखों में नमी आदि सामान्य समस्याएं होती हैं।

Allergy in Hindi
एलर्जी के लक्षण

बहरहाल, इससे पहले कि हम एलर्जी से बचाव के तरीकें जानें, यह जानना आवश्यक है कि एलर्जी होने का कोई बंधा बंधाया नियम नहीं है। कुछ लोगों को एलर्जी होने पर खुजली आदि समस्या होती है तो कुछ लोगों में अतिसार यानी डायरिया, सूजन, पाचन सम्बंधी समस्याएं भी देखने को मिलती हैं। कहने का मतलब यह है कि एलर्जी किसी भी रूप में सामने आ सकती है। हालांकि कुछ निचले स्तर के एलर्जी से घरेलू उपचारों के जरिये बचा जा सकता है। यदि आपको सूजन, आंखों में लालिमा, खुजली आदि है तो इसके लिए आप बर्फ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ क्रीम का उपयोग भी खराश पर किया जा सकता है। कोई भी असरकारक दवा लेने से पहले बेहतर है कि चिकित्सकों से संपर्क करें।


गर हो पौधे से एलर्जी

कुछ लोगों को एलर्जी पौधे या फूल से भी हो सकती है। ऐसे में अगर संभव हो तो उस फूल विशेष से दूर रहें। अगर किसी कारणवश आप उसके संपर्क में आ गए हैं तो हो सकता है आपको छींक आने लगे, सिर में हल्का हल्का दर्द होने लगे। ऐसे में जरूरी यह है कि आप तुरंत ठंडे पानी से नहाएं। साबुन के इस्तेमाल से बचें। शावर जेल का भी उपयोग न करें तो बेहतर होगा। दरअसल इनके इस्तेमाल से एलर्जी में बढ़ोतरी की आशंका हो सकती है।
Allergic Reactions Treatment in Hindi

गर हो कीट के काटने से एलर्जी

कीटों के काटने से अंग विशेष में तुरंत रिएक्शन होता है। सूजन हो सकती है, लालिमा हो सकती है यहां तक कि शरीर में कीट का ज़हर भी फैल सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने अंग विशेष को किसी एंटीसेप्टिक साबुन से धोइये। सूजन में बर्फ भी लाभकारी हो सकती है। यदि स्थिति गंभीर हो जाए तो तुरंत विशेषज्ञ से संपर्क करें।

जैसा कि पहले ही जिक्र किया गया है कि एलर्जी से मुक्ति पाने के लिए उसके स्रोत को जानना आवश्यक है। सबसे पहले अपने इर्द-गिर्द मौजूद उन चीजों को हटाएं जिससे आपको एलर्जी होने का खतरा है। मसलन डाई, परफ्यूम, क्रीम आदि। कोई खाद्य पदार्थ खरीदने से पहले उसके लेबल को अवश्य पढ़ें। हो सकता है कि उसमें किसी ऐसे मसाले का उपयोग किया गया है जिसे आपका शरीर स्वीकार करने की स्थिति में न हो।

ऐसी चीजें कतई न खरीदें। इन सबके अलावा एक महत्वपूर्ण बात यह भी है कि कुछ दवाओं से भी एलर्जी हो सकती है। दवाओं को हमेशा सामान्य तापमान में रखें। यदि निर्देश दिये हैं तो ठंडी जगह में रखें।

 

Image Source - Getty

Read More Articles on Allergy in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES21 Votes 4077 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर