पेट की हर बीमारी का इलाज है रसोई में मिलने वाली ये 5 रुपये की चीज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 23, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पेट के लिए घरेलू उपचार।
  • आंखों की रोशनी के लिए सौंफ का सेवन।
  • गैस और कब्‍ज से राहत दिलाता है सौंफ। 

आजकल बिगड़ते लाइफस्टाइल, भागदौड़ भरी जिंदगी और तनाव भरा जीवन होने के चलते लोगों में पेट के रोग बहुत ही आम बात हो गई है। फास्ट फूड के बढ़ते सेवन और घर के खाने के अभाव के चलते पेट के रोग होना लाजमी है। कब्ज, गैस, अपच, सीने में जलन और खट्टी डकार जैसी समस्याओं के लिए किचन में मौजूद सौंफ अचूक उपाय है। सौंफ में कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है। सौंफ की सबसे अच्छी खासियत ये है कि ये हर उम्र के व्यक्ति को फायदा करती है। सौंफ में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, पोटैशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। आइए जानते हैं सौंफ खाना स्वास्‍थ्‍य के लिए कितना फायदेमंद हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : सफेद बालों को काला करने के 7 घरेलू नुस्खे

पेट के लिए सौंफ 

पेट की समस्याओं के लिए सौंफ बहुत फायदेमंद होती है। यदि आपको पेट में दर्द होता है तो भुनी हुई सौंफ को हल्का हल्का चबाएं। सौंफ की ठंडाई पीने से भी आराम मिलता है। इससे पेट की गर्मी शांत होती है और जी मिचलाना भी बंद होता है। इसके अलावा सौंफ खाने से पेट और कब्ज की शिकायत भी दूर होती है। सौंफ को मिश्री या चीनी के साथ पीसकर चूर्ण बना लीजिए, रात को सोते वक्त लगभग 5 ग्राम चूर्ण को हल्केस गुनगने पानी के साथ सेवन कीजिए। पेट की समस्या नहीं होगी व गैस व कब्ज दूर होगा।

इसे भी पढ़ें : खतरनाक साबित हो सकती है गॉलब्लैडर की समस्या

सौंफ के अन्य फायदे

  • आंखों की रोशनी सौंफ का सेवन करके बढ़ाया जा सकता है। सौंफ और मिश्री समान भाग लेकर पीस लें। इसकी एक चम्मच मात्रा सुबह-शाम पानी के साथ दो माह तक लीजिए। इससे आंखों की रोशनी बढती है।
  • डायरिया होने पर सौंफ खाना चाहिए। सौंफ को बेल के गूदे के साथ सुबह-शाम चबाने से अजीर्ण समाप्त होता है और अतिसार में फायदा होता है।
  • खाने के बाद सौंफ का सेवन करने से खाना अच्छे से पचता है। सौंफ, जीरा व काला नमक मिलाकर चूर्ण बना लीजिए। खाने के बाद हल्के गुनगुने पानी के साथ इस चूर्ण को लीजिए, यह उत्तम पाचक चूर्ण है। 
  • खांसी होने पर सौंफ बहुत फायदा करता है। सौंफ के 10 ग्राम अर्क को शहद में मिलाकर लीजिए, इससे खांसी आना बंद हो जाएगा।
  • हाथ-पांव में जलन होने की शिकायत होने पर सौंफ के साथ बराबर मात्रा में धनिया कूट-छानकर, मिश्री मिलाकर खाना खाने के पश्चात 5 से 6 ग्राम मात्रा में लेने से कुछ ही दिनों में आराम हो जाता है।
  • अगर गले में खराश हो जाए तो सौंफ चबाना चाहिए। सौंफ चबाने से बैठा हुआ गला भी साफ हो जाता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies

 
Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2664 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर