क्या प्यार पर भारी पड़ रहा है मोटापा? तो आजमाएं ये सीक्रेट्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 03, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • समाज में सुंदरता की परिभाषा काफी संकुचित है।
  • बढ़ता वजन बनता है डिप्रेशन का कारण। 
  • अपने शरीर को लेकर हमेशा कंफर्टेबल रहें।

हम जैसा खाते हैं, वैसा सोचते हैं और जैसा सोचते हैं और जैसा सोचते हैं वैसी ही हमारी जिंदगी होती है। दुर्भाग्य से हमारे समाज में सुंदरता (शरीर की सुंदरता) की परिभाषा काफी संकुचित है। गोरा, छरहरा होना और शरीर का एक सांचे में ढला होना ही असली सुंदरता माना जाता है। स्त्रियों के लिए सुंदरता के पैमाने इसी तरह तय किए जाते हैं। बड़ी बात ये है कि स्त्रियां स्वयं भी इसी परिभाषा में खुद को फिट करने की कोशिशें करती रहती हैं। सच यह है कि 25 की उम्र में कमर की माप बेशक 23-24 इंच हो, 40 की उम्र में इसका तीन-चार इंच बढऩा सामान्य स्थिति है।

इसे भी पढ़ें : अपनी गर्लफ्रेंड से 5 तरह के झूठ बोलते हैं पुरूष, जानें क्‍यों

कई लोग अपने बढ़ते वजन और समाज के ताने को सुनकर डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। उन्हें लगता है कि वो बिल्कुल भी अच्छे नहीं हैं। लेकिन जब इस नकारात्मका का असर आपकी पर्सनल लाइफ और आपके पार्टनर पर पड़ता है तो कई बार रिश्ते के टूटने की नौबत भी आ जाती है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने शरीर को लेकर कंफर्टेबल रहें और मोटापे को लेकर अधिक न सोचें। चिंता, दबाव व अवसाद से मोटापा बढ़ता है। समस्या के प्रति सकारात्मक सोच जरूरी है। साथ ही नेगेटिव बॉडी इमेज से बाहर निकलर सोचें। तभी आप अपने पार्टनर के साथ एक हेल्दी लाइफ जी सकते हैं। आइए जानते हैं आप बढ़ते मोटापे से अपने रिश्ते को कैसे बचा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : शादी के बंधन को मजबूत रखने का 10 बेस्‍ट फॉर्मूला

ऐसे करें शुरुआत

  • वजन घटाने का लक्ष्य बनाएं। यह लक्ष्य व्यावहारिक हो। जैसे छह महीने में 5-6 किलो तक वजन घटाना हेल्दी तरीका है।
  • पौष्टिक खाना खाएं, ताकि कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर सामान्य रहे। लो फैट डाइट, सैलेड, हरी सब्जियां और फ्रूट्स कई बार जादुई असर दिखाते हैं। इनसे वजन बहुत कम न भी हो, शुगर व कोलेस्ट्रॉल स्तर संतुलित रह सकता है।
  • हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं। संतुलित दिनचर्या से शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत मदद मिलती है।
  • ट्रेनर या एक्सपट्र्स की मदद से ऐसे व्यायाम करें, जिससे जेनिटल ऑर्र्गंस में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो सके। ये आपके रिश्ते को सुचारु रूप से चलाने का काम करती हैं। 
  • एक्सपर्ट्स का मानना है कि हफ्ते में कम से कम तीन दिन 20-25 मिनट योग, ब्रिस्क वॉक और साइक्लिंग से शरीर में रक्त-संचार अच्छा होता है। अगर शरीर स्वस्थ रहेगा आपकी आपका रिलेशनशिप भी अच्छा होगा। 
  • अपने व्यक्तित्व को संवारने के लिए खुद अपने बारे में सोचें। खुद को आकर्षक महसूस करें, खूबसूरत दिखने की कोशिश करें। अपने बारे में अच्छा फील करें।
  • अपने शरीर से प्यार करें, उसे हर खामी के साथ स्वीकार करें। ऐसा ना करने पर कई बार कई बार ये समस्याएं डिप्रेशन का कारण भी बनती हैं।
  • एक्सपर्ट्स और तमाम शोधों की मानें तो स्त्रियों पर सामाजिक दबाव पुरुषों की तुलना में अधिक होते हैं। पति का सहयोग भी इस मामले में उनकी ज्य़ादा मदद नहीं कर पाता। यदि स्त्री खुद को फिट और खूबसूरत नहीं मानती या अपने शरीर को सहज ढंग से स्वीकार नहीं कर पाती तो समाज भी उसे उसी रूपप में स्वीकारने लगता है। 
  • शोध बताते हैं कि लगभग 30 प्रतिशत ओवरवेट लोग अपनी पर्सनल और कपल लाइफ को अच्छी तरह नहीं जी पाते है। इसलिए जरूरी है कि खुद पर ध्यान दें और समाज की स्टीरियोटाइप्ड बॉडी परिभाषा को नजरअंदाज करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Relationship

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1614 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर