ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन से जुड़े तथ्‍य

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 12, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन, एक ओरल इंफेक्‍शन है।
  • मुंह के अंदर प्राकृतिक संतुलन बिगड़ने के कारण होता है।
  • इंफेक्‍शन होने पर मुंह या जीभ पर सफेद धब्‍बे हो जाते है।  
  • दंतचि‍कित्‍सक की सलाह से निर्धारित एंटी-फंगल दवाये लें।

ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन, कैंडिडा नाम के फंगस या यीस्‍ट के कारण होता है। आमतौर पर, प्रत्‍येक प्रकार के जीव अन्‍य को जांच में रखते हुए, कैंडिडा विभिन्‍न प्रकार के अच्‍छे बैक्‍टीरिया के साथ मुंह में ही मौजूद होता है। लेकिन सामंजस्‍यपूर्ण संतुलन में गड़बड़ी के कारण यह यीस्‍ट के विकसित होने का रास्‍ता साफ करता है, जिसके परिणामस्‍वरूप मुंह में यीस्‍ट इंफेक्‍शन होता है।

oral yeast infection

ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन के लक्षण और जोखिम कारक

  • मुंह या जीभ पर सफेद धब्‍बे
  • मुंह के अंदर लालिमा और दर्द
  • मुंह के कोने में दरारें

ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन का खतरा बढ़ने के कारण

  • कैंसर, एचआईवी या एड्स या किसी और स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं के कारण इम्‍यून सिस्टम में कमजोरी।
  • एंटीबायोटिक, कोर्टिकोस्टेरोइड या प्रतिरक्षादमनकारी दवाओं का प्रयोग।
  • यीस्‍ट इंफेक्‍शन से ग्रस्‍त व्‍यक्ति के साथ ओरल यौन संपर्क।
  • अस्‍थमा के लिए सांस कोर्टिकोस्टेरोइड का उपयोग।
  • अधिक युवा या बुढ़ा होना।
  • डायबिटीज की समस्‍या।
  • डेन्‍चर का उपयोग।
  • कीमोथेरेपी।

शिशुओं में ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन बहुत कम विकसित होता है, और इसे तब तक गंभीर नहीं माना जाता, जब तक संक्रमण एक या दो सप्‍ताह से अधिक तक नहीं बना रहता। न्यूयॉर्क सिटी में न्यूयॉर्क प्रेस्बिटेरियन हॉस्पिटल के प्रोफेसर ऑफ क्‍लीनिकल मेडिसिन और डारेक्‍टर आइरिस कैंटर वूमैन हेल्‍थ सेंट्रर के एमडी, ओर्लि एटीन्गिन के अनुसार, वयस्‍कों में इंफेक्‍शन केवल बहुत गंभीर मामलों में, मौखिक स्‍वच्‍छता की कमी से संबद्ध होते है। लेकिन कुछ मामलों में ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन भारी क्षय और उपेक्षा का परिणाम होता है, इस तरह के मामलों में, बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन बहुत ही आम और गंभीर हो सकता है।

cigarette smoke in hindi


सिगरेट में मौजद तम्‍बाकू की अधिक मात्रा भी कभी-कभी ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन का कारण होता है क्‍योंकि धूम्रपान मुंह के अस्‍तर की सतह पर ऊतक में जलन पैदा कर, यीस्‍ट के साथ ही अन्‍य जीवों के आक्रमण को विकसित करना आसान बनाता है।

ओरल यीस्‍ट संक्रमण का निदान और उपचार

डॉक्‍टर या दंत चिकित्‍सक आमतौर पर बस मुंह या जीभ पर विशेष मखमली सफेद घावों को देखकर ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन का निदान करने में सक्षम होता है। लेकिन अगर आपको कोई संदेह नहीं है तो निदान के लिए संक्रमण की पुष्टि करने के लिए सफेद घावों में से थोड़ा निकाल कर माइक्रोस्‍कोप परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में भेजा जाता है।

उपचार में 5 से 10 दिनों के लिए एंटी-फंगल माउथवॉश या लाजिन्‍ज (औषधीय कैंडी) का उपयोग शामिल होता है। साथ ही डॉक्‍टर एटीन्गिन, मुंह में बैक्‍टीरिया से यीस्‍ट के संतुलन को बनाये रखने के लिए प्रोबायोटिक्‍स लेने की भी सिफारिश करते है। प्रोबायोटिक्‍स में सामान्‍य रूप से शरीर में पाये जाने वाले बैक्‍टीरिया की तरह 'गुड बैक्‍टीरिया' होते हैं। यह जीवित बैक्‍टीरिया कुछ डाइटरी सप्‍लीमेंट और दही के कुछ ब्रांडों में पाया जाता है। इन उत्पादों में प्रोबायोटिक्स की राशि, व्यापक रूप से भिन्न होती है, इसलिए एटीन्गिन इसे खरीदने से पहले लेबल की तुलना ध्‍यान से करने की सलाह देता है।  

स्‍वस्‍थ लोगों में ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन के परिणाम कम गंभीर होते है, लेकिन कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में इंफेक्‍शन घेघा के साथ रक्‍त के माध्‍यम से अन्‍य अंगों में भी फैल जाता है, इसलिए इसका शीघ्र और प्रभावी उपचार महत्‍वपूर्ण होता है। इसके अलावा ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन मधुमेह और कभी-कभी मानव इम्यूनो वायरस (एचआईवी) संक्रमण जैसी बीमारियों का संकेत हो सकता है।

oral hygiene in hindi

ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन की रोकथाम

अमेरिकन डेंटल एसोसिएशन ने ओरल यीस्‍ट इंफेक्‍शन के खतरों को कम करने के लिए यह सुझाव दिये है:

  • ओरल स्‍वच्‍छता आवश्‍यक है। और अगर आप डेन्‍चर पहनते हैं तो उन्‍हें नियमित रूप से साफ करें और सोते समय इसे हटा दें।
  • कई बार ड्राई यीस्‍ट को कम करने के लिए लार विकल्‍प एक अच्‍छा माध्‍यम हो सकता है।
  • अगर आपको मधुमेह जैसे ओरल यीस्‍ट इंफेक्शन के साथ जुड़ी अं‍तर्निहित स्‍वास्‍थ्य समस्‍या है, तो आपको इसे नियंत्रण में रखने की कोशिश करनी चाहिए।  
  • धूम्रपान न करें।
  • डॉक्‍टर और दंतचि‍कित्‍सक की सलाह से निर्धारित एंटी-फंगल दवाये लें।


अगर आप ओरल यीस्‍ट संक्रमण के किसी भी संकेत या लक्षण का अनुभव करते हैं तो इसके उपचार और जल्‍द ही अपने सिस्‍टम के प्राकृतिक संतुलन को बनाये रखने के लिए तुरंत अपने डॉक्‍टर के पास जाये।  


Read More Articles on Oral Health in Hindi



 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES15 Votes 3108 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर