रखना चाहते हैं आंखों की खूबसूरती को बरकरार, तो फॉलो करें ये टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 02, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • रखना चाहते हैं आंखों की खूबसूरती को बरकरार।
  • आंखों की खूबसूरती को ऐसे रखें बरकरार।
  • बढ़ती उम्र की वजह से कई ऐसी समस्याएं पैदा होती हैं

थकान, प्रदूषण और बढ़ती उम्र की वजह से कई ऐसी समस्याएं पैदा होती हैं, जो आंखों की सुंदरता को प्रभावित करती हैं। अगर शुरू से ही कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो इससे आपकी आंखों की खूबसूरती बरकरार रहेगी। जब भी हम किसी से पहली बार मिलते हैं तो सबसे पहले हमारा ध्यान उसकी आंखों की ओर जाता है। अगर आंखें स्वस्थ और चमकदार हों तो इससे चेहरे का आकर्षण अपने आप बढ़ जाता है, लेकिन डार्क सर्कल्स, आंखों के चारों ओर सूजन और बारीक रेखाएं आदि ऐसी समस्याएं हैं, जिससे चेहरे की सारी रौनक खत्म हो जाती है। आइए आज आपको बताते हैं क्यों होती हैं आंखों से संबंधित समस्या— 

इसे भी पढ़ें : छोटी आंखों के लिए घर पर ही मेकअप करने के टिप्स

आंखों में सूजन

आपने भी यह नोटिस किया होगा कि कुछ स्त्रियों की आंखें देखकर ऐसा लगता है कि वे अभी-अभी सोकर उठी हों। सर्दी-ज़ुकाम, एलर्जी, कंप्यूटर पर लंबे समय तक काम करने, नींद की कमी या बहुत ज्य़ादा देर तक सोने की वजह से भी ऐसी समस्या होती है। इसके अलावा थायरॉयड या किडनी संबंधी समस्या होने पर भी आंखों के आसपास सूजन आ सकती है।

क्या है इसके बचाव?

सुबह सोकर उठने के बाद थोड़ी देर तक आंखों के आसपास सूजन दिखाई देना स्वाभाविक है। अगर आपके साथ ऐसी समस्या हो तो चिंतित न हों क्योंकि दोपहर तक ऐसी सूजन अपने आप ठीक हो जाती है। अगर यह सूजन ज्य़ादा देर तक बनी रहती है तो इसे दूर करने करने के लिए आंखें बंद करके उसके ऊपर पांच मिनट तक ठंडे पानी में भिगोया हुआ टीबैग या खीरे के स्लाइस रखें। इससे आंखों की सूजन आसानी से कम हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए पेट के बल न सोएं। इससे आंखों के आसपास की मांसपेशियां दब जाती हैं और सूजन दिखाई देने लगती है।

इसे भी पढ़ें : ऐसे ना लगाएं आईलाइनर, वर्ना छिन जाएगी आंखों की रोशनी

sअगर यहां बताए गए घरेलू उपचार अपनाने के बाद भी आंखों का सूजन दूर न हो तो त्वचा रोग विशेषज्ञ से सलाह लें। वैसे आजकल बाज़ार में विटमिन ए, के और विटमिन सी से युक्त क्रीम और सीरम भी उपलब्ध हैं, जिनका इस्तेमाल इस समस्या से राहत दिलाता है। अगर समस्या ज्य़ादा गंभीर हो तो इसे दूर करने के लिए बोटॉक्स के इंजेक्शन भी लगाए जाते हैं, पर इससे आंखों की दृष्टि कमज़ोर होने का खतरा रहता है। इसलिए त्वचा रोग विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद ही यह इंजेक्शन लगवाने का निर्णय लेना चाहिए।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें : ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Beauty

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2892 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर