निकट दृष्टि दोष को कम करने वाले व्यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 21, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आंखों को स्वस्थ रखता है व्यायाम करना।
  • निकट दृष्टि दोष से बचने के लिए व्यायाम की मदद लें।
  • व्यायाम के दौरान परेशानी होने पर डॉक्टर से संपंर्क करेें।
  • व्यायाम की सही विधि के बारे में जरूर जानें।

निकट दृष्टि दोष यानि मायोपिया से बचने के लिए आंखों की एक्सरसाइज की सलाह दी जाती है। व्यायाम की मदद से आंखों की रोशनी तो बढ़ती ही है साथ ही आंखें स्वस्थ भी रहती है।

व्यायाम का नाम सुनते ही अगर आपको ऐसा लगता है कि यह बहुत समय लेने वाला या मुश्किल काम है तो आप गलत है। हम जो आपको व्यायाम बताने जा रहे हैं उसमें ज्यादा समय नहीं लगता है। आप इन्हें अपने डेली रुटीन में से थोड़ा सा समय निकाल कर आसानी से कर सकते हैं। आइए जानें निकट दृष्टि दोष दूर करने वाले व्यायाम के बारे में।
exercise for myopia

बेट्स  एक्सरसाइज


एक कुर्सी पर आराम से बैठ जाइए। अपनी हथेलियों को आपस में रगड़ें जिससे उनमें गर्माहट आ जाए। अपनी आंखों को बन्द करके उनके उपर अपनी हथेलियों को रखें। लेकिन आंखों पर कोई दबाव न डालें। नाक को हथेलियों से न ढकें। यह सुनिश्चित करें कि हथेलियों और आंख के बीच प्रकाश किरणों के जाने के लिए कोई रास्ता न बचे और प्रकाश किरणे आंख में न जा सकें। आपको फिर भी कुछ रंग बिरंगे आकार दिख सकते हैं। इसी पर अपना ध्यान केन्द्रित करें। धीरे-धीरे गहरी साँसे लेते हुए तथा किसी सुखद घटना को याद करते हुए किसी दूरस्थ दृष्य की कल्पना करें। धीरे-धीरे हथेलियों को आंखों से हटा लीजिए। इस क्रिया को तीन मिनट या इससे अधिक करें।

हॉट एंड कोल्ड कंप्रेस

  • दो तौलिए लीजिए। पहले तौलिए को गरम पानी में भिगो लीजिए, दूसरे को ठंडे पानी में भिगो लें। एक तौलिए को लेकर उसे अपने चेहरे पर आंख की भौंहों, बन्द आंख की पुतलियों और गालों पर हल्के से दबाइए। एक बार गरम तौलिए से और फिर ठंडे तौलिए से, फिर गरम से-यह क्रिया करें। अन्त में ठंडे तौलिए से करने के बाद इसे बंद करें।
  •  अपनी आंखों को बंद कर लें और उन्हें अपने अंगुलियों के से एक-दो मिनट तक मालिश करें। ध्यान रहे कि आप आंखों को बहुत हल्के से ही दबाएं जिससे आंखों को कोई नुकसान न हो।

exercise for myopia

आंखों की गतिविधि

  • किसी शांत स्थान पर आराम से बैठ जाएं। अपनी आंखों को दक्षिणावर्त (clockwise) घुमाएं, फिर वामावर्त (counter-clockwise) घुमाएं। यह क्रिया पांच बार करें। बीच-बीच में पलकों को झपकाना ना भूलें।
  • दूर के किसी वस्तु पर नजर टिकाएं जो लगभग 50 मी दूर हो। उसके बाद अपने सिर को बिना चलाए धीरे-धीरे करके पास की किसी वस्तु जो 10 मीटर से कम दूरी पर हो पर आंख को फोकस करें। फिर दूर की वस्तु पर आंखों को फोकस करें। ऐसा कम से कम पांच बार करें।
  • अपने सामने एक हाथ की दूरी पर एक पेंसिल पकड़ें। धीरे-धीरे अपने हाथ को नाक की तरफ लाएं और अपनी आंखों से पेंसिल को लगातार देखने की कोशिश करें। यह क्रिया 10 बार करें।
  • दूर रखी किसी चीज पर अपनी दृष्टि फोकस करें , अर्थात उसे देखने की कोशिश करें। अच्छा हो यदि उस वस्तु और उसके पीछें प्रकाश कम हो। यह काम प्रत्येक आधे-एक घंटे बाद कुछ मिनट तक करें।
  • आंख को ऊपर और नीचे गति कराएं।  यह क्रिया आठ बार करें। इसके बाद आंख को दाएं-बाएं गति कराएं। इसे भी आठ बार करें। इस बात का ध्यान रखें कि आपकी आंखें जितना किनारे जा सकती हैं उससे अधिक बलपूर्वक ले जाने की कोशिश न करें क्योंकि इससे लाभ के स्थान पर हानि हो सकती है।
  • इन सभी व्यायामों के बाद आंखों पर हथेलियों को रखकर इसे रिलैक्स करें।
Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES46 Votes 10338 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर