सर्दियों में भी हो सकता है आंखों में इंफेक्‍शन, इन 5 तरीकों से करें देखभाल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 22, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सर्दियों के इस मौसम में आपकी आंखों में जलन
  • किसी तरह की दिक्कत आ रही हो तो उसे नजरअंदाज न करें
  • सर्दियों के मौसम में आप कैसे अपनी आंखों को सुरक्षित रख सकते हैं।

सर्दियों में हम अपने शरीर को ढकने पर तो पूरा ध्यान लगा देते हैं, लेकिन भूल जाते हैं कि हमारे शरीर का एक बेहद नाजुक हिस्सा पूरी सर्दियों खुला ही रहता है। हमारी आंखें सर्द मौसम और बर्फीली हवाओं से बहुत प्रभावित होती हैं। सर्दियों में आंखों में जाने वाली धूल-मिट्टी गर्मियों से अधिक नुकसान पहुंचाती है क्योंकि इस मौसम में आंखों के अंदर धूल जम जाती है और इनफेक्शन पैदा कर सकती है। सर्दियों के इस मौसम में आपकी आंखों में जलन, धुंधला दिखना और देखने में किसी तरह की दिक्कत आ रही हो तो उसे नजरअंदाज न करें। आइये जानते हैं सर्दियों के मौसम में आप कैसे अपनी आंखों को सुरक्षित रख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: बुरी नजर से ही नहीं आंखों के कई रोगों से भी बचाता है काजल

आईड्रॉप्स

सर्दियों में घर से बाहर शुष्क हवाओं और घर के भीतर शुष्क गर्मी के कारण अक्सर ड्राई-आई सिंड्रोम हो जाता है। आंखों में नमी की कमी हो जाना आंखों के लिए बहुत अधिक नुकसानदायक होता है। ऐसी स्थिति में लुब्रिकेटिंग आई ड्रॉप्स के इस्तेमाल से राहत मिल सकती है। ये आई ड्रॉप आपको किसी भी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध हो जाएंगी। ये प्राकृतिक टियर लेयर की मदद करता है और आंसुओं के तुरंत सूख जाने से आंखों को बचाता है।

अधिक पानी पियें

आप ये तो जानते हैं कि जब बाहर गर्मी हो तो अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए लेकिन सर्दियों में ड्राई आई से बचने के लिए हाईड्रेट रहना भी उतना ही जरूरी है, शायद ही आपने इस बात पर ध्यान दिया हो। रोज पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से ड्राई आई की स्थिति में काफी लाभ होता है, खासतौर पर तब जब आप सर्द और शुष्क परिस्थितियों में बाहर निकल रहे हों।

पलकों को झपकाएं ज्यादा

जब आप किसी चीज पर ध्यान लगाते हैं तो आपकी पलकों का झपकना सामान्य से कम हो जाता है। बहुत अधिक ध्यान लगाने पर तो पलकों का झपकना लगभग बंद भी हो जाता है। जैसे मोबाईल स्क्रीन, टीवी आदि की स्क्रीन्स पर देखते हुए। कम पलके झपकाने से आंखें शुष्क हो जाती हैं। इसलिए अगर आपको अपनी आंखों में खुश्की महसूस हो रही है, भारीपन भी हो रहा है तो पलकों को ज्यादा झपकाना शुरू कर दें।

कंप्यूटर से ब्रेक लें

कंप्यूटर और लैपटॉप पर देर तक काम करना आपकी आंखों को शुष्क बनाकर उन्हें थका सकता है। कंप्यूटर पर काम करते हुए थोड़ी थोड़ी देर में ब्रेक लें और अपनी आंखें किसी ओर तरफ करें। इसके लिए एक 20-20-20 नियम है। जब आप कंप्यूटर पर देर तक के लिए काम कर रहे हों, तो हर बीस मिनट में, बीस फुट दूर रखी किसी चीज़ को बीस सेकेंड के लिए देखें।

सन ग्लासेज पहनें

अगर आपको घर के बाहर काफी रहना पड़ता है तो कोशिश करें कि आपने सनग्लासेज़ पहने हुए हों। ये आपकी आंखों की दो तरह से रक्षा करता है। सनग्लासेज लगाने से शुष्क हवाएं सीधे आपकी आंखों में नहीं लगती, जिससे आंखें शुष्क नहीं होती। दूसरा, ये आपकी आंखों को यूवी सुरक्षा प्रदान करते हैं। अगर आप बर्फ के बीच जा रहे हैं तो फिर सन ग्लासेज लगाना आपके लिए बहुत जरूरी हो जाता है क्योंकि बर्फ सूरज के यूवी प्रकाश का 80 प्रतिशत तक रिफ्लैक्ट करता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Eye Care In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1289 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर