थकान मिटानी है तो व्यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 04, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • थकान के शिकार लोगों को करना चाहिए व्‍यायाम।
  • नियमित व्‍यायाम से बढ़ता है ऊर्जा का स्‍तर।
  • व्‍यायाम आपके मूड को भी रखता है दुरुस्‍त।
  • व्‍यायाम करने से शारीरिक रोग भी होते हैं दूर।

काम का बोझ, घर और बाहर का तनाव मौजूदा समय में व्यक्ति की जीवनशैली का एक हिस्सा बन गया है। इससे अक्सर लोगों में थकान की शिकायत होने लगती है। थकान महूसस कर रहे हैं। और आपके मन में सोने का विचार आ रहा है। तो जरा ठहरिये। जूते पहनिये और वॉक पर निकल पडि़ये।

वैज्ञानिक बताते हैं कि नियमित रूप से व्‍यायाम करने से शरीर में ऊर्जा के स्‍तर में इजाफा होता है। यहां तक कि जिन लोगों की थकान की वजह कैंसर और दिल की बीमारियां होती हैं, उन्‍हें भी वॉक करने से फायदा होता है।

exercise fatigue

यह बात कई लोगों को विरोधाभासी लग सकती है। लेकिन, इसे मानने के पूरे वैज्ञानिक आधार मौजूद हैं। शोधकर्ता कहते हैं कि नियमित रूप से व्‍यायाम में ऊर्जा खर्च करने से लंबे समय में आपके ऊर्जा के स्‍तर में इजाफा होता है।

थकान महसूस करने वाले लोग तो व्‍यायाम के बारे में सोचते भी नहीं। लेकिन, विशेषज्ञ मानते हैं कि यदि आप शारीरिक रूप से असक्रिय हैं, तो ऐसे में थकान का असर काफी बढ़ जाता है। और शारीरिक रूप से सक्रिय रहकर थकान के इस असर को कम किया जा सकता है।

हम जिस समाज में रहते हैं यहां ऊर्जा हासिल करने के लिए लोग स्‍पोर्टस ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक या फिर चाय-कॉफी की चुस्कियां लगाते हैं। वे मानते हैं कि उनसे उन्‍हें काफी फायदा होगा। लेकिन, सुबह सवेरे व्‍यायाम करने से उन्‍हें दिन भर के लिए पर्याप्‍त ऊर्जा मिल जाती है।


हालांकि, कई शोध इस बात को प्रमाणित कर चुके हैं कि यदि निष्क्रिय जीवनशैली अपनाने वाले लोग यदि शारीरिक गतिविधियों में संलग्‍न रहें तो उनकी ऊर्जा और जोश में बढ़ोत्‍तरी होती है। लेकिन, बावजूद इसके लोग आमतौर पर ऐसा करने से बचते नजर आते हैं। साइकोलॉजिकल बु‍लेटिन में प्रकाशित एक शोध में  व्‍यायाम और थकान पर किये गए 70 पूर्व शोधों का विश्‍लेषण किया गया। इन शोधों में 6800 लोग शामिल थे।


exercise
90 फीसदी से ज्‍यादा शोधों में यही बात निकलकर सामने आयी कि थकान महसूस करने वाले लोग यदि नि‍यमित रूप से व्‍यायाम करें, तो इससे उनकी सेहत में सुधार होता है। उनकी थकान और आलस्‍य का स्‍तर कम होता है, बनस्बित उन लोगों के जो बिलकुल कसरत नहीं करते। नतीजों में यह बात साफ हो गयी कि नियमित व्‍यायाम करना ऊर्जा के स्‍तर को बढ़ाकर थकान और आलस्‍य को दूर करता है। व्‍यायाम का औसत प्रभाव दवाओं के असर से भी ज्‍यादा पाया गया।

थकान से मुकाबला करने का सबसे कारगर तरीका व्यायाम है, जिसके जरिए आप अपनी इस थकान को मात दे सकते हैं। ऐसा कहना है जार्जिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का। शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया है कि व्यायाम से शरीर में ऊर्जा का स्तर 20 फीसदी तक बढ़ जाता है। इसके जरिए थकान के चिह्न भी 65 फीसदी तक मिटाए जा सकते है। उनका मानना है कि बेहद थकाऊ और ऊबाऊ जीवन शैली वालों के लिए व्यायाम बेहद फायदेमंद होता है। यह उनकी थकान मिटाने के साथ-साथ जिंदगी में एक अलग तरह का बदलाव लाने में भी सक्षम है।

 

Image Courtesy- Getty Images

 

Read More Articles on Sports and Fitness in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES11 Votes 12542 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर