एक्सरसाइज घटाये कैंसर का खतरा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 28, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

exercise ghataye cancer ka khatraएक्सरसाइज करने से न केवल हमारा शरीर फिट रहता है, बल्कि हमें कई बीमारियों से मुक्ति भी मिलती है। एक्सरसाइज हमारे शरीर को स्वस्थ रखने का एक आसान तरीका है। इससे हमारे शरीर का हर अंग स्वस्थ रहता है। एक्सरसाइज से कई बार कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है।


एक्सरसाइज से इन कैंसर का खतरा कम होता है-


पाचन ग्रंथि का कैंसर

एक्सरसाइज करने में कोताही बरतने वाले लोगों में पाचन ग्रंथि ग्रंथी (पैंक्रियाज) का कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। पाचन ग्रंथि पेट का एक अंग होता है, जो एंजाइम पैदा करता है। यह एंजाइम भोजन को पचाने और हार्मोन के लिए लाभदायक होते हैं। इससे शरीर में शर्करा (शुगर) की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है। जीवनशैली में परिवर्तन के कारण रक्त में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है और इससे पैंक्रियाटिक कैंसर होने का खतरा पैदा हो जाता है।
पैंक्रियाज कैंसर के अधिकतर मरीजों का इलाज काफी मुश्किल है। ऐसे में यह काफी महत्वपूर्ण हो जाता है कि हम इस बीमारी को पहचान लें और इसके खतरों से सचेत रहें। व्यायाम और वजन को नियंत्रित रखना पैनक्रिटिक कैंसर से बचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इन चीजों पर ध्यान देने से पैनक्रिटिक कैंसर होने का खतरा करीब 50 प्रतिशत कम हो जाता है।

आंत के कैंसर

जो लोग शारीरिक रूप से अधिक सक्रिय रहते हैं, उनमें दूसरों की तुलना में आंत के कैंसर का खतरा कम रहता है।
जो लोग अपने जीवन में शारीरिक रूप से अधिक सक्रिय रहते है, उनमें आंत के कैंसर का खतरा 40 प्रतिशत तक कम होता है। एक्सरसाइज के दौरान दौड़ लगाने, साइकिल चलाने से आंत कैंसर का खतरा काफी कम हो जाता है। एक्सरसाइज 51 साल की उम्र पार कर चुके लोगों में आंत कैंसर के खतरे को कम करता है।

प्रोस्टेट कैंसर

दिनभर बैठकर एक ही जगह काम करना भले ही आपको पसंद हो लेकिन इससे प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। दिनभर एक जगह बैठकर काम करने वालों को सक्रिय रहते हुए काम करने वालों के मुकाबले प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा 30 प्रतिशत अधिक होता है।
विभिन्न प्रकार के एक्सरसाइज इस बीमारी से आपका बचाव कर सकते हैं। प्रतिदिन एक घंटा टहलने से या साइकिल चलाने से प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को 14 प्रतिशत कम किया जा सकता है।

ब्रेस्ट कैंसर

शारीरिक रूप से सक्रिय रहने पर न केवल किशोरियों, बल्कि बड़ी उम्र की महिलाओं को भी स्तन कैंसर का खतरा नहीं रहता है। गौरतलब है कि पूरी दुनिया में महिलाओं को सबसे ज्यादा अपनी चपेट में लेने वाली बीमारी है स्तन कैंसर। चिकित्सकों का कहना है कि यदि कम उम्र की लड़किया रोज एक्सरसाइज करें, तो आगे चलकर उनको पीरियड संबंधी समस्या नहीं होती। नियमित एक्सरसाइज करने से महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन नामक हार्मोन का स्त्राव कम होता है। जब इस हार्मोन का स्त्राव बढ़ जाता है, तब स्तन कैंसर होने का खतरा भी बढ़ जाता है।
यदि लड़कियां और महिलाएं नियमित एक्सरसाइज करें, तो स्तन कैंसर से होने वाली मौतों का प्रतिशत काफी कम हो जाएगा।

इसके अलावा एक्सइसाइज से कई और प्रकार के कैंसर का खतरा कम हो जाता है। जैसे- बोन कैंसर, लग्श  कैंसर इत्यादि।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 13704 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Umesh Rawal05 Jun 2012

    Good info

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर