ज्यादा परफ्यूम लगाने से हो सकता है अवसाद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 30, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अवसाद का कारण बन सकता है ज्यादा परफ्यूम।
  • सुगंध के प्रति संवेदनशीलता कम होने लगती है।
  • किसी गंभीर बीमारी के शिकार भी हो सकते हैं।
  • ज्यादा तेज परफ्यूम का इस्तेमाल करने लगते हैं।

आज के दौर में हर कोई फैशनेबल और आकर्षक दिखना चाहता है। लड़कियां तो इसके लिए तरह-तरह के नुस्खे आजमाती हैं। कई तरह के और भरपूर परफ्यूम लगा कर भी वह दूसरे का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की खूब कोशिश करती हैं। लेकिन क्या आप बहुत तेज परफ्यूम लगाती हैं? अगर हां, तो सावधान हो जाये! ज्यादा परफ्यूम लगाने का मतलब हो सकता है कि आप अवसाद की शिकार हैं। एक नए अध्ययन से पता चला है कि परफ्यूम का ज्यादा प्रयोग करने वाली महिलाएं अवसाद का शिकार हो सकती हैं।

perfume in hindi





क्‍या कहता हैं शोध

शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया है कि ऐसी महिलाएं जो काफी मात्रा में परफ्यूम का इस्तेमाल करती हैं, उनमें अवसाद का स्तर ज्यादा पाया जाता है। क्योंकि धीरे-धीरे उन्हें इस गंध की आदत पड़ जाती है और बाद में सुगंध के प्रति संवेदनशीलता कम होती जाती है। इस्राइल की राजधानी में तेल अवीव यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर येहुदा शोनफेल्ड के अनुसार, अवसाद से घिरी महिलाएं अपनी सुगंध के प्रति असंवेदनशीलता की क्षतिपूर्ति करने के लिए ज्यादा परफ्यूम का प्रयोग करती हैं। कुछ खास बीमारियों में सुगंधों को पहचानने की क्षमता (घ्राण क्षमता) प्रभावित होती है।

 

depression in hindi
 



जैविक कारण भी है जिम्‍मेदार

शोनफेल्ड के अनुसार कुछ बीमारियों की वजह से सूंघने की शक्ति प्रभावित हो जाती है। इसका मतलब है कि अगर आपकी सूंघने की शक्ति प्रभावित है, तो आप किसी गंभीर बीमारी के शिकार भी हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि अवसाद के लिए मनोवैज्ञानिक की बजाय जैविक कारण भी हो सकते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि अवसाद के ग्रस्‍त लोगों का अरोमाथेरेपी से बेहतर इलाज किया जा सकता है। इसके जरिए उनकी तंत्रिकाओं में सुगंध के प्रति चेतना पैदा की जा सकती है। इसका सीधा मतलब यह है कि डिप्रेशन के लिए जैविक कारण भी हो सकता है।


वैज्ञानिक इलेक्ट्रोड्स के जरिए साबित हो चुका हैं कि अवसाद के शिकार लोग गंध के प्रति कम संवेदनशील होते हैं, जिसके लिए वे बाद में ज्यादा तेज परफ्यूम का इस्तेमाल करने लगते हैं।

 

perfume in hindi





परफ्यूम के अन्‍य नुकसान

  • इसमें इस्तेमाल होने वाला एल्युमिनियम काफी नुकसानदायक हो सकता है। इससे आपके सेहत पर कई तरह के नुकसान हो सकते हैं।
  • परफ्यूम के इस्‍तेमाल से एलर्जी होने का भी डर रहता है। एक शोध के अनुसार परफ्यूम व डियोड्रेंट आपके पसीने की ग्रंथियों को प्रभावित करते हैं और शरीर की टॉक्सिफिकेशन की प्राकृतिक प्रक्रिया को भी नुकसान पहुंचाते हैं।
  • अधिकतर परफ्यूम मे मौजूद एल्कोहल त्वचा की नमी को सोख लेता है, जिससे कई प्रकार की सेहत संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
  • कई बार बहुत तेज खुशबूवाले परफ्यूम इस्तेमाल करने वाले लोगों में सिरदर्द, जुकाम, छीकें व श्वास परेशानियां हो जाती हैं।
  • परफ्यूम कई तरह की बीमारियों का कारण भी बन सकता है। इसका नियमित इस्तेमाल करने से ब्रेस्ट कैंसर, अल्जाइमर और गुर्दे की बीमारी आदि हो सकती है।


Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Depression in Hindi

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES4 Votes 12423 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर