एक तरफ के बहरेपन के लिये बोन एंकर्ड हियरिंग एड भारत में है बेस्ट इलाज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 14, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • भारत में बोन एंकर्ड हियरिंग एड काफी प्रचलित हो रहा है।
  • हर साल आते हैं सिंगल साइड डेफनेस के 200,000 नए मामले।
  • बाइलैटरल माइक्रोटिया के मरीज की भी हो सकती है ये सर्जरी।
  • इस बीमारी का एकमात्र उपचार बोन एंकर्ड हियरिंग एड है।

भारत में बोन एंकर्ड हियरिंग एड (BAHA) अर्थात बाहा, सिंगल साइड डेफनेस (कान के एक तरह का बहरापन) के मरीजों के लिए सही इलाज के रूप में तेजी से उभर रहा है।
 
ये डिवाइस न केवल किसी व्यक्ति उसकी सुनने की क्षमता (जोकि स्वास्थ्य जटिलताओं जैसे संक्रमण, ब्रेन ट्यूमर और दुख आदि के कारण प्रभावित हो जाती है) को वापस पाने में मदद करता है, बल्कि इसके सबसे अच्छी बात तो यह है कि यह संभावित उम्मीदवार को सर्जरी से पहले परीक्षण रॉड या हेडबैंड की मदद कर उपकरण का उपयोग करने का मौका देता है।

 

Deafness in Hindi

 

बोन एंकर्ड हियरिंग एड

हाल के सर्वेक्षणों के अनुसार भारत में हर साल सिंगल साइड डेफनेस के लगभग 200,000 नए मामलों को रिकॉर्ड किया जाता है। अगर मिडल इयर में पस या कोई स्मस्या हो, जिसकी वजह से आउटर इयर में हियरिंग एड नहीं लगा पा रहा हो तो बोन एंकर्ड हियरिंग एड लगाया जाता है। यह सर्जरी के माध्यम से कान की पीछे वाली हड्डी पर लगाया जाता है।

भातर में बोन एंकर्ड हियरिंग एड का चलन

भातर में अब बोन एंकर्ड हियरिंग एड सर्जरी में सफलता का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। कुछ समय पहले भी दिल्ली के एक अस्पताल में आठ साल के एक बच्चे की बोन एंकर्ड हियरिंग एड सर्जरी की गई जो कि बाइलैटरल माइक्रोटिया का मरीज था। बाइलैटरल माइक्रोटिया से ग्रसित बच्चे के बाइलैटरल आउटर और मिड्ल ईयर की जन्मजात समस्या होती है। इस बीमारी के बहुत कम मामले सामने आते हैं, लगभग 20,000 नवजात बच्चों में से एक में यह समस्या देखी जाती है। इसमें इनर ईयर कोचलिया के सामान्य होने के बावजूद मरीज बिल्कुल बहरा होता है। इसका उपचार भी काफी बेहद चुनौतीपूर्ण होता है, ऐसा इसलिये क्योंकि इसमें ऑरिकल की पुनर्संरचना के साथ-साथ दोबारा सुनने की क्षमता विकसित करनी होती है।

 

Deafness in Hindi In India

 

बेहतर हैं परिणाम

इस बीमारी का एकमात्र उपचार बोन एंकर्ड हियरिंग एड है, जिसकी सफलता सुनिश्चित होती है। उपचार के अन्य माध्यमों जैसे, रीकंस्ट्रक्टिव सर्जरी की तुलना में 'बाहा' के परिणाम बेहतर मिले हैं। एक सर्जरी कर इस सिस्टम का प्रत्यारोपण किया जाता है। इससे ध्वनि तरंगें हड्डी के माध्यम से गुजरती हैं न कि मिड्ल ईयर से। इस प्रक्रिया को डायरेक्ट बोन कंडक्शन कहा जाता है। 'बाहा' सर्जरी उनके लिए भी अच्छी होती है जिन्हें हमेशा कान के संक्रमण की समस्या, ऑडिटरी केनाल एट्रेसिया की जन्मजात समस्या और एक तरफ बहरेपन जैसी दिक्कतें होती हैं या जिन्हें आमतौर पर सुनने की मशीन से कोई फायदा नहीं मिलता है।


'बाहा' सर्जरी ऐसे लोगों को सुनने की क्षमता दोबारा देती है, जिन्हें कंडक्टिव और मिक्स्ड लॉस हियरिंग की दिक्कत होती है। बच्चों के जन्मजात बाइलैटरल माइक्रोटिया के मामलों में जो बहुत में (जोकि आमतौर पर बहुत कम होते हैं), में तो यह सर्जरी एक वरदान की तरह होती है। इसका उपचार न किया जाए तो बच्चा आगे चलकर बोलने की क्षमता भी खो सकता है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES4 Votes 2562 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर