रजोनिवृत्ति का संबंधों पर प्रभाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 12, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मेनोपॉज से कुछ महिलाएं परेशान व भयभीत हो जाती हैं।
  • इस दौरान महिलाओं के व्‍यवहार में आता है नकारात्‍मक बदलाव।
  • सेक्‍स को लेकर महिलाओं में अरुचि पैदा हो जाती है।
  • रजोनिवृति होने से चिड़चिड़ापन  आपके रिश्‍तों को करता है प्रभावित।

मेनोपोज यानी रजोनिवृति स्त्री के जीवन में एक ऐसा टर्निंग प्वाइंट होता है जहां से उसके जीवन में निराशा, अवसाद जैसी कई बीमारियां घेर लेती हैं। रजोनिवृति की शिकार महिलाओं में हृदय संबंधी रोगों की भी संभावना रहती है। रजोनिवृति के कारण महिलाएं खुद तो परेशान रहती ही हैं पति व परिवार के अन्य रिश्ते भी इन समस्याओं से अछूते नहीं रहते।

 

रजोनिवृति वह समय है जब महिलाओं में मासिक धर्म होना बंद हो जाता है। यह एक सामान्य सी हार्मोनल प्रक्रिया है जो हर महिला के जीवन में आती है। इस दौरान महिलाओं के मूड में काफी बदलाव होते है वे चिड़चिड़ी व चिंताग्रस्त रहने लगती हैं जिससे उनसे जुड़े लोग भी प्रभावित होते हैं।  जानिए रजोनिवृति कैसे संबंधो को प्रभावित करती है। 

menopause and relationship

 

 

रजोनिवृति का संबंधो पर प्रभाव

  • मासिक बंद होने के समय शरीर में कुछ परिवर्तन होते हैं, इनसे कुछ महिलाएँ परेशान व भयभीत हो जाती हैं, जिसका प्रभाव संबंधों पर पड़ता हैं।
  • महिलाएं अपने पार्टनर से रूखा व्यवहार करने लगती हैं।
  • महिलाओं की सेक्स में रूचि कम हो जाती हैं।
  • रजोनिवृति होने से चिड़चिड़ापन आपसी रिश्तों को खासा प्रभावित करता है।
  • पति-पत्नी  के बीच कड़वाहट के साथ ही परिवार के अन्य सदस्यों से भी नहीं बनती।
  • कुछ महिलाएं रजोनिवृति के बाद डिप्रेशन में चली जाती हैं जिससे उन्हें कुछ भी अच्छा नहीं लगता और समय-समय पर उनका मूड बदलता रहता है।
  • महिलाएं रजोनिवृति के बाद शारीरिक बदलावों के अलावा मानसिक रूप से भी बहुत प्रभावित होती हैं, जिससे महिलाएं अपने सामान्य क्रियाकलापों को सही प्रकार से नहीं कर पातीं।
  • रजोनिवृति के बाद महिलाओं के बीमार रहने के कारण कई बार उनका साथी उनसे दूर-दूर रहने लगता है। 
  • माहवारी बंद होना एक स्वाभाविक घटना होती है लेकिन महिलाएं इसे स्वभाविक न लेकर एक बीमारी बना लेती हैं।

 

 

 

menopause midlife


रजोनिवृति के दौरान होने वाली समस्याएं 

  • रजोनिवृति के दौरान महिलाओं के लक्षण, अनुभव और बीमारियां अलग-अलग होती हैं। कुछ महिलाओं में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते, जबकि कुछ को शारीरिक और मानसिक विविध बीमारियां हो सकती हैं।
  • मीनोपोज के बाद महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।
  • चिड़चिड़ापन आना, उच्च रक्तरचाप होना, तनाव ग्रस्त होना, डिप्रेशन इत्यादि मीनोपोज के कारण ही होता है।
  • योनि से अनियमित रक्तस्राव यानी महावारी का जल्दी आना या देर तक न आना।
  • योनि में रूखापन
  • मूत्र निष्कासन के समय जलन
  • अनिंद्रा की शिकायत
  • वज़न बढ़ना
  • लगातर मूड बदलना, थकावाट महसूस होना
  • याददाश्त कमजोर होना
  • जोड़ो में दर्द रहना या हड्डियों का कमजोर होना।

 

Read More Articles On Menopause In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES32 Votes 50836 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Arka19 Sep 2012

    bohoti accha lekh hain, bohot pansand aya...

  • sonal31 Jul 2012

    what precotion to queir monopous

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर