बोन कैंसर के प्रभाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 02, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

bone cancer ke prabhav

एक उम्र के बाद हड्डियों में दर्द होना आम बात है लेकिन समय से पहले हड्डियों में दर्द होना सामान्य नहीं है। यानी आप किसी अन्य बीमारी से पीडि़त हैं। कैंसर एक ऐसी बामरी है जो कम उम्र में होती है और इसका सीधा असर खासतौर पर हाथ और पैर की हड्डियों पर होता है। बोन कैंसर दरअसल हड्डियों का कैंसर है। वैसे तो हर कैंसर से संबंधी जोखिम हमेशा बरकरार रहते हैं लेकिन बोन कैंसर का प्रभाव शरीर पर बहुत ही नकारात्मक पड़ता है। बोन कैंसर के शरीर पर क्या दुष्प्रभाव होते हैं, यह भी जानना बेहद जरूरी है। आइए जानें बोन कैंसर के प्रभाव के बारे में।

  • बोन कैंसर का सबसे सामान्य प्रभाव जो पड़ता है वह है, हड्डियों का प्रभावी रूप से कमजोर होना। बोन कैंसर में हड्डियां इतनी कमजोर हो जाती हैं कि अपने आप ही हड्डी टूटने लगती है या फिर फ्रैक्चर हो जाता है।
  • दूसरा सबसे नकारात्मक प्रभाव हड्डियों पर ये पड़ता है कि हड्डियों के सामान्य टिश्यू कैंसर के टिश्यूज में बदलते रहते हैं। जिससे हड्डियों में कैंसर टिश्यूज की मात्रा बढ़ जाती है।
  • बोन कैंसर होने से हड्डियों के जोड़ कमजोर होने लगते हैं जिससे बोन कैंसर से प्रभावित क्षेत्र में बार-बार फ्रैक्चर की आंशंका बढ़ जाती है।
  • बोन कैंसर के दौरान सूजन आना, अचानक वजन कम होना समस्याएं होना आम है।
  • हालांकि बोन कैंसर से हड्डियों में आई कमजोरी को कैल्शियम सप्लीमेंट्स से प्रभावी रूप से ठीक किया जा सकता हैं लेकिन फिर भी हड्डियों की कमजोरी को पूरी तरह से ठीक करना मुश्किल होता है।
  • बोन कैंसर के प्रभाव को कम करने के लिए वजन कम करना जरूरी है। यदि बोन कैंसर पीडि़त व्यक्ति का वजन अधिक है तो ऐसे समय में उसे व्हील चेयर का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • बोन कैंसर को शुरूआती समय में पहचानना मुश्किल होता है क्योंकि इसका दर्द सामान्य दर्द की तरह होता है। लेकिन इसे सही समय पर पहचाना ना जाए तो यह अन्य हड्डियों को भी नुकसान पहुंचाता है और इससे अपंगता का खतरा भी बना रहता है।
  • बोन कैंसर से लंबे समय पर आप हड्डियों में होने वाले दर्द से आपको तकलीफ हो सकती है। यानी आपकी हड्डियों में लंबे समय तक दर्द बना रह सकता है।
  • आमतौर पर बोन कैंसर का इलाज ग्रसित बोन को सर्जरी करके ठीक किया जा सकता है लेकिन शरीर पर इसका साइड इफेक्ट होता है।
  • बोन कैंसर दरअसल, हड्डियों के भीतर ही भीतर ग्रो करता है, ऐसे में इसका समय पर उपचार ना कराया जाए तो यह अंदर ही अंदर हड्डियों को खोखला करने लगता है।
  • ऐसा नहीं है कि बोन कैंसर को तुरत पहचाना जा सकें। इसके लक्षण आमतौर पर ठीक वैसे ही होते है जैसे कि अन्य कैंसर के लक्षण। बोन कैंसर के समय बुखार, ठंडी लगना और अन्य लक्षण हो सकते हैं। ऐसे में आपको कभी भी हड्डियों में दर्द हो खासकर कम उम्र के लोगों को तो आपको तुरंत हड्डियों के डाक्टर को चेक करान चाहिए।
Write a Review
Is it Helpful Article?YES23 Votes 17252 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • reeta25 May 2012

    nice info

  • reeta04 May 2012

    good information

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर