हरी सब्जियों को अच्‍छे से नहीं धुलने पर हो सकती है ये गंभीर बीमारी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 15, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • विटामिन, प्रोटीन और मिनरल से भरपूर होती हैं।
  • हरी सब्जियों को सही से न धोने के नुकसान।
  • न्यूरोसिस्ट सरकोसिस नामक बीमारी का कारण।
  • टीनिया सोलियम नामक जीव से होती है बीमारी।

हरी सब्जियों का हमारे भोजन और पोषण में बहुत महत्व है। हरी सब्जियां विटामिन, प्रोटीन और मिनरल से भरपूर होती हैं। यह शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत करती हैं। शरीर के उचित विकास के लिए पत्तेदार हरी शाक-सब्जियां लाभदायक होती है। लेकिन हरी सब्जियां खाने के शौकीन लोगों को थोड़ा संभलने की जरूरत हैं, क्योंकि सेहत की गारंटी मानी जाने वाली हरी सब्जियां सेहत के उतनी ही नुकसानदेह यहां तक की जानलेवा भी हो सकती है। जीं हां अगर इन सब्जियों को सही से ना धोया जाएं तो ये आपकी सेहत को फायदा पहुंचाने की बजाय नुकसान पहुंचाती हैं।

green vegetable in hindi

 

हरी सब्जियों को सही से ना धोने के नुकसान

  • हरी सब्जियों प्रतिदिन खाने से व्यक्ति दिनभर तरोताजा और चुस्त-दुरुस्त महसूस करता है। लेकिन एक्‍सपर्ट की मानें तो अगर सब्जियों को अच्‍छे से धोकर इस्‍तेमाल न करने पर न्यूरोसिस्ट सरकोसिस एक प्रकार की मिर्गी नामक बीमारी हो सकती है। और इसका सही और समय पर इलाज नहीं होने पर जान को जोखिम भी हो सकता है।
  • आपको जानकर हैरानी होगी कि हरी सब्जियों से होने वाली यूरोसिस्ट सरकोसिस बीमारी के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार टीनिया सोलियम नामक जीव है जो सुअर की बीट में पाया जाता है। ये इतने सूक्ष्म होते हैं कि इन्‍हें देख पाना भी संभव नहीं होता है।
  • अगर सुअर की बीट वाली खाद का इस्तेमाल न भी करें तो सब्जियों वाली जगह इतनी गंदी होती है कि सुअर वहां आसानी से पहुंच जाते हैं और बीट कर देते हैं। बीट के साथ घातक परजीवी भी सब्जियों में प्रवेश कर जाते हैं।
  • टीनिया सोलियम जीव हरी सब्जियों में अंडे देते हैं। ये हर हाल में अपना लाइफ साइकिल पूरा करते हैं। ऐसे में जो लोग सब्जियों अच्छे से धोकर नहीं खाते हैं, उनके निवाले का हिस्सा बनते इन परजीवियों को देर नहीं लगती।
  • इंसान के शरीर में प्रवेश कर ये अंडे देते हैं और अंदर ही अंदर इनकी तादात इतनी हो जाती है कि खून के सहारे शरीर के हर हिस्से में पहुंच जाते हैं। ये परजीवी दिमाग की नसों में पहुंचकर तंत्रिका तंत्र पर बुरा असर डालते है जिससे मिर्गी के झटके आने लगते हैं। सबसे ज्यादा इस बीमारी से बच्चे प्रभावित होते हैं।
  • इसलिए हरी सब्जियां जब भी लें तो ये सुनिश्चित करें कि सब्जियां साफ-सुथरी हों, पत्तों में कीड़े न लगे हों। साथ ही साफ पानी से अच्छी तरह धोकर इन्हें इस्तेमाल करें और कोशिश करें कि इन्हें हमेशा पकाकर ही खाएं।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty
Read More Articles on Healthy Eating in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11 Votes 3214 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर