रोजाना 1 सेब खाओ, बीमारी दूर भगाओ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 20, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पौष्टिक तत्व बहुत अधिक मात्रा में होते हैं।
  • शरीर के टॉक्सिक आसानी से निकल जाते है।
  • सेब में फास्फोरस की मात्रा अधिक होती हैंI

सेब को लेकर एक कहावत है, जो शायद आपने भी सुनी होगी कि "एन एपल ए डे, कीप्स द डॉक्टर अवे" अर्थात् जो रोजाना 1 सेब खाता है वह बीमारियों से बचा रह सकता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अगर 1 सेब को रोजाना खाली पेट खाया जाये तो आप इसके पौष्टिक गुणों का अधिक फायदा उठा सकते हैं।    

सेब में पौष्टिक तत्व बहुत अधिक मात्रा में होते हैं। मिनरल और विटामिन से भरपूर सेब में फाइबर भी बहुत अधिक मात्रा में होता है और कोलेस्ट्रॉल बिलकुल भी नहीं होता। सेब को हमें सुबह के समय खाना चाहिए। जी हां सेब यदि खाली पेट खाया जाये तो आपके शरीर के टॉक्सिक (गंदगी) आसानी से बाहर निकल जाते है। एनर्जी भी अधिक मिलेगी और वजन कम होने के साथ-साथ स्फूर्ति भी रहेगी।

apple in hindi

इसे भी पढ़ें : सेब एक फायदे अनेक

साथ ही पेट को साफ रखने तथा सेहत को दुरुस्त रखने के लिए खाली पेट सेब का सेवन करना सबसे बेहतर रहता है। क्‍योंकि सेब में व्याप्त सभी विटामिन और मिनरल्‍स खाली पेट खाये जानें पर उसमें अच्‍छी तरह से अवशोषित कर लिये जाते हैं। आइए जानें रोजाना खाली पेट 1 सेब खाना आपको किन-किन बीमारियों से दूर रखता है।

रोजाना खाली पेट 1 सेब खाने के फायदे

रोजाना सुबह-सुबह खाली पेट सेब खाना वास्तव में सेहत के लिए लाभदायक होता हैंI सेब को कभी छीलकर नहीं खाना चाहिए क्योंकि सेब के छिलके में सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण छरिये तत्व मौजूद होते हैं और अगर आप सेब को छिल कर खायेंगे तो वह सभी तत्व नष्ट हो जायेंगेI इसके अलावा क्‍या आप जानते हैं कि सेब के गूदे की अपेक्षा उसके छिलके में अधिक ताकत होती हैंI सेब के छिलके में विटामिन सी की मात्रा भरपूर होती हैं और इसके साथ ही अन्य फलों की तुलना में सेब में फास्फोरस की मात्रा भी सबसे अधिक होती हैंI
 

हाई ब्‍लड प्रेशर

अगर आप हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या से बचना चाहते हैं तो रोजाना खाली पेट एक सेब का सेवन करें। वैज्ञानिकों का मानना है कि रोजाना एक सेब छिलका उतारे बगैर खाते रहने से हाई ब्लड प्रेशर आपसे कोसों दूर रह सकता है। कनाडा के वैज्ञानिकों ने पाया कि यह अन्य ‘सुपरफूड’ की तुलना में अधिक प्रभावी है। टेलीग्राफ में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक लंबे समय से सेब को ‘एंटीऑक्सीडेंट’ और ‘फ्लेवानोइड्स’ का प्राकृतिक स्रोत माना जाता रहा है। ये दिल के लिए अच्छे माने जाते हैं।

हार्ट बर्न की शिकायत दूर करें

अगर आप सीने में जलन जैसी समस्‍याओं से परेशान रहते हैं तो रोजाना एक सेब खाने की आदत डाल लें। दरअसल सेब हमारे इम्यून सिस्टम को भी प्रभावित करता है। लाल सेब में क्वरसिटिन नामक एंटीआक्सीडेंट होता है जो कि इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है। यानी अगर आपने गलती से थोड़ा ज्यादा खा भी लिया तो बदहजमी या सीने में जलन जैसी शिकायतें नहीं होंगी।



इसे भी पढ़ें : कहीं गलत समय और तरीके से तो नहीं खा रहें आप फल

से‍ब बढ़ाता है याददाश्‍त

1 सेब रोज खाने से आपकी याददाश्‍त बढ़ती है। शरीर में मौजूद मुक्‍त कण दिमाग की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं, यह दिमाग की बाहरी परत यानी न्‍यूरॉन्‍स को क्षतिग्रस्‍त कर सकते हैं। सेब में क्‍यूर्सेटिन नामक तत्‍व पाया जाता है, यह एक प्रकार का एंटीऑक्‍सीडेंट है जो दिमाग को सूजन से बचाता है और सूजन के कारण कम हो रही याद्दाश्‍त को भी क्षीण नहीं होने देता।

मोटापे से बचाए

सेब में मौजूद भरपूर मात्रा में फाइबर, शरीर में पानी बनाए रखने में मदद करते हैं। जिससे आपको सेब खाने के बाद पेट भरा सा लगता है और अनावश्यक भोजन की इच्छा नहीं होती है। डाइटिंग करने वालों के लिए सेब एक उपयोगी फल है। अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो रोजाना एक सेब को अपने आहार में शामिल करें।

तो देर किस बात की इतने लाभदायक सेब को आज से ही खाना शुरु करें।


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप


Image Source : Getty

Read More Article on Ayurveda in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1404 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर