दस घंटे की नींद करे दर्द को 'छूमंतर'

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 03, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

dus ghante ki nind kare dardko chumantar

जिंदगी में काम करना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी है पूरा आराम करना। अच्‍छी नींद को अच्‍छी सेहत का पैमाना माना जाता है। स्‍वस्‍थ शरीर के लिए अच्‍छी नींद भी आवश्‍यक है। हाल ही में हुआ एक शोध नींद की उपयोगिता साबित करता है। इस शोध में दावा किया गया है कि कई प्रकार के दर्द से छुटकारा दिलाने में भी नींद काफी मददगार साबित होती है। इस शोध में कहा गया कि एक घंटे की अधिक नींद दर्द को बेअसर कर सकती है। यही नहीं, इससे दिमाग की चुस्‍ती-फुर्ती भी बनी रहती है। शोध के नतीजों को जर्नल स्‍लीप के हालिया अंक में छापा गया है।

[इसे भी पढ़े- अच्‍छी सेहत के लिए कितने घंटे सोएं]

अमेरिकी शोधकर्ताओं के मुताबिक आमतौर पर लोगों को आठ घंटे सोने की सलाह दी जाती है। लेकिन, आठ की बजाए दस घंटे की नींद सेहत को ज्‍यादा फायदा पहुंचाती है। यहां तक कि दर्द-निवारक दवाओं के सेवन की बजाए यह ज्‍यादा मुफीद है कि नींद लेकर दर्द को दूर किया जाए। शोधकर्ताओं ने आमतौर पर आठ घंटे की नींद लेने वाले प्रतिभागियों को अपने शोध में शामिल किया। इन प्रतिभागियों की स्‍लीप लेटेंसी टेस्‍ट किए गए। ये टेस्‍ट आमतौर पर नींद की समस्‍याओं का पता लगाने के लिए किए जाते हैं। इसमें मस्तिष्‍क की तरंगों, आंखों की गति, हृदयगति और मांसपेशियों पर निगाह रखी जाती है। दर्द को महसूस करने, संवेदनशीलता का अध्‍ययन हृदय के जरिए किया गया। शोध में पाया गया कि 1.8 घंटे अधिक नींद लेने वाले समूह के प्रतिभागी दिन में ज्‍यादा चुस्‍त रहते हैं।

[इसे भी पढ़े- मत कीजिए नींद में कटौती]

वहीं, उन्‍हें दर्द की कम महसूस होता है। ज्‍यादा सोने वाले समूह के लोग किसी गरम वस्‍तु पर 25 प्रतिशत ज्‍यादा समय तक हाथ रखने में कामयाब हुए। उन्‍हें दर्द भी कम महसूस हुआ। शोधकर्ताओं के मुताबिक 60 एमजी दर्द-निवारक से ज्‍यादा असरकारी एक घंटे ही अधिक नींद है।

 

Read More Article On- Health news in hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 12129 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर