किडनी का मर्ज दे सकता है पानी का कम सेवन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 20, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शरीर का बहुत छोटा अंग है किडनी।
  • दूषित पदार्थ यूरीन के जरिए निकलते है।
  • प्रोस्टेट ग्लैंड का आकार बढ़ने लगता है।
  • पानी कम मात्रा से किडनी को नुकसान।

देश की बड़ी आबादी किडनी संबंधी परेशानियों का शिकार हो रही है। धूम्रपान के साथ भोजन में अधिक नमक और तली-भुनी चीजों का सेवन व कम पानी पीने की वजह से किडनी संबंधी परेशानियां शरीर में घर कर लेती हैं।

kidney problem in hindi

अध्‍ययन के अनुसार

एक नए अध्ययन में कहा गया है कि देश की 20 प्रतिशत आबादी किडनी संबंधी बीमारियों की चपेट में है। अध्‍ययन के अनुसार उत्तर भारतीय लोगों में किडनी संबंधी बीमारियां अधिक देखने को मिल रही हैं। डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के मरीज को किडनी संबंधी परेशानियां होने का खतरा अधिक रहता है।


पानी की कमी और किडनी

शरीर का बहुत छोटा अंग है किडनी। यह शरीर से दूषित पदार्थ यूरीन के जरिए बाहर निकालती है। किडनी यह काम ठीक से नहीं करें तो शरीर में दूषित पदार्थो का कचरा जमने लगता है और गंभीर रोगों का खतरा बढ़ जाता है। अपने सभी कामों के लिए इस अंग को पानी की जरूरत होती है वर्ना इस ईधन की कमी से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है।

water in  hindi


किडनी में समस्‍या

किडनी की पथरी के बारे में फैली यह भ्रांति कि बीयर के सेवन से पथरी खत्म हो जाती है पूरी तरह गलत है। अशिक्षा के कारण लोगों का नीम हकीमों के पास जाना जानलेवा साबित होता है। 40 वर्ष की आयु के बाद पुरुषों में इस बीमारी की आशंका बढ़ जाती है क्योंकि इस उम्र में प्रोस्टेट ग्लैंड का आकार बढ़ने लगता है और शरीर से पेशाब का उत्सर्जन कम हो जाता है। ध्यान नहीं देने पर यह कैंसर का रूप भी ले सकता है। कई बार किडनी पूरी तरह खराब होने पर प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय बचता है।

किडनी की पथरी का नया उपचार बेहद कारगर है, इसमें बिना आपरेशन के पथरी को अल्ट्रासोनिक किरणों की मदद से हटा दिया जाता है। यह किरणें पथरी को पाउडर में बदल देती हैं जो पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाती है।

पानी का सेवन

पानी कम मात्रा में पीने से किडनी को नुकसान हो सकता है। पानी की कमी के चलते किडनी और मूत्रनली में संक्रमण होने का खतरा अधिक हो जाता है। जिससे पोषक तत्वों के कण मूत्रनली में पहुंचकर मूत्र की निकासी को बाधित करने लगते हैं। साथ ही किडनी में स्टोन की आशंका भी बढ़ जाती है। इसलिए दिनभर में कम से कम 2 से 3 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए।

Image Source : Getty

Read More Articles on Kidney Problem in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES33 Votes 13618 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर