क्या शोल्डर प्रेस से कमर को हो सकता है नुकसान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 14, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • फिट और एक्टिव रहने के लिये एक्सरसाइज बेहद जरूरी है।
  • एक्सरसाइज प्लान में कंधों की एक्सरसाइज होती है महत्वपूर्ण।
  • शोल्डर प्रेस एक्सरसाइज कंधों को चौड़ा और मजबूत बनाती है।
  • सही तरीके से शोल्डर प्रेस करने पर कमर को नहीं होता नुकसान।

फिट और एक्टिव बने रहने के लिये एक्सरसाइज बेहद जरूरी है, खासतौर पर मसल्स बनाने के शौकीन लोगों के लिये एक्सरसाइज उनकी जिंदगी का बेहद अहम हिस्सा होती है। चौड़े व मजबूत कंधे वाले पुरुष भीड़ में अलग ही नज़र आते हैं, और इन मजबूत कंधों के लिये वे काफी महनट भी करते हैं व कंधों को मजबूत बनाने वाली कई एक्सरसाइज भी करते हैं। शोल्डर प्रेस भी उनके एक्सरसाइज प्लान का अहम हिस्सा होती है। लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि शोल्डर प्रेस करने से कमर को नुकसान हो सकता है। लेकिन क्या यह वाकई सच है? चलिये जानें क्या है शोल्डर प्रेस एक्सरसाइज और क्या वाकई इससे कमर को नुकसान हो सकता है -

Shoulder Press Wreck Your Back in Hindi

 

शोल्डर प्रेस से कमर को नुकसान हो सकता है

देखिये कोई भी एक्सरसाइज हो, यदि उसे पूरी सावधानी व ठीक प्रकार से न किया जाए तो उसके नुकसान हो सकते हैं, लेकिन यदि ठीक तरीके से शोल्डर प्रेस किये जाएं तो इससे कमर को कोई नुकसान नहीं होता है। इसे निम्न तरीके से करना चाहिये और शुरुआत किसी प्रशिक्षक के गाइडेंस में करनी चाहिये।

शोल्डर प्रेस एक्सरसाइज

यह एक्सरसाइज कंधों को चौड़ा और मजबूत बनाती है। इस व्‍यायाम में वजन को कंधे से ऊपर उठाकर वापस कंधों तक लाया जाता है। वजन ऊपर जाते समय सांस को बाहर छोड़ना होता है और वजन नीचे समय सांस भीतर खींचना होता है। बेहतर परिणाम के लिये सांसों की यह तारतम्‍यता बनाए रखनी होती है और अपना ध्‍यान सिर्फ अपने कंधों की मांसपेशियों पर लगाए रखना होता है।


ध्यान रहे कि जरूरत से ज्यादा वेट लगाने पर इस एक्सरसाइज से नुकसान हो सकता है।  यदि आप वेट लिफ्टिंग के आदि भी हैं तो भी अधिक वजन लगाते समय पैर थोड़े से और खोल लें और वेट नीचे आते वक्त हल्का सा घुटना मोड़ें फिर पैरों से ताकत लेते हुए तेजी से वेट को ऊपर ले जाएं। साथ ही हैवी वेट लगाते वक्त बेल्ट लगा लें। इसके अलावा पतली रॉड का इस्तेमाल न करें, मोटी रॉड पर ग्रिप अच्छी बनती है। हैवी वेट लगाने पर रिस्ट बैंड का भी उपयोग करें।


Image Source - Getty Images


Read More Articles On Exercise & Fitness in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES941 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर