सर्दियों में श्राप हैं ये 5 बीमारियां, इन घरेलू उपचार से करें बचाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 20, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सर्दियों में खास देखभाल की जरूरत होती है।
  • निमोनिया बच्‍चों को सबसे ज्‍यादा परेशान करता है।
  • सर्दियों में पूरी तरह से ढक कर रखना चाहिए।

सर्दियों के मौसम में शरीर अन्य मौसम की तुलना में काफी नाजुक हो जाता है। जिसके चलते बीमारियां भी व्यक्ति को जल्दी अपना शिकार बना लेती हैं। मौसम में बदलाव के साथ जो बीमारियां सबसे तेजी से फैलती हैं उनमें जुकाम और खांसी सबसे सामान्‍य हैं। साधारण सी बीमारी लगने वाली ये बीमारी आपको बहुत परेशान कर सकती है। आज हम आपको सर्दियों में तेजी से फैलने वाली बीमारियां और उनके बचाव के बारे में बता रहे हैं। आइए जानते हैं क्या हैं वो बीमारियां—

सामान्य जुकाम 

सर्दियों के मौसम में अक्‍सर लोगों को जुकाम हो जाता है। सुनने में यह भले ही बहुत मामूली रोग लग रहा हो, लेकिन ये सच है कि इसकी गिरफ्त में आने वाला व्यक्ति ही इसके असली दर्द को समझ सकते है। सिर्फ के एक हिस्से में तेज दर्द, नाक का बंद होना, गले में दर्द, हल्का बुखार और शरीर का टूटना जुकाम के सामान्य लक्षण हैं। ऐसे में कोल्ड ड्रिंक या आइसक्रीम खाने से जुकाम और भी ज्यादा बढ़ सकता हैं। काली मिर्च, तुलसी, अदरक और शहद से बना काढ़ा पीएं काफी आराम मिलेगा। साथ ही हफ्तेभर तक अंग्रेजी दवाई लेने से बचें। 

इसे भी पढ़ें : इन 7 बीमारियों का राज खोलते हैं झड़ते और सफेद बाल!

वायरल बुखार

इस मौसम में वायरल बुखार सबसे ज्यादा लोगों को प्रभावित करता है। यह रोग बच्चों व बडों को समान रूप से प्रभावित करता है। वायरल में संक्रमण की स्थिति कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्तों तक रह सकती है। वायरल में कई लोग खाना-पीना छोड देते हैं। लेकिन खाना छोड़ने से बीमारी और बढ़ सकती है। इसलिए जहां तक संभव हो वायरल में खूब खाना खाएं और डिहाइडेशन से बचने के लिए खूब पानी पिएं।

गला खराब होना

सर्दियों की बीमारी में यह रोग भी बहुत सामान्य है। यह समस्‍या तब ज्‍यादा गंभीर हो जाती है, जब आपको खाना खाने, पानी पीने और थूक निगलने में भी तकलीफ होती है। ऐसे में आप डॉक्टर की मदद लेने से पहले कुछ प्राकृतिक उपायों का भी सहारा ले सकते हैं। गले में खराश के दौरान शहद वाली चाय पीने से दर्द में राहत मिलती है। साथ ही काली मिर्च, तुलसी व लौंग से बनी चाय पीने से गले में खराश की समस्या में आराम मिलता है।

इसे भी पढ़ें : नाखून का बदला हुआ ये रंग 50 बीमारियों का है संकेत

अचानक आने वाली खांसी

धूल मिट्टी की चपेट में आने और सर्दी के चलते अचानक आने वाली खांसी लोगों को काफी परेशान करती है। इस समस्‍या से निपटने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि कभी भी होने वाले इस खांसी के हमले के लिए आप खुद को तैयार करें। खांसी और एलर्जी की दवा और इनहेलर मौजूद होने पर आप इस हमले से बेहतर तरीके से लड़ पायेंगे। खांसी का दौरा पड़ने पर खांसी की दवा को धीरे-धीरे चूसें। साथ ही खूब पानी भी पीएं।

निमोनिया

निमोनिया एक ऐसी बीमारी है जो बैक्टीरिया, वायरस और फंगस से फेफड़ों में होने वाले संक्रमण के कारण होती है, यह फेफड़ों में एक तरल पदार्थ जमा करके ब्‍लड और ऑक्सीजन के बहाव में रुकावट पैदा करता है। इससे बचाव के लिए पौष्टिक आहार लें और अपने पर्यावरण की स्वच्छ रखें, रात में ज्यादा ठंड होने पर कमरे को गर्म रखने का उपाय करें और डॉक्टर से संपर्क करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1081 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर