दिमाग को खत्‍म कर सकता है धूम्रपान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 26, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

dimag ko khatam kar sakta hai dhumrapan

सिगरेट के धुएं का छल्‍ला किसी स्‍टाइल को नहीं दर्शाता, बल्कि इससे सेहत को बड़ा नुकसान जरूर पहुंचता है।

 

धूम्रपान कई बीमारियों की जड़ है, इस बात को हम सभी जानते हैं। कैंसर से लेकर दिल की कई बीमारियों की वजह सिगरेट का धुआं होता है। अगर सिगरेट छोड़ने के लिए यही वजह काफी नहीं, तो अब आपके पास एक और कारण है इस चीज को मुंह न लगाने का। ताजा अध्‍ययन में सामने आया है कि धूम्रपान का नकारात्‍मक असर इंसान के सोचने समझने की क्षमता पर भी पड़ता है। इस अध्ययन के मुताबिक धम्रमान से दिमाग के सोचने-समझने की क्षमता पूरी तरह खत्म हो सकती है।




 

किंग्स कॉलेज, लंदन के शोधकर्ताओं ने 50 साल से अधिक उम्र के सैकड़ों लोगों की जीवनशैली का अध्ययन करने के साथ ही उनके दिमाग की जांच की। इसमें पाया गया कि धूम्रपान से रक्तचाप और मोटापा बढ़ने के साथ ही इससे दिमाग पर काफी नकारात्मक असर होता है।


खबरों के मुताबिक शोध में शामिल लोगों ने नए शब्द सीखने और कुछ अन्य बातों का प्रशिक्षण लिया। इसके चार और 10 साल बाद इनके दिमाग की जांच की गई जिसमें पता चला कि सीखने-समझने की क्षमता और धूम्रपान का सीधा ताल्लुक है।


वैज्ञानिकों का कहना है कि लोगों को इसको लेकर जागरूक रहने की जरूरत है कि खराब जीवनशैली से दिमाग और शरीर दोनों को नुकसान पहुंच सकता है।


Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 11705 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर