दिल के लिए खतरनाक है ट्रैफिक जाम का शोर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 27, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

dil ke liye khatrnak hai traffic jam ka shor

ट्रैफिक जाम में फंसना आम हो चला है। न सिर्फ दफ्तर जाते और घर लौटते वक्त  जाम से सामना होता है, बल्कि अब तो कई शहरों में यह आलम हो चुका है कि दिन के किसी भी पहर निकल जाइए जाम आम हो चला है।

 

यह जाम न सिर्फ वक्तय और पैसे की बर्बादी करता है, लेकिन साथ ही इस जाम में गाडि़यों की चिल्लैम पौं आपके नाजुक दिल को काफी नुकसान पहुंचा सकती है। एक रिसर्च में सामने आया है कि ट्रैफिक लाइट में जो शोर होता है उससे दिल का दौरा पड़ने की सम्भावना होती है।

 

विज्ञान शोध पत्रिका 'पब्लिक लाइब्रेरी ऑफ साइंस वन' के मुताबिक डेनिश कैंसर सोसायटी के मेटी सोनेंसेन के नेतृत्व में किए गए इस अध्ययन में ट्रैफिक के शोर और दिल के दौरे के बीच स्पष्ट संबंध का पता चला।

 

इसके मुताबिक ट्रैफिक के प्रति 10 डेसिबल शोर से दिल का दौरा पड़ने का जोखिम 12 फीसदी बढ़ सकता है।

 

पढ़े: दिल के मरीज के लिए योगा जरूरी

 

डेनिश कैंसर सोसायटी द्वारा जारी बयान के मुताबिक ट्रैफिक के शोर और दिल का दौरा के बीच इस सम्बंध के कारण का सही पता नहीं चल पाया है, लेकिन हो सकता है कि शोर के साथ नींद में खलल और अधिक तनाव जुड़े होने की वजह से ऐसा होता हो।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11386 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर