वजन घटाने में मददगार डायटिंग बना सकती है दिमाग को कमजोर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 27, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • डायटिंग करने वाले काम पर पूरा ध्‍यान नहीं दे पाते।
  • हावर्ड यूनिवर्सिटी ने अपने ताजा शोध में किया दावा।
  • दिमाग में चलता रहता है कैलोरी का हिसाब-किताब।
  • सोचने समझने की क्षमता पर पड़ता है विपरीत प्रभाव।

dieting can make you dumberवजन कम करने की राह में सबसे पहला कदम डायटिंग की होता है। इससे  मोटापे से तो भले ही मुक्ति मिल जाए, लेकिन इसका बुरा असर दिमाग पर पड़ता है। व्‍यक्ति की मानसिक क्षमता कमजोर होने लगती है। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन में 'हावर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने यह दावा किया है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि डायटिंग के दौरान लोगों को अपने खानपान की आदतों पर सख्‍ती से काबू करना होता है। ऐसे में उनका सारा ध्‍यान इस बात पर रहता है कि कहीं वे जरूरत से अधिक कैलोरी का सेवन न कर लें। इस जद्दोजेहद में उन्‍हें बाकी चीजों पर ध्‍यान देने का मौका नहीं मिलता। उनकी इसी आदत के चलते मस्तिष्‍क की कार्य करने की क्षमता शिथिल पड़ने लगती है। शोधकर्ता सेंढिल मुल्‍लईनाथन बताते हैं, ' दिमाग के शिथिल पड़ने से रोजमर्रा के कई कामों में दिक्‍कत आती है। साथ ही इनसान की तर्कशक्ति, समस्‍याएं सुलझाने की क्षमता और नयी बातें सीखने की क्षमता भी प्रभावित होती है।

इतना ही नहीं व्‍यक्ति की निर्णय लेने की क्षमता पर भी नकारात्‍मक असर पड़ता है। इसका खामियाजा केवल दिमाग को ही नहीं बल्कि शरीर को भी उठाना पड़ता है। कई बार डायटिंग करने वाले लोग खानपान को लेकर गलत फैसले ले लेते हैं और कैलोरी से परहेज नहीं कर पाते। ठोस निष्‍कर्ष निकालने के लिए शोधकर्ताओं ने कुछ लोगों पर एक परीक्षण किया। इनमें से कुछ प्रतिभागी डायटिंग करने वाले जबकि, कुछ खानपान की सामान्‍य दिनचर्या का पालन करने वाले थे।

दोनों समूह के प्रतिभागियों को एक-एक चॉकलेट खाने को दी गई। सामान्‍य आहार लेने वाले चॉकलेट खाने के बाद अपना काम करने लगे। जबकि डायटिंग खाने वाले चॉकलेट खाने के बाद उसमें मौजूद कैलोरी का हिसाब-किताब करने लगे। उन्‍हें इस बात का मलाल भी हुआ कि उन्‍होंने चॉकलेट का सेवन क्‍यों किया। इस सब के बीच वे जरूरी कामों पर ध्‍यान देना भूल गए। इससे मस्तिष्‍क की कार्य करने की क्षमता प्रभावित हुई। शोधकर्ताओं के मुताबिक, डायटिंग अच्‍छी चीज है लेकिन हर वक्‍त इसके बारे में सोचना आपकी सेहत के लिए अच्‍छा नहीं।

 

Read More Articles on Health News in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 893 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर