मरीज के लिए आहार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 11, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

आहार और आपका मूड

 

विशेषज्ञों के अनुसार आहार और पोषण का आपके मूड पर काफी असर पड़ता है। जैसे कि सालमन  जैसी  मछलियां या मछलियों  के तेल आपके मूड को बहुत हीं प्रभावित करते है और आप बहुत अच्छा महसूस करते हैं क्योंकि उनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड्स होता है।  विशेषज्ञों का कहना है कि संतुलित आहार खाने से आप स्वयं को  फिट, तारो ताजा, स्वस्थ एवं आकर्षक महसूस करते हैं।  संतुलित आहार का सेवन करने से आपका मन अच्छा रहता है, आपका आत्म विश्वास बढ़ता है तथा आप अपने अन्दर ताजगी महसूस करते हैं जबकि अस्वास्थ्यकर आहार का सेवन करने से आप अस्वस्थ महसूस कर सकते हैं; आपके भीतर नकारात्मक विचार आ सकते हैं तथा आपको अवसाद घेर सकता है।

 

क्या तनाव से आपका वजन बढ़ रहा है

 

जब आप तनावग्रस्त रहते हैं तब क्या आप चिप्स या कुकीज़ खाने लगते हैं? बहुत से लोग, अक्सर तनावग्रस्त होने पर, ढेर सारा खाना या मीठा एवं चटपटा खाद्य पदार्थ खाने लगते है। उन्हें ऐसा महसूस होता है कि जब वे अपना पसंदीदा आहार खाते हैं तब उनका तनाव दूर होता है। जब आप तनावग्रस्त होने पर अपने पसंदीदा आहार खाते हैं तब वह आपको शक्ति एवं उर्जा देता है एवं आपका मन संतुष्ट होता है जिससे कि आप तनावपूर्ण स्थितियों में राहत महसूस करते हैं।

 

लेकिन इससे आपका वजन सामान्य से ज्यादा बढ़ सकता है। और वजन ज्यादा बढ़ जाने से आपका मूड नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकता है जिसके कारण आप अपना आत्म विश्वास खोने लग सकते हैं तथा आपके दिमाग में हीं भावना एवं नकारात्मक विचार आने लग सकते हैं जो आगे चलकर अवसाद को जन्म दे सकता है। इस तरह एक चक्र की शुरुआत हो जाती है; आप अपने मोटापे को लेकर तनावग्रस्त होते हैं जिसके कारण आप अपने पसंदीदा खाद्य पदार्थ और ज्यादा खाने लगते है जो पुनः आपके वजन में बढ़ोतरी करता है और फिर यह सिलसिला चलता जाता है।

 

आहार से तनाव पर काबू पाना

 

जब अप तनावग्रस्त होते हैं तो अपना पसंदीदा आहार खाना गलत नहीं है। लेकिन खाने में थोडा संयम एवं नियंत्रण रखना जरूरी है ताकि तनाव से राहत भी मिले और आपका वजन भी न बढे। इसके लिए जरूरी है कि आप संतुलित आहार लें। उचित आहार से तनाव पर काबू पाना एक महत्वपूर्ण  कदम है; इस तरह आपका शरीर रोजाना के तनाव से मुकाबला करने एवं उनसे निपटने को तैयार रहता है।

 

लेकिन आपको खाने में समझदारी दिखलानी होगी जिससे कि आपका तनाव भी दूर रहे और आपका स्वास्थ्य भी बरक़रार रहे।
जो आहार आपको नुकसान पहुंचाए उनसे बचने के कुछ उपाय

  • आप कितनी मात्रा में खा रहे हैं इस बारे में जागरूक रहें --- आप कितनी मात्रा में क्या खाते हैं यह बहुत मायने रखता है; इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है कि आपका आहार कैसा दिखता है।
  • छोटे प्लेटों एवं छोटे कटोरों  का उपयोग करें क्योंकि अगर आपका प्लेट या कटोरा बड़ा होगा तो आप स्वाभिक रूप से जरूरत से ज्यादा खा जायेंगे।
  • एक बार में आपको कितनी मात्रा का सेवन करना चाहिए इसके लिए पोषण के लेबल को  पढने की जरा जहमत उठाएं।  आप सिर्फ अंदाजा लगाकर न रह जायें कि आप जो कुछ खा रहे हैं उसमें कितनी कैलोरी होगी; उसके लिए लेबल  पढना जरूरी  है।
  • जो कुछ आप खाते हैं उसके खाली कंटेनर, हड्डियां, कवर या बर्तन को अपने पास रखें ताकि आपको पता चलता रहे कि अपने कितना खाया है।  
  • जंक आहार को खाने से बचें।  अपने आहार को स्वास्थ्यवर्धक बनाने की कोशिश करें।
  • जब आप बहुत तनाव में हों तो बहुत ज्यादा कोंफी या शराब पीने से बचें। ये दोनों पेय आपके शरीर पर दूसरे हीं ढंग का तनाव डालते हैं जो नुकसानदेह होता है। 

मूड को अच्छा करने वाले आहार

 

आहार का शरीर पर कितना ज्यादा प्रभाव पड़ता है इस बात के प्रति काफी लोग जागरूक हो गए हैं---इसलिए आप क्या खा रहे हैं और उसका आपकी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ेगा इस बात की आप अनदेखी न करें।

 

अपने भोजन में ऐसे आहार शामिल करें जिनमें जटिल कार्बोहाइड्रेट रहते हों जैसे कि साबुत अनाज, मक्का, स्टार्चयुक्त सब्जियाँ,  फलियां, आलू इत्यादि। इस तरह के खाद्य पदार्थ तनाव से राहत दिलाने में बहुत मदद करते हैं क्योंकि ये खाद्य पदार्थ आपके मस्तिष्क में सेरोटोनिन नामक पदार्थ (जो आपके मस्तिष्क में पहले से हीं एक सीमित मात्रा में रहता है) के उत्पादन में बढ़ावा देते हैं जो आपके तनाव को दूर करता है...

Write a Review
Is it Helpful Article?YES7 Votes 13102 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर