नई मां का डायट प्लान हो कैसा, जानें यहां!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 06, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • डिलीवरी के बाद पोषण संबंधी आवश्यकताओं का ध्‍यान।
  • कैल्शियम, आयरन और प्रोटीन की अधिकतम मात्रा लें।
  • कम वसा वाले टोंड दूध, दही और अन्य डेयरी उत्पादों को चुनें।

डि‍लीवरी के बाद महिलाएं एक प्‍यारे से बच्‍चे की मां बन जाती है लेकिन अक्‍सर अपने आकर्षण और गर्भावस्‍था के दौरान बढ़ें अतिरिक्त वजन के साथ खुद को फिट नहीं पाती हैं। बेशक, आपके बच्चे ने आपके जीवन को सुंदर बना दिया है, लेकिन आप अपने आपको अपने गर्भावस्था-पूर्व के कपड़ों में फिट हो कर स्वयं को खूबसूरत महसूस करना चाहती हैं। तो इसे धीमी गति से लें।

 

गर्भावस्था के बाद वजन कम करना और फिट होना एक क्रमिक प्रक्रिया होनी चाहिए कहीं ऐसा न हो कि आपका बच्चा किसी भी तरह से प्रभावित हो। आपको आहार, व्यायाम और धैर्य की जरूरत है। पोषण संबंधी आवश्यकताओं को ध्यान में रखा जाना चाहिए।

 

हाल ही में मां बनने की वजह से आप अपने बच्चे को स्तनपान कराती होंगी, हालांकि इससे आपकी पोषण संबंधी आवश्यकताएं नहीं बदलती लेकिन कुछ बातों को ध्यान में रखा जाना चाहिए।

 

संतुलित आहार जारी रखें

आपकी दैनिक पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के अलावा संतुलित आहार आपके ऊर्जा भंडार को बनाए रखने के लिए जरुरी है जिसकी अब आपको और अधिक आवश्यकता होगी क्योंकि आपको बच्चे का ख्याल रखना है। विभिन्न फलों और सब्जियों के स्रोतों से कैल्शियम, आयरन और प्रोटीन की अधिकतम मात्रा लेनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें- गर्भावस्था के बाद वजन कम करने वाले आहार 

विभिन्न प्रकार के फल और सब्जियां लें

फाइबर में अधिकता वाले खाद्य पदार्थ लेने से आपको पूरा पोषण मिलेगा और एक लंबे समय के लिए आप भरा महसूस करेंगी और भूख कम लगेगी।

 woman eating

क्रमिक ढंग से अतिरिक्त पाउंड घटाएं

तेजी से वजन कम होने से आपके शरीर की प्रणाली को नुकसान पहुंच सकता है और आप अस्वस्थ हो सकती हैं। आपकी तंदुरुस्त स्थिति का सीधा असर आपके बच्चे पर पड़ता है इसलिए फिटनेस को अपने और अपने बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए एक क्रमवार प्रक्रिया बनाएं। डायटिंग या सीमित मात्रा में भोजन लेने से बच्चे के लिए आपके शरीर के दुग्ध उत्पादन प्रभावित हो सकता है और इससे आप कुपोषित हो सकती हैं। कम वसा वाले उत्पादों जैसे टोंड दूध, दही और अन्य डेयरी उत्पादों को चुनें। अपने गर्भावस्था-पूर्व वजन को हासिल करने के लिए अपने आपको छह महीने से एक वर्ष का समय दें।

 इस भी पढ़ें- डिलीवरी के बाद महिलाओं में होते हैं ये बदलाव 

मछली सेवन का चुनाव या सीमित करें

कुछ मछलियों की किस्में विशेष रूप से समुद्री मछलियां जो कि आकार में बड़ी होती हैं जैसे स्वोर्डफ़िश, शार्क, ट्यूना और किंग मैकारेल से बचना चाहिए क्योंकि इनमें पारा (मर्करी) उच्च स्तर में पाया जाता है। ताजे पानी वाली मछलियों जैसे कटाला और रोहू को चुनें जो मध्यम आकार की होती हैं और पारा होने की संभावना कम होती है। मछलियों ओमेगा 3-वसा प्रचुर मात्रा में होती है जो भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए आवश्यक है।

 

शराब के सेवन से बचें

यदि आप स्तनपान कराती हैं, तो आपको शराब के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह आपके स्तन के दूध पहुंच कर आपके बच्चे को परेशान या संभावित नुकसान पहुंचा सकता है। शराब एक दूध पिलाने वाली माता के उत्पादन को भी प्रभावित कर सकता है। शराब के स्तन के दूध पर प्रभावों पर कई परस्पर विरोधी अध्ययन हैं जो आपको उलझन में डाल सकते हैं लेकिन बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए शराब से दूर रहना सुरक्षित होगा।

 

जंक या फास्ट फूड से बचें

गर्भावस्था के बाद भी, आपको अपने पोषण स्तर और स्वास्थ्य का खयाल रखने की जरूरत है इसलिए "वास्तविक" खाने को चुनें। आप सप्ताह में एक बार अपनी इच्छानुसार खा सकती हैं।

 इसे भी पढ़ें- रंग-बिरंगे फल और सब्जियां रखें गर्भावस्‍था में फिट

पानी का खूब सेवन करें

यदि आप स्तनपान कराती हैं तो निर्जलीकरण को दूर रखने के लिए पानी और अन्य स्वस्थ तरल पदार्थों का सेवन करना याद रखें।

 

मसालेदार खाना खाने से बचें

यह आपके स्तनपान करने वाले बच्चे को चिड़चिड़ा और भड़कीला बना सकता है। अधिक स्वादिष्ट और मसालेदार भोजन के उपभोग से आपके दूध की गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है जिससे आपका बच्चे को गैस हो सकती है और वह चिचिड़ा हो सकता है। अपने खाने की तरफ ध्यान दें और देखें कि आपका दूध पीने वाल बच्चा कैसे प्रतिक्रिया करता है क्योंकि हो सकता है कुछ खाद्य पदार्थों का कारण उसे एलर्जी हो जाये या वे समय आपके बच्चे के लिए उपयुक्त नहीं हों।

 

दवाएं

स्‍तनपान कराने वाली माताओं को दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए। फिर भी, यदि आपको जरूरत महसूस हो तो अपने चिकित्सक से पहले परामर्श करें क्योंकि कुछ दवाईयां स्‍तनपान करने वाले बच्चों के स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा कर सकती हैं।




Read More Articles on Pregnancy Diet in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES46 Votes 55405 Views 5 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • mamta26 Jun 2013

    मैं अभी-अभी मां बनी हूं, और मुझे पता नही है कि डिलिवरी के बाद किस तरह का खाना खाना चाहिए। मेरे साथ मेरे घर में कोई बड़ा भी नही है जिससे मैं इस प्रकार की जानकारी ले सकू। परन्‍तु एक दिन मेरी बहन ने आपके लेख को पढ़कर मुझे किस तरह का आहार खाना चाहिए इसकी जानकारी दी। आपकी दी जानकारी से मैं अपने आपको ब‍हुत ही फिट पाती हूं और बच्‍चे की देखभाल भी बहुत अच्‍छी तरह से कर लेती हूं।

  • sneha k22 Sep 2012

    thanks a lot onlymyhealth

  • mousami12 Sep 2012

    thanq achhi baate batayi... iske alawa aur kya khaye...

  • shulochna12 Sep 2012

    kya iske aalawa v kuch kha sakte hai...

  • sujita14 May 2012

    the best knloge thanks

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर